ताज़ा खबर
 

Weather Forecast Today Highlights: कश्मीर-लद्दाख-हिमाचल में होगी भारी बारिश, जानें देश में मौसम का हाल

Weather forecast Today India Highlights: दक्षिण भारत में पिछले दो दिनों से जारी बारिश में फिलहाल कमी आने की आशंका है। बारिश में कमी आंतरिक हिस्सों में आएगी।

Author नई दिल्ली | Updated: Nov 22, 2019 7:13:15 pm
Weather Forecast Report LIVE: तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

Weather forecast Today India Highlights: उत्तर भारत बने पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से एक चक्रवाती सर्कुलेशन मध्य पाकिस्तान पर बना है। इन दोनों सिस्टमों के चलते अनुमान है कि जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में कई जगहों पर मध्यम और कुछ स्थानों पर भारी बारिश देखने को मिलेगी। यहां बर्फबारी होने की भी आशंका है। उत्तराखंड में भी कई स्थानों पर बारिश या बर्फबारी होने की संभावना है। हालांकि मैदानी इलाकों में पंजाब से लेकर हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान तक मौसम में बहुत ज्यादा बदलाव देखने को नहीं मिलेगा। यह बदलाव बारिश के संदर्भ नहीं होगा। हालांकि दिल्ली में प्रदूषण के स्तर पर बदलाव देखने को मिलेगा। यहां प्रदूषण का स्तर बढ़ेगा

मौसम से जुड़ी जानकारी देने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक दक्षिण भारत में पिछले दो दिनों से जारी बारिश में फिलहाल कमी आने की आशंका है। बारिश में कमी आंतरिक हिस्सों में आएगी। जबकि की खाड़ी में बने ट्रफ के प्रभाव के कारण तटीय आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में कुछ स्थानों में अच्छी बारिश जारी रहेगी। इसी बीच चेन्नई में भी कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। तमिलनाडु के आंतरिक हिस्सों, केरल, कर्नाटक के तटीय शहरों तथा आंतरिक भागों में कुछ जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना है।

Live Blog

Highlights

    18:15 (IST)22 Nov 2019
    प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र के निशाने पर आई आप सरकार

    कृषि राज्य मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा है कि दिल्ली के प्रदूषण में पराली की हिस्सेदारी मात्र तीन प्रतिशत होने के बावजूद दिल्ली सरकार प्रदूषण के मुद्दे को सियासी वजहों से तूल दे रही है। चौधरी ने शुक्रवार को राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान दिल्ली में वायु प्रदूषण के कारणों में किसानों द्वारा पराली जलाये जाने की हिस्सेदारी से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने से उठने वाले धुएं की दिल्ली के प्रदूषण में मात्र तीन प्रतिशत हिस्सेदारी है। दिल्ली के प्रदूषण में पराली के अलावा अन्य स्थानीय कारण प्रमुख रूप से जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए किये गये प्रयासों के परिणामस्वरूप तीनों राज्यों में इन घटनाओं में 54.5 प्रतिशत की कमी आयी है। चौधरी ने कहा, ‘‘सरकार किसानों को पराली जलाने से पूरी तरह मुक्ति देने के लिए विभिन्न उपाय कर रही है। इनमें पराली निस्तारण के उपकरण किसानों को मुहैया कराना और पराली के अन्य उपयोगों के उपाय तलाशे गये हैं।

    16:44 (IST)22 Nov 2019
    वीडियो: चेन्नई, पुडुचेरी, कुड्डालोर, कराईकल और पम्बन साहित तमिलनाडु के मौसम का हाल जानिए

    15:46 (IST)22 Nov 2019
    वीडियो के जरिए जानिए पहाड़ी क्षेत्रों के मौसम का हाल

    13:04 (IST)22 Nov 2019
    उत्तराखंड में भी कुछ जगहों पर वर्षा ओर बर्फबारी

    अगले 24 घंटों के दौरान, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश में व्यापक रूप से बारिश और हिमपात की संभावना है। साथ ही उत्तराखंड में भी कुछ जगहों पर वर्षा ओर बर्फबारी देखने को मिल सकती है।

    11:23 (IST)22 Nov 2019
    दक्षिण भारत में पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है

    मौसम से जुड़ी जानकारी देने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट के मुताबिक दक्षिण भारत में पिछले दो दिनों से जारी बारिश में फिलहाल कमी आने की आशंका है। बारिश में कमी आंतरिक हिस्सों में आएगी। जबकि की खाड़ी में बने ट्रफ के प्रभाव के कारण तटीय आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में कुछ स्थानों में अच्छी बारिश जारी रहेगी। इसी बीच चेन्नई में भी कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। तमिलनाडु के आंतरिक हिस्सों, केरल, कर्नाटक के तटीय शहरों तथा आंतरिक भागों में कुछ जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना है।

