ताज़ा खबर
 

TMC सांसद ही CM ममता के खिलाफ, कहा- नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का फैसला भावनात्मक, लोगों को सुवेंदु अधिकारी में भरोसा

मीडिया से बात करते हुए दिब्येंदू अधिकारी ने कहा कि अभी तक मैंने अपना अगला कदम तय नहीं किया है। मुझे भाजपा के हाईकमान से आमंत्रण मिला है, लेकिन मुझे अभी निर्णय लेना है।

TMC, BJP, bengal electionकोलकाता में गुरुवार को मीडिया से बात करते टीएमसी सांसद दिब्येंदू अधिकारी। (फोटो- एएनआई)

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस पार्टी के अंदर का माहौल भी बिगड़ रहा है। पार्टी में सब कुछ अच्छा नहीं चल रहा है। पार्टी सांसद दिब्येंदू अधिकारी ने इसका खुलासा करते हुए असंतोष को साफ तौर पर स्वीकारा। उन्होंने बताया, “यह कहना कठिन है कि मैं टीएमसी में हूं। पिछले चार-पांच महीने से मुझे किसी भी कार्यक्रम में नहीं बुलाया गया। तृणमूल कांग्रेस पार्टी के जिला मुखिया कहते हैं कि पार्टी के सभी कार्यक्रमों में मुझे बुलाया जा रहा है, यह झूठी बात है। तकनकी रूप से मैं टीएमसी में हूं, लेकिन मेरे बड़े भाई सुवेंदु अधिकारी भाजपा में शामिल हो चुके हैं।”

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि अभी तक मैंने यह तय नहीं किया है। मुझे भाजपा के हाईकमान से आमंत्रण मिला है, लेकिन मुझे अभी तय करना है। कहा कि सीएम ममता बनर्जी का नंदीग्राम से चुनाव लड़ना पूरी तरह से भावनात्मक निर्णय है। मैं मानता हूं कि जनता सही व्यक्ति का चुनाव करेगी। नंदीग्राम में हर किसी को सुवेंदु पर भरोसा है। चुनाव आयोग को इस शांतिप्रिय इलाके में खेले जा रहे सांप्रदायिक कार्ड की जांच करनी चाहिए। गौरतलब है कि सुवेंदु अधिकारी पहले ही बीजेपी का दामन थाम चुके हैं। उनके दूसरे भाई भी भाजपा में शामिल हो चुके हैं। यह भी चर्चा चल रही है कि जल्द ही तीसरे भाई दिब्येंदू के भी टीएमसी छोड़े जाने की खबर है।

उधर, पूर्व मेदिनीपुर में गुरुवार को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की रैली के दौरान तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थकों के बीच झड़प हो गई, जिसमें एक या दो व्यक्ति घायल हो गए। पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी। हालांकि, प्रधान ने दावा किया कि तृणमूल के पांच से छह कार्यकर्ताओं ने भाजपा जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर हमला किया, जो नंदीग्राम के सोनचुरा इलाके में रैली निकाल रहे थे।

इससे कुछ मिनट पहले ही नंदीग्राम से भाजपा के प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी उस क्षेत्र से निकले थे। आरोपों का खंडन करते हुए स्थानीय तृणमूल कार्यकर्ताओं ने कहा कि भाजपा के सदस्यों ने उन पर हमला किया। प्रधान ने संवाददाताओं से कहा, “मैंने तृणमूल के पांच से छह लोगों को हमारे युवा मोर्चा (बीजेवाईएम) के एक कार्यकर्ता पूर्णा पात्रा पर हमला करते देखा। उसके शरीर से खून बह रहा था और हमलावर घटनास्थल से फरार हो गए थे। मैंने उसे क्षेत्र के रीपारा अस्पताल में भेजने की व्यवस्था की।”

केंद्रीय मंत्री प्रधान, अधिकारी के लिए प्रचार करने नंदीग्राम आए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी खड़े देखते रहे लेकिन उन्होंने बीजेवाईएम कार्यकर्ता की मदद नहीं की। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आरोपों का खंडन किया और कहा कि झड़प को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं।

Next Stories
1 बंगाल में भाजपा को मुश्किल होगी, डिबेट में बोले पत्रकार आशुतोष- जो फॉर्मूला केंद्र में मोदी के लिए वहीं बंगाल में ममता के लिए है
2 विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी, सब आ रहे हैं भारत- सदन में बोलीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
3 सीएम योगी से मिले अक्षय कुमार, अयोध्या जाकर बोले- मेरे लिए बड़ा दिन, भगवान राम का आशीर्वाद मिला
ये पढ़ा क्या?
X