ताज़ा खबर
 

केरल के सात जिलों में रेड अलर्ट, यहां हो सकती है भारी बारिश

केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार तिरुवनंतपुरम, अलप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर और पलक्कड़ में में रेड अलर्ट जारी किया गया है, जबकि चार अन्य जिलो में अलर्ट जारी किया जाएगा।

Author नई दिल्ली | Updated: November 8, 2019 11:25 AM
Weather Forecast Report LIVE: तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

केरल में अक्टूबर महीने की शुरुआत से ही अच्छी बारिश देखने को मिली है। बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के अलग-अलग इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिली। त्रिशूर में 35 मिमी पुनालुर और कोझिकोड में क्रमश: 24 मिमी और 18 मिमी बारिश दर्ज की गई।

केरल में उत्तर पूर्व मानसून के तेजी से सक्रिय होने के मद्देनजर राज्य के सात जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के साथ ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है। दक्षिणी राज्य के अलग-अलग स्थानों पर अत्यंत भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार तिरुवनंतपुरम, अलप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की और पलक्कड़ में में रेड अलर्ट जारी किया गया है, जबकि चार अन्य जिलो में अलर्ट जारी किया जाएगा।

इसी बीच मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने लोगों से सतर्क रहने को कहा है। रेड अलर्ट जारी होने के बाद जल्द प्रभावित होने वाले क्षेत्रों से लोगों को निकालकर शिविरों में ले जाया जाता है और लोगों को आपातकालीन किट उपलब्ध कराने समेत कई एहतियाती कदम उठाए जाते हैं।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, पूर्वी मध्य और पास के दक्षिण-पूर्वी अरब सागर के साथ-साथ महाराष्ट्र-गोवा-कर्नाटक-केरल के तटों, लक्षद्वीप और दक्षिण-पश्चिम और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के साथ-साथ तमिलनाडु के उत्तरी तट व आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तट पर इस मानसून के प्रभाव पड़ने की संभावना अधिक है। मछुआरों को समुद्र में प्रवेश न करने की सलाह दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सावरकर पर सिंघवी के ट्वीट से कांग्रेस हक्की-बक्की, अहमद पटेल ने फोन करके पूछा- चुनाव वाले दिन ऐसा बयान क्यों
2 कमलेश तिवारी मर्डर: हिंदू समाज पार्टी में शामिल होने के लिए आरोपी अशफाक ने बनवाया फर्जी AADHAAR CARD, कई खुलासे
3 MOB LYNCHING, धार्मिक कारणों से हुई हत्याओं के आंकड़े NCRB की ताजा रिपोर्ट में नहीं किए गए शामिल!