ताज़ा खबर
 

Cyclone Nisarga Tracker, Weather Today Highlights: गुजरात में कम रहा तूफान निसर्ग का प्रभाव, महाराष्ट्र और एमपी में हो सकती है बारिश

मौसम विभाग ने निसर्ग तूफान की वजह से तेज हवा और भारी बारीश की चेतावनी जारी की थी। हालांकि अब समंदर पहले से शांत हो गया है ओर बारिश भी रुक-रुक कर हो रही है।

तेज बारिश और हवा के चलते कई पेड़ तथा बिजली के खंभे धराशायी हो गए। (फोटो-PTI)

महाराष्ट्र के अलीबाग में दस्तक देने के बाद बुधवार दोपहर बाद और शाम को गुजरात के दक्षिणी तटीय इलाकों में चक्रवात निसर्ग की वजह से कोई बड़ा नुकसान होने की खबर नहीं है। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। गुजरात सरकार ने एहतियाती कदम के तौर पर आठ जिलों में तट के पास रहने वाले 63,700 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया था और राहत कार्य के लिये राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 18 टीमों और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की छह टीमों को विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया था।

गंभीर चक्रवाती तूफान निसर्ग तटीय महाराष्ट्र के ऊपर एक चक्रवाती तूफान के रुप में कमजोर हो गया है। अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में अलग-थलग स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा, से भारी वर्षा की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने इस बात की जानकारी दी।

प्रदेश के राहत आयुक्त हर्षद पटेल ने कहा कि गनीमत रही कि चक्रवात बिना जानमाल के किसी बड़े नुकसान के गुजर गया।  इस दौरान गुजरात के कई इलाकों में रुकरुकर बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने पहले ही कहा था कि गंभीर चक्रवाती तूफान निसर्ग बुधवार देर शाम तक कमजोर हो जाएगा।

चक्रवाती तूफान निसर्ग के चलते  मुंबई में तेज बारिश और आंधी के चलते नरीमन प्वाइंट और कालाचौकी इलाके में पेड़ जड़ से उखड़ गए हैं और कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 129 साल बाद मुम्बई में चक्रवात आया है।

Cyclone Nisarga के दौरान क्या करें और क्या नहीं? CMO ने दिए टिप्स

मौसम विभाग के मुताबिक अम्फान की तरह यह भी यह गंभीर रूप धारण कर सकता है। मंगलवार शाम से महाराष्ट्र बारिश हो रही है। इस तूफान से पालघर और रायगढ़ स्थित केमिकल और परमाणु संयत्र पर भी खतरा उत्पन्न हो गया है। उनकी सुरक्षा के लिए सावधानियां बरती जा रही हैं।

Weather Forecast Today, Cyclone Nisarga LIVE Updates: यहाँ पढ़ें इस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

Live Blog

Highlights

    22:09 (IST)03 Jun 2020
    अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में बारिश के आसार

    गंभीर चक्रवाती तूफान निसर्ग तटीय महाराष्ट्र के ऊपर एक चक्रवाती तूफान के रुप में कमजोर हो गया है। अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में अलग-थलग स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा, से भारी वर्षा की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने इस बात की जानकारी दी।

    21:36 (IST)03 Jun 2020
    6 उड़ानों को डायवर्ट और 1 को रद्द किया गया

    महाराष्ट्र, पुणे एयरपोर्ट में आज मौसम की स्थिति के कारण 6 उड़ानों को डायवर्ट और 1 को रद्द कर दिया गया। एयरपोर्ट निदेशक ने इस बात की जानकारी दी।

    20:46 (IST)03 Jun 2020
    72 साल में पहली बार चक्रवात का सामना कर रही मुंबई

    चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ बुधवार दोपहर महाराष्ट्र तट पर 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ पहुंचा। ऐसे में मुंबई और इसके पड़ोसी इलाके इसका सामना करने के लिये तैयार हैं। मुंबई 72 साल में पहली बार चक्रवात का सामना कर रहा है।

    19:26 (IST)03 Jun 2020
    छह जून तक गोवा पहुंचेगा मानसून

    आईएमडी के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक राहुल मोहन ने मंगलवार को बताया था कि दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल पहुंच गया है और छह जून तक गोवा पहुंचेगा।

    19:02 (IST)03 Jun 2020
    गुजरात में रुक -रुककर बारिश

    तूफान निसर्ग कमजोर पड़ रहा है। मौसम विभाग ने निसर्ग तूफान की वजह से तेज हवा और भारी बारीश की चेतावनी जारी की थी। हालांकि अब समंदर पहले से शांत हो गया है ओर बारिश भी रुक-रुक कर हो रही है।