    10:11 (IST)22 Nov 2019
    पराली जलाने के लिए किसानों को जिम्मेदार मानना उचित नहीं

    आम आदमी पार्टी के नेता भगवत मान और अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल ने कहा कि पराली जलाने के लिए किसानों को जिम्मेदार मानना उचित नहीं है। इन सांसदों का कहना था कि किसानों को इस बात के लिए जागरुक किया जाए कि वो ऐसी फसल उपजाएं जिससे पराली ना बचे। सांसदों ने यह भी कहा कि किसानों को बायोगैस के इस्तेमाल के लिए जागरूक करने का काम होना चाहिए। भगवान मान सिंह ने कहा कि किसानों को बाजरा और सनफ्लावर की खेती के लिए उत्साहित करना चाहिए।

    09:14 (IST)22 Nov 2019
    बहुत खराब श्रेणी में है दिल्ली

    सफर ने कहा, "दिल्ली का समग्र एक्यूआई बहुत खराब श्रेणी में है और इसके आगे और बिगड़ने का पूर्वानुमान है और यह 22 नवंबर तक दिल्ली के विभिन्न भागों में गंभीर हो सकता है।"

    01:59 (IST)22 Nov 2019
    उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय, इन क्षेत्रों में वर्षा और हिमपात के आसार

    मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारत पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। जिसके प्रभाव से अनुमान है कि गुलमर्ग, पहलगाम, चंबा, शिमला, लेह, कारगिल सहित जम्मू कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में हल्की बारिश और बर्फबारी देखने को मिलेगी। वहीं उत्तराखंड के भी उत्तरी हिस्सों में वर्षा और हिमपात का भी अनुमान लगाया गया है। इसके अलावा पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आंशिक छाये रह सकते हैं। दिल्ली में प्रदूषण और खराब हो सकता है। पीएम 2.5, और पीएम 10 का स्तर हवा में काफी मात्रा में बढ़ने का अनुमान है।

    19:59 (IST)21 Nov 2019
    दिल्ली की हवा फिर 'बहुत खराब'

    राष्ट्रीय राजधानी की समग्र वायु गुणवत्ता गुरुवार को फिर से 'बहुत खराब' श्रेणी में चली गई और हवा की बेहद कम रफ्तार की वजह से स्थिति आगे और बिगड़ सकती है। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग (सफर) के अनुसार, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 340 रिकॉर्ड किया गया।

    18:50 (IST)21 Nov 2019
    आंशिक बादल छाए

    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में गुरुवार को आसमान में आंशिक बादल छाए हुए हैं। आसमान में बादल के कारण सुबह से चल रही हवा सिहरन पैदा कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार, राजस्थान में बने चक्रवात के कारण राज्य मे आंशिक बादल हैं और हवाएं चल रही हैं, जिससे ठंड का अहसास हो रहा है।

    15:55 (IST)21 Nov 2019
    बिहार में मौसम साफ और सुहावना बना हुआ है

    बिहार की राजधानी पटना तथा आसपास के क्षेत्रों में मौसम साफ और सुहावना बना हुआ है। गुरुवार सुबह धूप निकली तथा कई क्षेत्रों में तापामन में गिरावट दर्ज की गई है। पटना का न्यूनतम तापमान 14.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले एक-दो दिनों तक राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा तथा तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी और ठंड का दौर प्रारंभ होगा।

    14:42 (IST)21 Nov 2019
    जम्मू-कश्मीर में कल भारी बर्फबारी की चेतावनी

    जम्मू-श्रीनगर के 300 किलोमीटर लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग पर फिर बर्फबारी की मार पड़ सकती है। मौसम विभाग श्रीनगर ने 21-22 नवंबर को जम्मू और कश्मीर के कई हिस्सों में भारी बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। इसमें कश्मीर क्षेत्र अधिक प्रभावित रहेगा।

    13:44 (IST)21 Nov 2019
    आज से इन राज्यों में भारी बारिश की संभावना

    मानसून का समय खत्‍म होने के बाद भी कुछ राज्‍यों में अभी बारिश का खतरा बरकरार है। मौसम के जानकारों का ताजा अनुमान बताता है कि 20 नवंबर से फिर से मौसम बिगड़ सकता है। दक्षिण भारत के तीन राज्‍यों में 21 नवंबर से तेज बारिश होने की आशंका जताई गई है। इसके अलावा बर्फबारी संभव है, जिसके चलते अब ठंड बढ़ सकती है। इससे रास्‍ते भी रुक सकते हैं और कई मौकों पर यह घटना जानलेवा भी हो सकती है। आइये जानते हैं, इनके अलावा देश भर में अगले दो दिनों में कैसा मौसम रहेगा।

