ताज़ा खबर
 

Weather Forecast Report: दिल्ली में हल्की बारिश से मौसम सुहाना, जानिए गोवा, राजस्थान समेत इन राज्यों का भी हाल

Weather Forecast Report 18 June 2019, Monsoon and Temperature News Updates: छत्तीसगढ़ में मॉनसून देर से दस्तक देगा। हालांकि, तेज गर्मी से आगामी दिनों में लोगों को कुछ राहत मिल सकती है, क्योंकि अगले दो दिनों में कई जगह हल्की बारिश के आसार हैं।

Author नई दिल्ली | Jun 18, 2019 21:48 pm
Weather Forecast Report: राजस्थान के जयपुर में मंगलवार को बारिश ने गर्मी से थोड़ी राहत दिलाई और मौसम सुहाना कर दिया। उसी दौरान बारिश में भीगते हुए बाइक पर जाते कुछ लोग। (फोटोः पीटीआई)

Weather forecast  Report Today, Monsoon News Updates: नई दिल्ली में मंगलवार (18 जून, 2019) सुबह रुक-रुक कर बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं। देश की राजधानी में इससे न्यूनतम तापमान 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, सुबह साढ़े आठ बजे तक 24 घंटे से अधिक समय में सफदरजंग वेधशाला में 10.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री सेल्सियस नीचे 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। पालम में 3.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई और न्यूनतम तापमान 21.2 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं, आर्द्रता 68 प्रतिशत दर्ज किया गया।

मौसम को लेकर पूर्वानुमान व्यक्त करने वाली निजी संस्था ‘स्काईमेट वेदर’ ने कहा था कि जम्मू और कश्मीर के पूर्वी भागों पर एक पश्चिमी विक्षोभ स्थित है और एक चक्रवाती परिसंचरण हरियाणा और इसके आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ है। अरब सागर से आने वाली आर्द्र हवाएं दिल्ली-एनसीआर सहित भारत के उत्तरी मैदानों में नमी को बढ़ा रही हैं। दिल्ली में जून के पहले 17 दिनों में सामान्य 20.5 मिलीमीटर बारिश के मुकाबले सोमवार तक 0.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

कैसा है बाकी जगहों का हाल?: मौसम विभाग की मानें तो छत्तीसगढ़ में मॉनसून देर से दस्तक देगा। हालांकि, तेज गर्मी से आगामी दिनों में लोगों को कुछ राहत मिल सकती है, क्योंकि अगले दो दिनों में कई जगह हल्की बारिश के आसार हैं। रायपुर में मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा कि राज्य में अगले सप्ताह मानसून की बारिश हो सकती है। मॉनसूनी हवाएं छत्तीसगढ़ की तरफ बढ़ रही हैं। इस महीने की 25 तारीख तक राज्य में मानसून की पहली बारिश हो सकती है। वहीं, राजस्थान के अनेक हिस्सों में मानसून से पहले की बारिश हो रही है। मौसम विभाग का इस बाबत कहना है कि चक्रवात ”वायु” के कारण बने मौसमी प्रभाव से यह बारिश हो रही है। राज्य में जुलाई के पहले सप्ताह में मानसून के आने की उम्मीद है। बीते 24 घंटे में राज्य में वनस्थली में 17.2 मिमी बारिश दर्ज की गयी। उधर, महाराष्ट्र में रविवार तक हल्की बारिश की संभावना जताई गई। मौसम विभाग ने एक बयान जारी कर कोंकण और गोवा में बुधवार को व्यापक वर्षा की भविष्यवाणी की, जबकि मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में स्थानीय जलवायु परिस्थितियों के कारण कहीं-कहीं बारिश होगी।

Live Blog

Highlights

    16:38 (IST)18 Jun 2019
    'मछुआरे बुधवार तक समुद्री तटों के पास न जाएं'

    गुजरात में अहमदाबाद मौसम विभाग केंद् की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने बताया कि बंदरगाहों को दी गई चेतावनी का स्तर कम कर दिया गया है लेकिन मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे बुधवार सुबह तक समुद्र में न जाएं। कम दबाव का क्षेत्र और कमजोर हो रहा है। मौसम विभाग ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कम दबाव प्रणाली से पूर्वोत्तर अरब सागर और आसपास के सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्रों में 30-40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक मंगलवार शाम तक तेज हवाएं चलेंगी।

