ताज़ा खबर
 

Weather Forecast Today Updates: उत्तर प्रदेश में तेज बारिश से हुए हादसों में कई की मौत, कई स्थानों पर और बारिश की आशंका

Weather forecast Today India News Updates: पिछले सप्ताह से अब तक उत्तर प्रदेश में 111 और बिहार में 28 लोगों की मौत हुई है। मौसम विभाग ने मानसून की देर से वापसी और पटना में और बारिश होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

india weatherWeather Forecast Report LIVE: देशभर में भारी के चलते कई राज्य जलमग्न हैं।

Weather forecast Today India Updates: उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश के कारण हुए हादसों में कम से कम सात और लोगों की मौत हो गई। प्रदेश के राहत आयुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक वर्षाजनित हादसों में सात और लोगों की मौत के साथ पिछले 25 सितंबर से अब तक ऐसी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 111 हो गई है।

पिछले 24 घंटों के दौरान वर्षाजनित हादसों में प्रयागराज में दो लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा फतेहपुर, प्रतापगढ़, फिरोजाबाद, बरेली तथा सिद्धार्थनगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। इस दौरान बहराइच में तीन सेंटीमीटर तथा रामनगर और गाय घाट में दो-दो सेंटीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई। राज्य में अगले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है।

उधर, पटना में पिछने तीन दिन से भारी बारिश के कारण अनेक इलाके पानी में डूबे हुए हैं। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि देश में 1994 के बाद इस मानसून में सबसे अधिक वर्षा दर्ज की गई।

मौसम विभाग ने इसे ‘सामान्य से अधिक’ बताया। मानसून सोमवार को आधिकारिक रूप से तो समाप्त हो गया लेकिन यह देश के कुछ हिस्सों के ऊपर अभी भी सक्रिय है। मौसम विभाग के 36 उपमंडलों में से दो..पश्चिम मध्य प्रदेश और सौराष्ट्र एवं कच्छ..में ‘‘काफी अधिक’’ वर्षा दर्ज की गई। बिहार में बारिश से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। बिहार आपदा प्रबंधन विभाग ने कहा कि राज्य सरकार ने वायुसेना से पानी में डूबे स्थानों में खाने के पैकेट तथा अन्य सामग्रियां गिराने के लिए एक हेलीकॉप्टर भेजने का आग्रह किया है।।

Live Blog

Highlights

    07:04 (IST)02 Oct 2019
    कई जगहों पर बारिश की आशंका

    पिछले 24 घंटों के दौरान वर्षाजनित हादसों में प्रयागराज में दो लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा फतेहपुर, प्रतापगढ़, फिरोजाबाद, बरेली तथा सिद्धार्थनगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। आंचलिक मौसम केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश हुई। इस दौरान बहराइच में तीन सेंटीमीटर तथा रामनगर और गाय घाट में दो-दो सेंटीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई। राज्य में अगले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है।

    06:59 (IST)02 Oct 2019
    यूपी में बारिश से हुए हादसों में कई मरे

    उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश के कारण हुए हादसों में कम से कम सात और लोगों की मौत हो गई। प्रदेश के राहत आयुक्त कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक वर्षाजनित हादसों में सात और लोगों की मौत के साथ पिछले 25 सितंबर से अब तक ऐसी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 111 हो गई है।

    19:37 (IST)01 Oct 2019
    उत्तर प्रदेश के इन इलाकों में हो सकती है बारिश

    स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक लखनऊ, कानपूर, अमेठी, राय बरैली, प्रतापगढ़, प्रयागराज, वाराणसी और चंदौली में अगले 2 या 3 दिनों तक तेज़ बारिश के आसार। 7 अक्टूबर से आधे से ज्यादा उत्तर प्रदेश का मौसम शुष्क होने की संभावना। दिन के तापमान में हो सकती है बढ़ोत्तरी।

    18:19 (IST)01 Oct 2019
    इन राज्यों में बारिश की संभावना

    बारिश से एकतरफ जहां यूपी-बिहार में हालात खराब है वहीं, पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश, असम और मेघालय में अलग-अलग स्थानों पर मंगलवार को भारी  बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग ने इस बात की जानकारी दी। 

    17:31 (IST)01 Oct 2019
    देशभर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश

    देश के अलग-अलग हिस्सों में हो रही बारिश के चलते  लोगों का जीवन मुश्किल में है। कहीं स्कूलों में बारिश का पानी भर गया है तो कहीं  लोगों के घरों में पानी भर गया है। ध्यान देने योग्य यह है कि देश भर में  यह रिकॉर्ड तोड़ बारिश है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि देश में 1994 के बाद इस मानसून में सबसे अधिक वर्षा दर्ज की गई।

