ताज़ा खबर
 

अब पश्चिम बंगाल में शख्स की पीटकर मौत, बीजेपी ने पूछा- कहां गए बुद्धिजीवी

भाजपा महासचिव राजू बनर्जी ने कहा, 'मैं प्रबुद्ध जनों से अपील करता हूं कि वह भीड़ हिंसा की इस घटना की न सिर्फ अन्य राज्यों में चर्चा करें बल्कि पश्चिम बंगाल में इस पर बात करें। आप लोग विरोध करने में भेदभाव नहीं कर सकते हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: July 29, 2019 8:18 AM
लोगों का कहना है कि जिन लोगों पर हमला हुआ वे इलाके में चोरी व अन्य गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त थे। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले गायेशपुर में शनिवार को स्थानीय लोगों ने एक बदमाश को पीट पीटकर मार डाला। इस घटना में एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है। यह जानकारी पुलिस ने रविवार को दी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना शनिवार रात में कल्याणी पुलिस थानाक्षेत्र के दोगच्चा क्षेत्र में हुई।

इस मामले में भाजपा के महासचिव राजू बनर्जी ने प्रबुद्ध लोगों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं प्रबुद्ध जनों से अपील करता हूं कि वह भीड़ हिंसा की इस घटना की न सिर्फ अन्य राज्यों में चर्चा करें बल्कि पश्चिम बंगाल में इस पर बात करें। आप लोग विरोध करने में भेदभाव नहीं कर सकते हैं। अब आप लोग चुप क्यों हैं? अब आप लोगों को अपनी आंखों के सामने हुई यह घटना क्यों नहीं दिखाई दे रही है?’

राजू बनर्जी ने कहा कि हम ऐसी घटना की निंदा करते हैं। प्रशासन को ऐसी घटनाओं को रोकना चाहिए। दूसरी तरफ, मॉब लिंचिंग की इस घटना पर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस ने अभी चुप्पी साध रखी है। इससे पहले पुलिस ने बताया कि तीन बदमाशों ने कुछ स्थानीय युवकों पर हमला करके उनसे कीमती सामान लूटने का प्रयास किया।

सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने तीनों बदमाशों को घेर लिया और उन्हें पीटने लगे। उन्होंने बताया कि उनमें से एक बदमाश मोटरसाइकिल से भागने में सफल रहा जबकि दो अन्य की ग्रामीणों ने बुरी तरह से पिटाई कर दी। उन्होंने बताया कि उनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरा कल्याणी स्थित अस्पताल में भर्ती है।

पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘इस संबंध में तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है।’ पुलिस अधिकारी ने बताया की दोनों की पिटाई के दौरान एक युवक पास के तालाब में कूद गया। मृतक की पहचान जनक सरकार के रूप में हुई है। वह रानाघाट का रहने वाला था।

बंगाल में मॉब लिंचिंग नहींः इस मामले में टीएमसी नेता और राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहद हकीम ने कहा कि बंगाल में कानून और व्यवस्था कोई मुद्दा नहीं है। यहां अन्य राज्यों की तरफ मॉब लिंचिंग नहीं होती है। यहां लोगों को उनके खाने की पसंद को लेकर उनकी हत्या नहीं की जाती है। हकीम ने कहा कि जो लोग यह कह रहे हैं कि प्रशासन यहां प्रभावी नहीं है उन्हें अन्य राज्यों में देखना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दलित विधायक के धरना स्थल का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कराया शुद्धिकरण, भड़का गुस्सा
2 Weather Forecast Today: दिल्ली-एनसीआर में अगले दो दिन में हो सकती है बारिश , जानिए अपने क्षेत्र का हाल
3 ‘हिंदुत्व और पूंजीकरण से भरा है मोदी सरकार का शिक्षा नीति मसौदा’, पैनल ने लगाए गंभीर आरोप