    18:05 (IST)03 Jun 2020
    इन इलाकों पर सबसे ज्यादा असर

    तूफान निसर्ग का सबसे ज्यादा असर रायगढ़, सिंधुदुर्ग और रत्नागिरी जिले में देखने को मिल रहा है। तेज हवाओं ने कई जगहों पर तबाही मचाई है, जगह जगह पेड़ उखड़े हैं और बिजली सप्लाई पर भी इसका असर पड़ा है। 

    17:18 (IST)03 Jun 2020
    बदले गए ट्रेनों के रूट

    तूफान निसर्ग के आज दोपहर महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग पहुंचने से पहले मध्य रेलवे ने मुंबई से कुछ ट्रेनों के मार्गों को बदला है और कुछ के समय में परिवर्तन किया है। मध्य रेलवे (सीआर) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि मुम्बई से चलने वाली पांच विशेष ट्रनों का समय बदला गया है और तीन विशेष ट्रेनों का मार्ग को बदला जाएगा।

    16:58 (IST)03 Jun 2020
    मछुआरों को समुद्र से दूर रहने की हिदायत

    भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने समुद्र में तेज लहरों के कारण मछुआरों को समुद्र से दूर रहने को कहा है। गोवा सरकार द्वारा नियुक्त एक जीवन रक्षा एजेंसी ‘दृष्टि’ ने लोगों से समुद्र में नहीं जाने की अपील की है और 105 किलोमीटर लंबी राज्य तटीय रेखा के पास अधिकांश स्थानों पर लाल झंडे लगाए हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार शाम को कहा था कि अगले 24 घंटे में कर्नाटक-गोवा तटों पर और पूर्वी मध्य अरब सागर के पास 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की आशंका है। इसके चलते राज्य के कई निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई।

    16:13 (IST)03 Jun 2020
    गुजरात और महाराष्ट्र में 33 टीमें तैनात

    आईएमडी के मुताबिक अगले 6 घंटे के दौरान चक्रवाती तूफान गंभीर रूप ले सकता है। एनडीआरएफ ने दोनों राज्यों के तटीय जिलों में 33 टीमें तैनात की हैं। वहीं नौसेना के मुंबई स्थित पश्चिम कमान ने भी अपनी सभी टीमों को अलर्ट कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र, गुजरात के मुख्यमंत्रियों से बातकर मदद का भरोसा दिया।

    15:23 (IST)03 Jun 2020
    हवा 110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल रही है

    भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है 'हवा की गति 85-95 किमी प्रति घंटे से बढ़कर 90-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़कर 110 किमी प्रति घंटा हो गई है। ' लैंडफॉल के बाद गंभीर चक्रवाती तूफान के लगभग 6 घंटे तक अपने  तीव्रता बनाए रखने की संभावना है। 

    14:56 (IST)03 Jun 2020
    नरीमन प्वाइंट इलाके में पेड़ जड़ से उखड़े

    मुंबई में हो रही तेज़ बारिश और आंधी के बीच नरीमन प्वाइंट इलाके में पेड़ जड़ से उखड़ गए। कालाचौकी इलाके में पेड़ गिरने से वाहन क्षतिग्रस्त हुए। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 129 साल बाद मुम्बई में चक्रवात आ रहा है।

     
    14:40 (IST)03 Jun 2020
    लैंडफॉल प्रक्रिया शुरू हो गई है और ये अगले 3 घंटों में पूरी होगी

    चक्रवात निसर्ग का केंद्र महाराष्ट्र तट के बहुत नजदीक है। लैंडफॉल प्रक्रिया शुरू हो गई है और ये अगले 3 घंटों में पूरी होगी। इसको ध्यान में रखते हुए मुंबई पुलिस ने बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है।

    14:12 (IST)03 Jun 2020
    रायपुर में तेज बारिश

    रायपुर के कुछ हिस्सों में बारिश हुई। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आज जिले में बादल छाए रहने के साथ-साथ बारिश या धूलभरी आंधी चलने का अनुमान लगाया था।

    13:44 (IST)03 Jun 2020
    गुजरात में चक्रवात ‘निसर्ग‘ के पहुंचने से पहले तटीय इलाकों से हजारों लोगों को गया निकाला

    चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के राज्य में पहुंचने से पहले गुजरात के वलसाड और नवसारी जिलों के तटीय इलाकों में रहने वाले करीब 43,000 लोगों को वहां से हटा कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। राज्य सरकार ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के 13 दल और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के छह दलों को विभिन्न स्थानों पर तैनात किया गया है। सरकार ने कहा कि एनडीआरएफ के पांच और बलों को बुलाया गया है। वलसाड के कलेक्टर आर. आर. रवाल ने कहा, ‘‘ हमने अभी तक तटीय इलाकों पर रहने वाले करीब 32,000 लोगों को अस्थायी आश्रय गृहों में भेजा है। अभी बादल छाए हैं लेकिन हवा चलनी अभी शुरू नहीं हुई है।’’ एक अन्य अधिकारी ने बताया कि नवसारी जिले के विभिन्न गांवों से करीब 11,000 लोगों को निकाला गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने चक्रवात के गुजरात के तट पर ना पहुंचने का भी संकेत दिया है और कहा है कि राज्य के तटीय इलाकों में तेज हवाएं चलने और भारी बारिश के साथ इसका असर जरूर दिखेगा।

    13:26 (IST)03 Jun 2020
    बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही की अनुमति नहीं

    चक्रवात निसर्ग को देखते हुए बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर वाहनों की आवाजाही की अनुमति नहीं है। मुंबई पुलिस के डीसीपी का कहना है कि चक्रवात मुंबई की तटीय क्षेत्रों पर प्रभावित करेगा है, हालांकि इसका मुख्य प्रभाव रायगढ़ में बताया जा रहा है लेकिन मुंबई शहर भी इससे प्रभावित रहेगी।इसके अंतर्गत मुंबई पुलिस ने पूरी तैयारी कर रखी है पुलिस स्टेशन में सभी स्टाफ लोगों की सहायता करने के लिए तैनात हैं।

    13:01 (IST)03 Jun 2020
    चक्रवात के मद्देनजर तटीय इलाकों के निवासी घरों में ही रहें : अजित पवार

    महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि चक्रवात का प्रभाव कम होने तक लोग घरों से ना निकलें। पवार के हवाले से जारी बयान में कहा गया कि चक्रवात ‘निसर्ग’ के महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के अलीबाग पहुचंने के मद्देनजर मुम्बई, ठाणे, पालघर, रायगढ़ और सिंधुदुर्ग जिले के लोग सुरक्षित स्थानों पर ही रहें। पवार राज्य के वित्त मंत्री भी हैं। उन्होंने कहा कि चक्रवात से किसी की जान ना जाए यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है। उन्होंने जीवन रक्षक बल, दमकल विभाग और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) को तटीय इलाकों के विभिन्न हिस्सों में तैनात किया गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा था कि चक्रवाती तूफान के मद्देनजर एनडीआरएफ के 15 और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल के चार दलों को तटीय जिलों के विभिन्न हिस्सों में तैनात किया गया है। आईएमडी के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चक्रवात ‘निसर्ग’ मुम्बई से करीब 190 किलोमीटर दूर अरब सागर पर मंडरा रहा है और उसके बुधवार दोपहर एक बजे से शाम चार बजे के बीच तटीय शहर अलीबाग पहुंचने की आशंका है।

    12:34 (IST)03 Jun 2020
    इन ट्रेनों के मार्गों को बदला

    पहले मध्य रेलवे ने मुंबई से कुछ ट्रेनों के मार्गों को बदला है। बदलाव के बाद एलटीटी- गोरखपुर विषेष अब सुबह 11 बजकर 10 मिनट की बजाय रात आठ बजे रवाना होगी। एलटीटी- तिरुवनंतपुरम विशेष सुबह 11 बजकर 40 की बजाय शाम छह बजे और एलटीटी-दरभंगा विशेष दोपरह सवा 12 की बजाय रात साढ़े आठ बजे रवाना होगी। इसके अलावा एलटीटी-वाराणसी विशेष दोपहर 12 बजकर 40 मिनट की बजाय रात नौ बजे और सीएसएमटी-भुवनेश्वर विशेष दोपहर तीन बजकर पांच मिनट की बजाय रात आठ बजे छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से रवाना होगी। सीआर ने कहा कि बुधवार को सुबह साढ़े 11 बजे आने वाली पटना-एलटीटी विशेष और दोपहर सवा दो बजे आने वाली वाराणसी-सीएसएमटी विशेष के मार्ग को बदला जाएगा और वे समय से पहले यहां पहुंचेंगी। विज्ञप्ति में कहा गया है कि चार बजकर 40 मिनट पर आने वाली तिरुवनंतपुरम-एलटीटी विशेष का मार्ग पुणे से परिवर्तित किया जाएगा और वह लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) पर समय से पहले पहुंचेगी।

    12:13 (IST)03 Jun 2020
    Cyclone Nisarga के दौरान क्या करें और क्या नहीं?

