scorecardresearch

Delhi Monsoon: भारी बारिश के चलते उत्तराखंड में रेड अलर्ट, UP में आसमानी बिजली से 11 और बिहार में सात की मौत, पढ़ें देशभर के मौसम का हाल

Delhi Rains, Weather Forecast Today 30 June: यूपी के पूर्वांचल में पिछले चौबीस घंटे में आसमानी बिजली गिरने से 11 लोगों की जान जाने की खबर है। इसके साथ ही एक दर्जन लोग झुलस गए हैं।

Delhi Monsoon: भारी बारिश के चलते उत्तराखंड में रेड अलर्ट, UP में आसमानी बिजली से 11 और बिहार में सात की मौत, पढ़ें देशभर के मौसम का हाल
आज का मौसम अपडेट, Weather Forecast: बिहार के पाटलिपुत्र में बारिश के बाद का दृश्य(फोटो सोर्स: ANI)।

Weather Forecast News Update on 30 June: देश की राजधानी दिल्ली में गुरुवार को तेज बारिश के चलते लोगों को गर्मी से राहत मिली है। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में पारा 40 डिग्री के आसपास बने रहने से लोग भारी गर्मी से बेहाल थे और मानसून का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में गुरुवार का दिन दिल्लीवासियों के लिए सुकून भरा है। तेज बारिश को लेकर मौसम विभाग का अनुमान है कि दिल्ली में आज तापमान में छह से सात डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट देखी जा सकती है।

वहीं दिल्ली-एनसीआर में लगातार बारिश से ट्रैफिक जाम की स्थिति बन गई है। दिल्ली-गुड़गांव रोड पर गाड़ियों की लंबी लाइन लगी देखी गई। बता दें कि मौसम विभाग ने गुरुवार के लिए हरियाणा और दिल्ली दोनों जगह के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा यूपी और उत्तराखंड के लिए मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है।

उत्तर प्रदेश में 44 जिलों में अलर्ट: यूपी में बारिश को लेकर लखनऊ, वाराणसी और कानपुर समेत 44 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में बारिश के चलते तापमान में कमी आई है। बारिश का सिलसिला गुरुवार को भी जारी है। वहीं लखनऊ में गुरुवार की सुबह से ही रिमझिम बारिश जारी है। इस दौरान ठंडी हवा ने तापमान कम रखा है, जिससे लोगों को गर्मी से राहत मिली है।

बता दें कि यूपी के पूर्वांचल में पिछले चौबीस घंटे में आसमानी बिजली गिरने से 11 लोगों की जान जाने की खबर है। इसके साथ ही एक दर्जन लोग झुलस गए हैं। इसमें तीन-तीन लोगों की मौत वाराणसी, आजमगढ़ और मऊ जिले से हुई है तो वहीं मीरजापुर में भी एक की मौत हुई है। सोनभद्र जिले में तो आसमानी बिजली गिरने से 147 भेड़ों की भी मौत हो गई।

वहीं यूपी के जौलान में भारी बारिश के चलते जलभराव की स्थिति बन गई है। जिससे जालौन नगरपालिका की व्यवस्थाओं की पोल खुल गई है। बता दें कि कोंच नगरपालिका चंदकुआ चौराहे पर अपर पुलिस अधीक्षक की गाड़ी भी जलभराव में फंस गई।

वहीं उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में गुरुवार की सुबह भारी बारिश हुई। जिसकी वजह से सड़कें जलमग्न हो गईं। इससे लोगों का चलना दूभर हो गया है। रुद्रप्रयाग के एसपी आयुष अग्रवाल ने जानकारी दी कि जिन जगहों पर भूस्खलन का खतरा है, उनकी पहचान कर सभी जरूरी इंतजाम किये जा चुके हैं और SDRF की टीमें भी तैनात है।

वहीं उत्तराखंड के सीएम ऑफिस की तरफ से जानकारी दी गई है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एक बैठक में फैसला लिया है कि उत्तराखंड आपदा संवेदनशील राज्य है और ऐसे में अगले तीन महीने के लिए अधिकारियों की छुट्टी केवल विशेष परिस्थितियों में ही स्वीकृत की जाएगी। वहीं बद्रीनाथ-केदारनाथ राजमार्ग पर बारिश होने से मलबा और पत्थरों के कारण यातायात बाधित हो गया है। टिहरी में भी भारी बारिश के चलते कई जगहों पर मार्ग बंद गए हैं। इस हालात पर आपदा प्रबंधन की नजर बनी हुई है।

बिहार में सात की मौत: जहां कई राज्यों में बारिश की वजह से गर्मी से लोगों को राहत मिली है वहीं बिहार के चार जिलों में वज्रपात की घटना सामने आई है। जिसमें बुधवार को 7 लोगों की जान चली गई। इस हादसे को लेकर राज्य के सीएम नीतीश कुमार ने मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया है। जानकारी के मुताबिक मरने वालों में भोजपुर में दो तथा औरंगाबाद, मुजफ्फरपुर एवं समस्तीपुर के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं।

बिहार के पाटिलपुत्र में बारिश के बाद जलभराव की स्थिति देखी गई है। इसके अलावा पटना के कुछ हिस्सों में भी तेज बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हुआ है।

मणिपुर: मणिपुर के नोनी जिले में तुपुल रेलवे स्टेशन के पास भूस्खलन के चलते कुछ लोगों के मलबे में भी दबे होने की संभावना है। इससे आसपास के गांवों में बाढ़ की आशंका बनी है। वहीं भारतीय सेना द्वारा चलाए जा रहे बचाव अभियान के तहत 13 लोगों को बचा लिया गया है। घायलों का इलाज नोनी आर्मी मेडिकल यूनिट में किया जा रहा है। इसके अलावा गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को निकालने का कार्य जारी है।

झारखंड में भी बारिश की चेतावनी: बता दें कि 30 जून को झारखंड में कहीं-कहीं बादल गरजने के साथ बारिश भी हो सकती है। कुछ जगहों पर वज्रपात की संभावना है। वहीं, राज्य के उत्तरी भाग और निकटवर्ती मध्य भाग में मौसम विभाग ने भारी बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने भारी बारिश का अनुमान एक और दो जुलाई के लिए भी लगाया है।

पश्चिम बंगाल का हाल: पश्‍चिम बंगाल के जलपाईपुड़ी में मूसलाधार बारिश के चलते बड़ा हिस्सा बुरी तरह से प्रभावित है। सड़के जलमग्न हो चुकी है। जिससे कई इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया है। पश्चिम बंगाल के उप हिमालय जिलों में मौसम विज्ञान विभाग ने बारिश का अनुमान जताया है। गौरतलब है कि राज्य में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश के चलते कोरोला, तीस्ता, डायना, जलढाका और मानसाई नदियां उफान पर हैं।

30 जून का अनुमान: मौसम विभाग के मुताबिक 30 जून को उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, दक्षिण गुजरात, तटीय महाराष्ट्र और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। इसके अलावा बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, लक्षद्वीप, तेलंगाना, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्सों में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। इन राज्यों में आज बारिश की गतिविधियां काफी बढ़ने की उम्मीद है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.