ताज़ा खबर
 

मनोज जी से कल्चर पर बुलवाएं या गाने सुनवाएं, लाइव डिबेट में प्रोड्यूसर से पूछने लगे एंकर, लगे ठहाके

मनोज तिवारी ने कहा कि "बंगाल में देखिएगा, अभी दीदी जितना चाहें उतना बोल लें, लेकिन दो मई दीदी गईं।"

west bengal election 2021एक चुनावी सभा से पहले रोडशो करते वरिष्ठ भाजपा नेता मनोज तिवारी। (फोटो-पीटीआई)

वरिष्ठ भाजपा नेता, दिल्ली के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा भोजपुरी अभिनेता और गायक मनोज तिवारी ने कहा है कि वह आत्मनिर्भर राजनेता हैं। और किसी तरह की कमीशन की जरूरत नहीं है। न्यूज-18 इंडिया पर राइजिंग उत्तर प्रदेश कार्यक्रम में एंकर प्रतीक त्रिवेदी के साथ बातचीत के दौरान कहा, “मैं आत्मनिर्भर राजनेता हूं, हमें दूसरे दलों के नेताओं की तरह राजनीति में रहने के लिए कमीशन और परमिशन की आवश्यकता नहीं है।”

जब एंकर ने उनसे कहा कि आप नेताओं की तरह भाषण देने लगे, तो उन्होंने कहा कि “हम भाषण नहीं दे रहे हैं, आई एम कंसंट्रेटिंग ऑन कल्चर।” इस पर एंकर प्रतीक त्रिवेदी ने कहा कि मनोज यही जो हिस्सा था, रह गया था। लाइव प्रोग्राम के दौरान ही उन्होंने अपने प्रोड्युसर से पूछा कि बताइए कि मनोज जी से कल्चर पर बुलवाएं या गाने सुनवाएं। इस पर वहां मौजूद लोगों ने जमकर ठहाके लगाए।

इस पर मनोज तिवारी ने गाना शुरू कर दिया
“काशी सजी है ताने लगी है,
गंगा ने दिया एक बेटा,
योगी जी आए यूपी सजाए,
गंगा निर्मल कलकल बहती है।”
उन्होंने पूरे धुन और राग के साथ आगे गाया
“तो आवा यूपीया आओ रे
सारी सुविधा देती है यूपी सरकार
होली मनाओ, रंगवा उड़ाओ
मोदी रंग, योगी रंग छाया
सड़कें सजी हैं, लाइट जगमग लगी है
निर्मल बहे मेरी गंगा
आओ जरा काशी देखो री
गंगा तट बैठो-बैठो री
कैसे मोदी योगी ने सजाया है ये”

मनोज तिवारी ने एंकर प्रतीक त्रिवेदी से कहा “हमारी शैली है, हम गीत लिख सकते हैं, धुन बना सकते हैं, अभी-अभी हमने धुन बनाई है। और आप जब चैलेंज देंगे हम दिखा देंगे, हम पांच हजार गाना कंपलीट करने वाले हैं।”

उन्होंने कहा कि “गाजीपुर में 19 हजार युवाओं को एमएसएमई के तहत इनरोल किया। हर हाथ को काम, हर काम को दाम मिलेगा।” उन्होंने बताया कि “बंगाल का रास्ता यूपी से जाता है। खास तौर पर लखनऊ से होकर जाता है। एंकर प्रतीक त्रिवेदी से कहा, देखिए कितनी चिकनी और साफ सड़के हैं।”

मनोज तिवारी ने कहा हमारी किसी पार्टी या नेता से कोई व्यक्तिगत मतभेद नहीं है, मैं ऐसी कोई बात नहीं बोलता, जो किसी को चोट पहुंचाए, लेकिन वैचारिक स्तर पर बोलता हूं। कहा कि “बंगाल में देखिएगा, अभी दीदी जितना चाहें उतना बोल लें, लेकिन दो मई दीदी गईं।”

Next Stories
1 PM मोदी के ‘आंदोलनजीवी’ पर अखिलेश यादव को सफाई देने लगे एंकर अमिश देवगन, देखिए फिर क्या हुआ
2 5G तकनीक की तरफ मुकेश अंबानी के जियो का बड़ा कदम, स्पेक्ट्रम नीलामी में टॉप पर, 778.2 अरब रुपये का निवेश
3 पश्चिम बंगाल: बिधाननगर के मेयर और आसनसोल के तीन पार्षद भाजपा में शामिल
आज का राशिफल
X