    चक्रवाती तूफान निसर्ग के मद्देनज़र CMO ने टिप्स दिये हैं। इस दौरान उन्होने लोगों को बताया है कि क्या करना है और क्या नहीं।

    11:36 (IST)03 Jun 2020
    अरब सागर में कम दबाव से गोवा में तेज हवाएं, बारिश

    अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बनने से गोवा में बुधवार सुबह भारी बारिश होने के साथ ही तेज हवाएं भी चली, जिससे इस तटीय राज्य के कुछ निचले इलाकों बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने समुद्र में तेज लहरों के कारण मछुआरों को समुद्र से दूर रहने को कहा है। गोवा सरकार द्वारा नियुक्त एक जीवन रक्षा एजेंसी ‘दृष्टि’ ने लोगों से समुद्र में नहीं जाने की अपील की है और 105 किलोमीटर लंबी राज्य तटीय रेखा के पास अधिकांश स्थानों पर लाल झंडे लगाए हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार शाम को कहा था कि अगले 24 घंटे में कर्नाटक-गोवा तटों पर और पूर्वी मध्य अरब सागर के पास 50-60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की आशंका है....। इसके चलते राज्य के कई निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई।

    11:20 (IST)03 Jun 2020
    बंदरगाह प्रबंधकों ने सुरक्षा की दृष्टि से यात्री पोतों की सेवाएं निलंबित कर दी

    जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह न्यास (जेएनपीटी) ने भी कहा है कि उसने तूफान के दौरान कठिनाई कम करने के लिए विभिन्न उपाय किए है। बंदरगाह प्रबंधकों ने सुरक्षा की दृष्टि से यात्री पोतों की सेवाएं निलंबित कर दी हैं। वहीं गुजरात सरकार ने कहा है कि अब तक 50 हजार से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित जगह स्थानांतरित कर दिया गया है। बताया गया कि 140 आश्रय स्थानों में लोगों को शिफ्ट किया गया।

    10:58 (IST)03 Jun 2020
    6 तटीय पुलिस स्टेशन में 800 पुलिसकर्मी तैनात

    मुंबई के अलीबाग से एसपी अनिल पारस्कर का कहना है कि हर बीच पर पुलिस तैनात है, 144कर्फ्यू का ऑर्डर है तो हर जगह से लोगों को निकाल दिया गया है। कल हमने 12000लोगों को (स्कूल,समाज मंदिर)में शिफ्ट किया है। 6 तटीय पुलिस स्टेशन में 800 पुलिसकर्मी तैनात हैं साथ ही चक्रवात प्रभावित गांवों में हमारे10-10टीमें तैनात है।

    10:39 (IST)03 Jun 2020
    पणजी में भी तेज़ हवा के साथ बारिश

    पणजी में शहर के कुछ हिस्सों में तेज़ हवा के साथ झमाझम बारिश हो रही है। सुबह साढ़े आठ बजे रत्नागिरी में 55 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। 55-65 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से बढ़ रही हवाएं कोंकण तट की ओर बढ़ रही हैं और ये इस दौरान तफ्तार बढ़ा रही हैं। आशंका है कि चक्रवात के दस्तक देने के वक्त 100 से 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।

    10:18 (IST)03 Jun 2020
    आधी रात के बाद तूफान कमजोर होगा

    आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र का कहना है कि निसर्ग तूफान आज दोपहर में तट को पार करेगा, तब इसकी गति 100-120 प्रति घंटा रहने की उम्मीद है खासतौर पर मुंबई, ठाणे, रायगढ़ में। दक्षिण कोंकण में भारी वर्षा अभी रिकॉर्ड की गई है, उम्मीद है कोंकण में बारिश जारी रहेगी। आधी रात के बाद तूफान कमजोर होगा।

    09:58 (IST)03 Jun 2020
    महाराष्ट्र में NDRF की 20 टीमों की तैनाती

    महाराष्ट्र में NDRF की 20 टीमों की तैनाती - मुंबई 8 टीमें, रायगढ़ 5 टीमें, पालघर 2 टीमें, ठाणे 2 टीमें (1 एनराउट), रत्नागिरी 2 टीमें और सिंधुदुर्ग 1 टीम: राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल ने महाराष्ट्र में NDRF की 20 टीमों की तैनाती की है। 

    09:40 (IST)03 Jun 2020
    1-3 बजे के बीच ये अलीबाग के दक्षिण में टकराएगा

    IMD वैज्ञानिक शुभांगी भूटे का कहना है कि निसर्ग तूफान गंभीर चक्रवाती तूफान बन गया है। हवा की रफ्तार 100-120 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी। पूरे रायगढ़, मुंबई, ठाणे, पालघर में भारी से भारी वर्षा की संभावना है। आज दोपहर 1-3 बजे के बीच ये अलीबाग के दक्षिण में टकराएगा।

