बंगाल चुनाव 2021: बीजेपी में बग़ावत, पार्टी को बदलना पड़ा उम्मीदवार

विधानसभा चुनाव में बंपर जीत की उम्मीद में बैठी भाजपा को अपने ही कार्यकर्ताओं का खूब विरोध झेलना पड़ रहा है। इतना ही नहीं कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद बीजेपी को अपना उम्मीदवार तक बदलना पड़ गया।

bjp, west bengal, bardwanपार्टी के आतंरिक विरोध के कारण पश्चिम बंगाल के वर्दमान में भाजपा को अपना उम्मीदवार बदलना पड़ा। (फोटो – पीटीआई)

पश्चिम बंगाल विधानसभा के प्रथम चरण का मतदान हो चुका है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रथम चरण में हुए मतदान के बाद दावा किया कि भाजपा को पहले चरण में 26 सीटें मिलेंगी। विधानसभा चुनाव में बंपर जीत की उम्मीद में बैठी भाजपा को अपने ही कार्यकर्ताओं का खूब विरोध झेलना पड़ रहा है। इतना ही नहीं कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद बीजेपी को अपना उम्मीदवार तक बदलना पड़ गया। पश्चिम बंगाल के वर्धमान में नामांकन करने पहुंचे भाजपा उम्मीदवार तपन बागड़ी को पार्टी कार्यालय से फ़ोन आने के बाद बैरंग वापस लौटना पड़ा।

भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल के पूर्वी वर्दमान की गलसी (सुरक्षित) सीट से तपन बागड़ी को उम्मीदवार घोषित किया था। बागड़ी का नाम घोषित किए जाने के बाद से ही स्थानीय कार्यकर्ता पार्टी नेतृत्व के इस फैसले के खिलाफ विरोध करने लगे थे। पार्टी कार्यकर्ताओं का आरोप था कि बीजेपी उम्मीदवार तपन बागड़ी के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज है। इसके बावजूद भी पार्टी ने बागड़ी को गलसी सीट का उम्मीदवार बनाया है। 

हालांकि सोमवार को गलसी सीट से घोषित भाजपा उम्मीदवार तपन बागड़ी जिला निर्वाचन कार्यालय में अपना नामांकन कराने भी पहुंचे। लेकिन ऐन वक्त पर बागड़ी को कोलकाता भाजपा कार्यालय से फ़ोन कर नामांकन नहीं करने करने का आदेश दिया गया। पार्टी के इस फैसले पर तपन बागड़ी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं यहां नामांकन करने आया था लेकिन पार्टी ने मुझे टिकट नहीं दिया। मुझे एक बड़े नेता ने फ़ोन कर अपना नामांकन नहीं करने को कहा। इससे आगे मैं कुछ नहीं बोल सकता हूं।

ऐन मौके पर तपन बागड़ी का टिकट काटने पर भाजपा जिलाध्यक्ष अभिजीत ताह ने “द टेलीग्राफ” को बताया कि उनके खिलाफ एक आपराधिक मामला दर्ज था। इसलिए हम उन्हें चुनावी मैदान में नहीं उतार सकते थे। टिकट वापस लेने का फैसला शीर्ष नेतृत्व ने किया है। तपन बागड़ी के टिकट कटने पर कई लोग इसे मामले भाजपा के पुराने और नए कार्यकर्ता विवाद से भी जोड़ कर देख रहे हैं। पार्टी ने बागड़ी की जगह भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के विकास विश्वास को उम्मीदवार बनाया है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में कुल 8 चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। प्रथम चरण का मतदान 27 मार्च को हो चुका है। दूसरे चरण के लिए 1 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 6 अप्रैल, चौथे चरण के लिए 10 अप्रैल, पांचवें चरण के लिए 17 अप्रैल, छठे चरण के लिए 22 अप्रैल, सातवें चरण के लिए 26 अप्रैल को और अंतिम चरण के लिए  29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे।

Next Stories
1 बंगाल चुनाव: नंदीग्राम में व्हीलचेयर से ममता बनर्जी ने किया दौरा तो अमित शाह ने किया रोड शो, चुनाव प्रचार का आज अंतिम दिन
2 11 साल बाद दिल्ली से आया CM ममता का भतीजा और नेतृत्व करने लगा, TMC छोड़ने पर क्या बोले सुवेंदु अधिकारी?
3 एंटीलिया केस: परमबीर से पूछताछ क्यों नहीं? डिबेट में बोले पैनलिस्ट तो BJP लीडर ने दिया जवाब- वाजे को नाम तो लेने दो
यह पढ़ा क्या?
X