    15:00 (IST)18 Jun 2019
    चक्रवात ‘वायु’ कमजोर पड़ा, कच्छ तट से गुजरा

    चक्रवात ‘वायु’ मंगलवार सुबह कमजोर पड़ गया और यह गुजरात के कच्छ जिले को पार कर गया। इस कारण राज्य के कुछ इलाकों में बारिश हुई। मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इसके असर के चलते कच्छ, सौराष्ट्र और उत्तरी गुजरात क्षेत्र में बुधवार तक बारिश जारी रह सकती है। विभाग के अहमदाबाद केंद्र की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने बताया कि सुबह के समय जब चक्रवात वायु कच्छ से गुजरा तो वह कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो गया। इस वजह से इलाके में बारिश हो सकती है।

    12:33 (IST)18 Jun 2019
    हल्की बारिश से दिल्ली में सुबह का मौसम हुआ सुहावना

    दिल्ली सुबह रुक-रुक कर बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं जिसके कारण न्यूनतम तापमान 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे तक 24 घंटे से अधिक समय में सफदरजंग वेधशाला में 10.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी और न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री सेल्सियस नीचे 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पालम में 3.8 मिलीमीटर बारिश दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान 21.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आर्द्रता 68 प्रतिशत दर्ज किया गया। दिन के दौरान आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे। हल्की बारिश, गरज के साथ छींटे और 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के कारण तापमान नियंत्रित रहेगा।

    11:49 (IST)18 Jun 2019
    तीन-चार दिनों तक धूल भरी हवाएं चलने के साथ बादल छाए रहने के आसार

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले तीन-चार दिनों तक धूल भरी हवाएं चलने के साथ बादल छाए रहने के आसार हैं। मंगलवार (18 जून, 2019) को मौसम ने यह जानकारी दी। बता दें कि पिछले करीब 20 घंटों से दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में मौसम में बदलाव की वजह से खूब राहत मिली। मौसम में बदलाव के चलते सोमवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य तापमान से छह डिग्री कम है। इसके अलावा मिनिमम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने बताया कि धूल भरी हवाओं और बादल छाए रहने से पारा नीचे आया और आर्द्रता का स्तर 45% से 65% के बीच बना रहा। इसके अलावा कई क्षेत्रों में बारिश भी हुई।

    11:06 (IST)18 Jun 2019
    जम्मू-कश्मीर में दो लोगों की मौत

    जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा और गांदरबल जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 18 वर्षीय एक लड़की समेत दो लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बादल छाए रहने और तेज हवाएं चलने से पारा नीचे आ गया। दिल्ली में अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

    10:36 (IST)18 Jun 2019
    पिछले 20 घंटों से दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में मौसम में बदलाव

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले तीन-चार दिनों तक धूल भरी हवाएं चलने के साथ बादल छाए रहने के आसार हैं। मंगलवार (18 जून, 2019) को मौसम ने यह जानकारी दी। बता दें कि पिछले करीब 20 घंटों से दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में मौसम में बदलाव की वजह से खूब राहत मिली। मौसम में बदलाव के चलते सोमवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य तापमान से छह डिग्री कम है। इसके अलावा मिनिमम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने बताया कि धूल भरी हवाओं और बादल छाए रहने से पारा नीचे आया और आर्द्रता का स्तर 45% से 65% के बीच बना रहा। इसके अलावा करई क्षेत्रों में बारिश भी हुई।

    09:44 (IST)18 Jun 2019
    अगले 3-4 दिनों तक दिल्लीवासियों को गर्मी राहत, बादल छाए रहेंगे

    दिल्ली-एनसीआर और आसपास के इलाकों में सोमवार देर रात शुरू हुई बारिश से मौसम खुशगवार हो उठा। मंगलवार (18 जून, 2019) को भी दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में हल्की बारिश जारी है। इससे पहले, उत्तरी और पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों में सोमवार को हल्की बारिश से कुछ राहत मिली और पारा कई हफ्तों के बाद 40 डिग्री से नीचे आया हालांकि बिहार सहित कई राज्यों में लू का प्रकोप जारी रहा। बिहार में लू लगने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 76 हो गई। जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा और गांदरबल जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 18 वर्षीय एक लड़की समेत दो लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बादल छाए रहने और तेज हवाएं चलने से पारा नीचे आ गया। दिल्ली में अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

    09:34 (IST)18 Jun 2019
    औरंगाबाद में 33, गया में 31 और नवादा में 12 लोगों की मौत