    09:19 (IST)03 Jun 2020
    रत्नागिरी के क्षेत्रों में तेज़ हवा के साथ झमाझम बारिश

    महाराष्ट्र के नॉर्थ रत्नागिरी के क्षेत्रों में तेज़ हवा के साथ झमाझम बारिश हो रही है। वहीं आज सुबह तड़के खंबात तट पर NDRF की टीमें पहुंची। इसके अलावा एक-एक टीम तड़के दहानू, पालघर, रायगढ़ तट पर पहुंची।

    09:01 (IST)03 Jun 2020
    भारत-बांग्लादेश सीमा पर भूकंप के झटके

    नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार, भारत-बांग्लादेश सीमा पर बुधवार सुबह करीब 7.10 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। स्थानीय प्रशासन से इस संबंध में मिली जानकारी के बाद रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.3 मापी गई है। हालांकि अब तक इस भूकंप के कारण किसी भी प्रकार के जानमान के नुकसान की खबर नहीं मिली है।

    08:45 (IST)03 Jun 2020
    खंबात तट पर टीमें तैनात

    एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने एएनआई को बताया कि खंबात तट पर टीमें तैनात की गई हैं। न्यूज़ एजेंसी ने इसका एक वीडियो भी जारी किया है।

    08:24 (IST)03 Jun 2020
    एनडीआरएफ ने 33 टीमें तैनात की

    आईएमडी के मुताबिक अगले 6 घंटे के दौरान चक्रवाती तूफान गंभीर रूप ले सकता है। एनडीआरएफ ने दोनों राज्यों के तटीय जिलों में 33 टीमें तैनात की हैं। वहीं नौसेना के मुंबई ्सि्थत पश्चिम कमान ने भी अपनी सभी टीमों को अलर्ट कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र, गुजरात के मुख्यमंत्रियों से बातकर मदद का भरोसा दिया।

    07:43 (IST)03 Jun 2020
    गुजरात और महाराष्ट्र सरकार ने कुछ तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया

    निसर्ग तूफान को देखते हुए गुजरात और महाराष्ट्र सरकार ने कुछ तटीय इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया है। मछुआरों से समुद्र में ना जाने की अपील की गई है। एक मछुआरे ने बताया कि सभी मछुआरे अपनी नावों को लेकर वापिस किनारों पर लौट रहे हैं। हम एक दूसरे को जागरुक कर रहे हैं। अभी तो कुछ नहीं लग रहा है पर अगर यहां से तूफान गुजरेगा तो थोड़ा-बहुत झटका तो लगेगा ही।

    06:23 (IST)03 Jun 2020
    मुंबई बंदरगाह पर सुरक्षा की दृष्टि से यात्री पोतों की सेवाएं निलंबित

    जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह न्यास (जेएनपीटी) ने कहा है कि तूफान के दौरान कठिनाई कम करने के लिए कई उपाय किए गए है। बंदरगाह प्रबंधकों ने सुरक्षा की दृष्टि से यात्री पोतों की सेवाएं निलंबित कर दी हैं। जेएनपीटी ने भारतीय मौसम विभाग के अनुमान का हवाला देते हुए कहा है कि चक्रवात के तट पर प्रवेश के समय 50-60 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चल सकती है। लंगर डाले जहाजों से मंगलवार सात 11 बजे तक सामान उतरवा उन्हें बंदरगाह क्षेत्र से बाहर करने की योजना पर काम चल रहा था। प्रवेश के लिए इंतजार कर रहे जहाजों को स्थिति सामान्य होने तक रुके रहने का निर्देश है। 

    06:12 (IST)03 Jun 2020
    खराब मौसम में विमान सेवाओं के परिचालन के स्थायी दिशा निर्देशों का पालन

    नागर विमानन महानिदेशालय ने भी एक परिपत्र जारी करके एयरलाइनों और पायलटों को खराब मौसम में विमान सेवाओं के परिचालन के संबंध में स्थायी दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा है। हवाई अड्डे पर बिजली की आपातकालीन व्यवस्था के लिए डीजल जनरेटरों का विशेष प्रबंध किया गया है।

    05:14 (IST)03 Jun 2020
    मुंबई में हवाई अड्डे, बंदरगाह पर तूफान के खतरे से बचाव के उपाय