    16:27 (IST)01 Oct 2019
    इस साल कई जगहों पर हुई सामान्य से अधिक वर्षा

    मानसून इस वर्ष सामान्य से एक सप्ताह की देरी से आया था। मानसून ने आठ जून को केरल के ऊपर से शुरूआत की थी लेकिन जून में इसकी गति सुस्त हो गई थी और जून में 33 प्रतिशत कम वर्षा हुई थी।यद्यपि मानसून ने जुलाई में गति पकड़ी और सामान्य से 33 प्रतिशत अधिक वर्षा हुई। अगस्त में भी सामान्य से 15 प्रतिशत अधिक वर्षा हुई।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले दो वर्षों के दौरान अधिक वर्षा दर्ज की गई थी। दिल्ली में 2018 में 770.6 मिलीमीटर और 2017 में 672.3 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। इस वर्ष जून में दिल्ली में मात्र 11.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई जबकि सामान्य 65.5 मिलीमीटर है। इस तरह से जून में 83 प्रतिशत कम वर्षा दर्ज की गई। जुलाई महीने में यहां 24 प्रतिशत कम वर्षा हुई क्योंकि मात्र 210.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई।

    15:11 (IST)01 Oct 2019
    अबतक कुल 148 मौतें

    पिछले कई दिन से हो रही बारिश के कारण बिहार और उत्तर प्रदेश के अनेक हिस्से सोमवार को बाढ़ की चपेट में रहे वहीं देश भर में वर्षा जनित हादसों में मरने वाले लोगों की संख्या 148 पर पहुंच गई हैं।पिछले सप्ताह से अब तक उत्तर प्रदेश में 111 और बिहार में 28 लोगों की मौत हुई है।

    13:49 (IST)01 Oct 2019
    कई राज्यों में बारिश के चलते हालात खराब

    उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश से कई स्थानों पर जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है। बलिया के समूचे जिला कारागार परिसर में कमर तक पानी भर जाने के कारण कम से कम 900 कैदियों को दूसरे जिलों की जेलों में भेजना पड़ा। झारखंड के दुमका जिले में बारिश के कारण दीवार गिरने से एक ही परिवार के तीन सदस्यों की मौत हो गई। इन राज्यों के अलावा उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान में 13 लोगों के मारे जाने की सूचना है। गुजरात में राजकोट जिले में एक कार के पानी में बह जाने से कार सवार तीन महिलाओं की मौत हो गई। सौराष्ट्र के अनेक हिस्सों में बारिश हो रही है। बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का आवास भी बारिश से प्रभावित हुआ है। वह शहर में अधिकारियों को निर्देश देते नजर आए।

    12:09 (IST)01 Oct 2019
    दिल्ली के मौसम का हाल जानिए

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पिछले दो वर्षों के दौरान अधिक वर्षा दर्ज की गई थी। दिल्ली में 2018 में 770.6 मिलीमीटर और 2017 में 672.3 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। इस वर्ष जून में दिल्ली में मात्र 11.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई जबकि सामान्य 65.5 मिलीमीटर है। इस तरह से जून में 83 प्रतिशत कम वर्षा दर्ज की गई। जुलाई महीने में यहां 24 प्रतिशत कम वर्षा हुई क्योंकि मात्र 210.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई।

    11:25 (IST)01 Oct 2019
    भारत में 25 वर्षों में सबसे अधिक मानूसन वर्षा दर्ज हुई: मौसम विभाग

    भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि देश में 1994 के बाद इस मानसून में सबसे अधिक वर्षा दर्ज की गई। मौसम विभाग ने इसे ‘सामान्य से अधिक’ बताया। आईएमडी ने कहा कि मानसून देश के कुछ हिस्सों के ऊपर अभी भी सक्रिय है। विभाग ने कहा कि मानसून की वापसी 10 अक्टूबर के आसपास उत्तरपश्चिम भारत से शुरू होने की उम्मीद है। यह मानसून की अब तक की दर्ज सबसे विलंबित वापसी है। मानसून सामान्य तौर पर एक सितम्बर से पश्चिमी राजस्थान से वापस होना शुरू होता है।

    09:30 (IST)01 Oct 2019
    वीडियो के जरिए जानिए देशभर के मौसम का हाल

    08:59 (IST)01 Oct 2019
    नेताओं को भी छोड़ना पड़ा अपना घर

    लोकजनशक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान पटना में अपने घर के बदले एक होटल में रूके हुए हए हैं। सोमवार दोपहर में तीन और लोगों के बारिश की वजह से मरने की खबर आई है। इनमें से एक व्यक्ति की मौत नवादा और दो लोगों की मौत जहानाबाद जिले में हुई।

    Next Stories
    1 PMC बैंक घोटाला: यूजर ने लिखा- लोग जहर पीने को मजबूर हैं; वित्त मंत्री ने दिया जवाब- इतना कठोर मत लिखिए
    2 National Hindi News, 01 October 2019: सत्य के राह पर चले BJP फिर करे महात्मा गांधी की बात, प्रियंका गांधी का तंज
    3 गुजरात दंगे: सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को फटकारा, कहा- दो हफ्ते में बिलकिस बानो को दीजिए 50 लाख रुपए, नौकरी, मकान
    ये पढ़ा क्या?
    X