    आपदा प्रबंधन विभाग ने कहा कि लू के कारण औरंगाबाद में 33, गया में 31 और नवादा में 12 लोगों की जान चली गई। बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के एक अधिकारी ने कहा कि प्रशासन ने 22 जून तक सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में कक्षाएं स्थगित करने का आदेश दिया है। पटना, गया और भागलपुर सहित राज्य के प्रमुख शहरों में पिछले कुछ दिनों से भयंकर लू चल रही है। मौसम विभाग ने मंगलवार को हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है।

    09:11 (IST)18 Jun 2019
    खजुराहो में तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस

    इस बीच, मध्य प्रदेश में स्थित विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी खजुराहो में सोमवार को प्रदेश का उच्चतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके बाद प्रदेश के रीवा शहर में उच्चतम तापमान 42.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि भोपाल और इंदौर में अधिकतम तापमान 36.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भोपाल में मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक एस के डे ने कहा कि अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के कुछ हिस्सों में छिटपुट हल्की बारिश की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में होशंगाबाद को छोड़कर प्रदेश के सभी संभागों में बारिश दर्ज की गई।

    08:57 (IST)18 Jun 2019
    राजस्थान के कई हिस्सों में बारिश जयपुर

    राजस्थान के अनेक हिस्सों में बारिश का क्रम सोमवार को भी जारी रहा। राजधानी जयपुर में भी हल्की बूंदाबांदी हुई। मौसम विभाग के अनुसार बीते 24 घंटे में राज्य में दो से पांच सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गयी। इस दौरान सीकर के लक्ष्मणगढ़ व उदयपुर के गोगुंदा में पांच-पांच सेंटीमीटर, सीकर के रामगढ शेखतान, दौसा के सिकराई व झुंझुनू के नवलगढ़ में चार-चार सेंटीमीटर बारिश हुई। कई और जगह भी दो तीन सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गयी। राजधानी जयपुर में सोमवार को 1.8 मिमी बारिश हुई। तापमान के हिसाब से दिन के दौरान कोटा सबसे अधिक गर्म रहा जहां पारा 40.9 डिग्री सेल्सियस राह। वहीं बीकानेर में अधिकतम तापमान 40 डिग्री, जैसलमेर में 39.9 डिग्री, श्रीगंगानगर में 39.5 डिग्री, जोधपुर में 38.6 डिग्री, अजमेर व बाड़मेर में यह 38.3 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग के अनुसार, अगले चौबीस घंटे में राज्य के कई हिस्सों में धूल भरी आंधी आ सकती है या बूंदाबांदी हो सकती है।

    08:19 (IST)18 Jun 2019
    दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद खुशगवार हुआ मौसम

    दिल्ली-एनसीआर और आसपास के इलाकों में सोमवार देर रात शुरू हुई बारिश से मौसम खुशगवार हो उठा। मंगलवार (18 जून, 2019) को भी दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में हल्की बारिश जारी है। इससे पहले, उत्तरी और पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों में सोमवार को हल्की बारिश से कुछ राहत मिली और पारा कई हफ्तों के बाद 40 डिग्री से नीचे आया हालांकि बिहार सहित कई राज्यों में लू का प्रकोप जारी रहा। बिहार में लू लगने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 76 हो गई।

    08:10 (IST)18 Jun 2019

    deleting_message

    08:10 (IST)18 Jun 2019

    deleting_message

    08:03 (IST)18 Jun 2019
    मध्य प्रदेश में मानसून लगभग एक सप्ताह बाद आने की उम्मीद: मौसम विभाग भोपाल

    मध्य प्रदेश में मानसून लगभग एक सप्ताह बाद 23-24 जून को आने की उम्मीद है। इस बीच, प्रदेश के कुछ हिस्सों में मानसून से पहले की बारिश होने से लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिली है। भोपाल में मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक एस के डे ने बताया कि मध्य प्रदेश की सीमाओं पर 23-24 जून तक मानसून आने की संभावना है। राज्य के कुछ हिस्सों में मानसूनी बारिश ने लोगों को राहत दी है। उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर मध्य प्रदेश में 10 जून के आसपास मानसून आता है, लेकिन इस बार यह देरी अप्रत्याशित नहीं है तथा एक या दो सप्ताह का यह विचलन सामान्य है। डे ने कहा कि मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे आ गया है और मानसून से पहले की बारिश के कारण अगले सप्ताह तक तापमान में और गिरावट आएगी।