    मुंबई पर समुद्री चक्रवात के खतरे को देखते हुए महानगर के हवाईअड्डे और बंदरगाहों पर अधिकारियों ने सुरक्षा के विषेश प्रबंध किए हैं। चक्रवात निसर्ग बुधवार को मुंबई के निकट तट पर पहुंचेगा।

    04:18 (IST)03 Jun 2020
    दिल्ली में छाए रहे बादल

    मंगलवार को उत्तर भारत में तापमान सामान्य रहा और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आंशिक रूप से बादल छाए रहे, जबकि मौसम विभाग ने राजस्थान के कुछ इलाकों में अगले दो दिनों में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। गृह मंत्रालय ने कहा कि चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ बुधवार को महाराष्ट्र के तट पर पहुंचेगा। इस दौरान 100 से 110 किलोमीटर की गति से हवाएं चल सकती हैं। यह गति 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।

    03:20 (IST)03 Jun 2020
    पूरब से पश्चिम तक मौसम के तेवर उग्र , दक्षिण भारत के कुछ जिलों में भी बारिश का अलर्ट

    देश में पूर्व से पश्चिम तक मौसम अपना कठोर रूप दिखा रहा है। पूरब स्थित असम में मंगलवार को भारी बारिश की वजह से हुए भूस्खलन में कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई। वहीं पश्चिम भारत के कई इलाकों में चक्रवाती तूफान का खतरा मंडरा रहा है जबकि दक्षिण भारत के कई जिलों में मानसून की वजह से भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

    22:25 (IST)02 Jun 2020
    जुलाई महीने में पूरे भारत में 103 फीसदी

    आईएमडी के डिप्टी डायरेक्टर जनरल आनंद शर्मा ने कहा कि लंबी अवधि के आंकड़ों के अनुसार जुलाई महीने में पूरे भारत में 103 फीसदी और अगस्त महीने में करीब-करीब 97 फीसदी बारिश होगी। चक्रवात निसर्ग पर उन्होंने कहा कि दक्षिण गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र में इसका ज्यादा असर देखने को मिलेगा। 

    22:10 (IST)02 Jun 2020
    इन इलाकों में हो सकती है बारिश

    भारतीय मौसम विभाग ने अगले दो घंटों में दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में आंधी और बारिश का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो घंटों के दौरान हरियाणा के करनाल, सोनीपत और पानीपत को अलावा उत्तर प्रदेश के शामली, बागपत, गाजियाबाद, मोदीनगर, मेरठ और दिल्ली के कई स्थानों पर बारिश होने के आसार हैं।

    21:09 (IST)02 Jun 2020
    राजस्थान के इन इलाकों में पारा 40 डिग्री से. के करीब

    मंगलवार को राज्य में अधिकतम तापमान जैसलमेर में 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा बाड़मेर में 39.6 डिग्री, जोधपुर में 38.2 डिग्री, जयपुर में 37.4 डिग्री, अजमेर में 37.0 डिग्री, चुरू में 35.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। 

    20:39 (IST)02 Jun 2020
    राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश का अनुमान

    मौसम विभाग ने आगामी दो-तीन दिन में राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश का अनुमान जताया है। विभाग ने कहा है कि अगले तीन दिन राज्य के ज्यादातर हिस्सों में बादल छाए रहेंगे। कहीं बारिश होगी तो कहीं तेज हवाएं चलने का अनुमान है। विभाग के जयपुर के केंद्र के अनुसार बदले मौसम के कारण बुधवार को पूर्वी राजस्थान में बारां, झालावाड़, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही व उदयपुर में तथा पश्चिमी राजस्थान के पाली व जालौर में भारी बारिश हो सकती है। इस दौरान राज्य के बाकी हिस्सों में भी कहीं कही ओलावृष्टि, बादल छाये रहने, हल्की बारिश, ओलावृष्टि तथा 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। बृहस्पतिवार को भी पूर्वी राजस्थान में बासंवाड़ा, बारां, डूंगरपुर, कोटा, झालावाड़, प्रतापगढ़ व उदयपुर तथा पश्चिमी राजस्थान में पाली तथा जालौर में भारी अत्यधिक भारी बारिश हो सकती है। पिछले कई दिनों से मौसम में आए बदलाव के कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में बारिश हुई है। इससे अधिकतम तापमान में अच्छी खासी गिरावट दर्ज की गयी है। 

    20:13 (IST)02 Jun 2020
    पीएम ने दिया मदद का आश्वासन

    भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा है कि अरब सागर के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र की स्थिति और गहरी हो गई है तथा आगे यह चक्रवाती तूफान में तब्दील होगी। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया , ‘‘ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे और गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी तथा दमन दीव दादरा और नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल्ल के . पटेल से चक्रवात की स्थिति को लेकर बात की। ’’ कार्यालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने केंद्र की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। 

    19:37 (IST)02 Jun 2020
    12 घंटे में विकराल रूप में बदल जाएगा तूफान निसर्ग

    मौसम विभाग जो इस तूफान पर लगातार नजर बनाए हुए, उसकी ओर कहा गया है कि 12 घंटे में यह एक विकराल चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। यह तूफान को 3 जून को दोपहर के बाद महाराष्ट्र, गुजरात और दमन के तट से टकाएगा। महाराष्ट्र में इसका असर रायगढ़ में ज्यादा देखने को मिल सकता है।।

    19:10 (IST)02 Jun 2020
    कोरोना के साथ ही महाराष्ट्र में निसर्ग की चुनौती

    महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि ‘निसर्ग’ चक्रवात के मद्देनजर राहत एवं बचाव अभियान के लिए राज्य में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 10 टीम तैनात की गई हैं। चक्रवात के बुधवार को महाराष्ट्र के पश्चिमी तट से टकराने की संभावना है। यह चक्रवात ‘भयंकर चक्रवाती तूफान’ का रूप ले सकता है। ऐसे में यह बचाव एवं राहत अभियान के दौरान महाराष्ट्र के लिए चुनौतियां खड़ी कर सकता है जो पहले से ही कोरोना वायरस मामलों में तीव्र वृद्धि से पहले से जूझ रहा है। राहत एवं बचाव अभियान में बड़ी संख्या में लोगों की जरूरत पड़ सकती है।

    18:44 (IST)02 Jun 2020
    100-110 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलेगी तेज हवा

    भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार चक्रवाती तूफान तीन जून को भयंकर तूफान के रूप में हरिहरेश्वर और दमन (अलीबाग के समीप) के बीच उत्तरी महाराष्ट्र और समीप के दक्षिण गुजरात को पार करेगा और इस दौरान 100-110 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से तेज हवा चलेगी जिसकी रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है। इसके साथ ही भयंकर बारिश भी होगी। विभाग के अनुसार इस चक्रवात का मुम्बई पर असर होगा।

    17:30 (IST)02 Jun 2020
    तटीय क्षेत्रों में लगभग 13 गांवों के लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा

    महाराष्ट्र: तूफान निसर्ग के मद्देनजर NDRF की टीम को पालघर में तैनात किया गया है। NDRF के एक अधिकारी ने कहा, "हम तटीय क्षेत्रों में लगभग 13 गांवों से लोगों को निकाल रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का पालन करते हुए ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए तैयार हैं।"

    Image

    15:46 (IST)02 Jun 2020
    महाराष्ट्र-गुजरात में 33 टीमों की तैनाती

    महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहे तूफान ‘निसर्ग’ के मद्देनजर एनडीआरएफ ने दोनों राज्यों के तटीय जिलों में अपनी 33 टीमें तैनात की हैं। यह जानकारी बल के प्रमुख ने मंगलवार को दी। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के महानिदेशक एस एन प्रधान ने एक वीडियो संदेश में बताया, ‘‘गुजरात और महाराष्ट्र में बल की क्रमश: 11 और 10 टीमें हैं और उन्हें तटीय जिलों में तैनात किया गया है।’’ उन्होंने बताया कि गुजरात के अनुरोध पर पंजाब से और पांच टीमों को विमान के जरिए पहुंचाया जा रहा है। प्रधान ने बताया कि गुजरात में एनडीआरएफ की कुल 17 टीमें होंगी जिनमें दो टीमों को रिजर्व रखा गया है जबकि पड़ोसी महाराष्ट्र में छह रिजर्व टीमों सहित बल की 16 टीमें होंगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ इसके साथ ही इन दोनों राज्यों में कुल 33 टीमों को तैनात किया जा रहा है।’’ उल्लेखनीय है कि एनडीआरएफ की एक टीम में करीब 45 जवान होते हैं और वे पेड़ तथा खंभे काटने की मशीन, संचार उपकरण, छोटी नौकाओं और मूलभूत चिकित्सा शाखा से लैस होती है।

    15:30 (IST)02 Jun 2020
    90-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं हवाएं

    एनडीआरएफ के डीजी एसएन प्रधान ने कहा कि निसर्ग एक खतरनाक चक्रवात है। हमें 90-100 किमी प्रतिघंटे से हवाएं चलने का अनुमान है। इस स्थिति को संभाला जा सकता है, लेकिन एहतियात के तौर पर हम दोनों राज्यों के तटीय इलाकों से लोगों को निकालना शुरू करने वाले हैं। गृह मंत्रालय ने स्थितियों की समीक्षा के बाद फिलहाल महाराष्ट्र और गुजरात के लिए 21 टीमें भेज दी हैं। इसके अलावा हालत बिगड़ने पर 10 टीमों को स्टैंडबाई पर रखा गया है।

    15:02 (IST)02 Jun 2020
    गुजरात के सात जिलों में हाई अलर्ट

    चक्रवाती तूफान के चलते दक्षिण गुजरात के सूरत, नवसारी, वलसाड, डांग और भरूच के सात जिले, सौराष्ट्र के भावनगर और अमरेली के अलावा केंद्र शासित प्रदेश दमन और दीव को हाई अलर्ट पर रखा गया है। नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) ने गुजरात में 11 और दमन और दीव, दादरा और नगर हवेली में एक-एक टीम के साथ राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की पांच टीमों को तैनात किया है। इसके अलावा अतिरिक्त टीमें पास के क्षेत्रों में स्टैंड बाई पर रखी गई हैं। सभी समुद्र तटों को सार्वजनिक रूप से बंद कर दिया गया है और मछुआरों को समुद्र में नहीं उतरने के लिए कहा है।

    14:32 (IST)02 Jun 2020
    मुंबई, थाणे, पालघर, रायगढ़ और आस पास के जिलों में अलर्ट जारी

    देश में कोरोना वायरस महामारी से बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र को अब एक और खतरे का सामना करना पड़ रहा है। मौसम विभाग ने 'निसर्ग' नामक गंभीर चक्रवाती तूफान की भविष्यवाणी की है जो बुधवार शाम तक दस्तक दे सकता है। इसके मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई, थाणे, पालघर, रायगढ़ और आस पास के जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है। तूफान के तीन जून को राज्य के तट पर पहुंचने की आशंका है। राज्य के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से वीडियो कॉन्फ्रेंसे के जरिए बात की और किसी भी स्थिति से निपटने में राज्य की तैयारियों का जायजा लिया।

    13:52 (IST)02 Jun 2020
    गृहमंत्री ने लिया स्थिति का जायजा

    इससे पहले गृहमंत्री ने गृह मंत्रालय, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए), भारतीय तटरक्षक बल और अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की और तूफान के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया। शाह के कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए), राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) और भारतीय तटरक्षक बल के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और अरब सागर में उठे तूफान के मद्देनजर तैयारियों का जायजा लिया। इस तूफान के महाराष्ट्र और गुजरात के कुछ हिस्सों में दस्तक देने की संभावना है। इस बैठक में गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय भी मौजूद थे।’’ अधिकारियों ने बताया कि एनडीआरएफ की 31 टीमों में 13 टीमों को (दो रिजर्व टीमों सहित)गुजरात में, 16 टीमें (सात रिजर्व सहित) महाराष्ट्र में और दो टीमों को केंद्रशासित प्रदेश दमन और दीव, दादरा और नागर हवेली में तैनात किया गया है। 

    13:29 (IST)02 Jun 2020
    105 से 110 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है तूफान गुजरने की रफ्तार

    मौसम विभाग ने कहा कि जब यह तूफान तीन जून की शाम को तट से गुजरेगा तब 105 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान के प्रभाव से दक्षिण गुजरात और तटीय महाराष्ट्र में भारी बारिश होने की संभावना है। रायगढ़ और दमन के बीच की 260 किलोमीटर लंबी तटीय पट्टी देश में सबसे घनी बसी आबादी वाला इलाका है। इसी पट्टी पर मुंबई और उसके उपनगरीय शहर जैसे ठाणे, नवी मुंबई, पनवेल, कल्याण, डोम्बिविली, मीरा-भायंदर, वसई-विरार, उल्हासनगर, बदलापुर और अम्बेरनाथ बसे हुए हैं।

    Next Stories
    1 कोरोना पर हेल्थ एक्सपर्ट्स ने किया साफ- शुरू हो चुका है कम्युनिटी ट्रांसमिशन, महामारी रोकने में विशेषज्ञों से नहीं लिए गए सुझाव
    2 माइक्रोवेव से लेकर जूते-चप्पल तक, स्वदेशी को बढ़ावा देने को पैरामिलिट्री कैंटीन से हटाए गए 1000 इंपोर्टेड प्रोडक्ट्स
    3 दिल्ली में बाहरियों का नहीं होगा इलाज? CM केजरीवाल बोले- बॉर्डर खोले, तो 2 दिन में भर जाएंगे 10 हजार बेड; जनता दे सुझाव