    12:29 (IST)21 Nov 2019
    जम्मू-कश्मीर के मौसम का हाल जानिए

    जम्मू-कश्मीर के वायुमंडल में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। कश्मीर के अधिकांश इलाकों विशेषकर उत्तरी कश्मीर के बारामुला व कुपवाड़ा में सबसे अधिक प्रभाव होगा। मध्य व दक्षिण में सामान्य बर्फबारी और बारिश हो सकती है। पश्चिमी विक्षोप का यह प्रभाव 23 नवंबर तक रहेगा।

    10:53 (IST)21 Nov 2019
    हिमाचल प्रदेश के मौसम का हाल जानिए

    मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश के 12 में से आठ जिलों में शुक्रवार को गरज के साथ भारी बारिश और बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है। शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बुधवार को बताया कि आठ जिलों - चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन, किन्नौर और लाहौल-स्पीति में भारी बारिश और बर्फबारी के लिए पीली चेतावनी(यैलो वार्निंग) जारी की गयी है। मौसम विभाग प्रतिकूल मौसम में लोगों को चौकस रहने के लिए रंग आधारित चेतावनी जारी करता है। ‘यैलो वार्निंग’ का आशय कम खतरे से है। बहरहाल, सिंह ने बताया कि शून्य से 3.9 डिग्री सेल्सियस नीचे के न्यूनतम तापमान के साथ लाहौल स्पीति में केलांग राज्य में सबसे सर्द स्थान बना हुआ है। किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मनाली, कुफरी, शिमला और डलहौजी में न्यूनतम तापमान क्रमश: 2.4, 6.7 और 8.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

    10:16 (IST)21 Nov 2019
    प्रदूषण को लेकर निशाने पर दिल्ली सरकार

    राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने ध्वनि प्रदूषण से निपटने के लिये दिल्ली सरकार की जागरुकता गतिविधियों की आलोचना करते हुए कहा कि वे गुणवत्ता और संख्या के लिहाज से अपर्याप्त हैं। एनजीटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि गतिविधियों को ठीक से नियोजित और समन्वित किया जाना चाहिए। साथ ही पटाखे छोड़ने पर जुर्माने को भी संशोधित किया जाना चाहिये। पीठ ने कहा, "केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सुझाव दिया है कि दूसरी और तीसरी बार उल्लंघन करने के लिये जुर्माना 2 से 3 तीन गुना अधिक होना चाहिये। साथ ही उनकी फैक्टरी लगाने या संचालित करने की अनुमति भी वापस ले ली जानी चाहिये।" एनजीटी ने ध्वनि प्रदूषण पर दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) को भी फटकार लगाते हुए कहा कि समस्या को नियंत्रित करने के लिए उसके द्वारा किए गए कार्यों को बमुश्किल पर्याप्त माना जा सकता है। ट्रिब्यूनल ने सीपीसीबी को ध्वनि सीमा के साथ छेड़छाड़ करने वालों पर भारी हर्जाना लगाने का निर्देश दिया और उसे इस संबंध में ईमेल के जरिये 31 मार्च, 2020 तक अनुपालन रिपोर्ट पेश करने को कहा।

    09:51 (IST)21 Nov 2019
    कौशाम्बी के पैसिफिक मॉल पर प्रदूषण फैलाने पर लगा 25 लाख रुपए का जुर्माना

    यूपी के गाजियाबाद जिला प्रशासन और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने कौशाम्बी क्षेत्र में पैसिफिक मॉल के प्रबंधन पर कथित तौर पर डीजल जनरेटर का उपयोग करने के लिए 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे ने बताया कि दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा के पास स्थित मॉल के दो महाप्रबंधकों पर प्रदूषण-रोधी मानदंडों का उल्लंघन करने के लिए मामला भी दर्ज किया गया। उन्होंने बताया कि व्हाट्सएप के जरिए शिकायत मिलने के बाद कार्रवाई की गई। डीएम ने बताया कि उन्हें शॉपिंग मॉल द्वारा डीजल जनरेटर के उपयोग के कारण क्षेत्र में फैल रहे प्रदूषण के बारे में शिकायतें मिली थी। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अतिरिक्त सिटी मजिस्ट्रेट और क्षेत्रीय प्रबंधक के नेतृत्व में एक टीम भेजी गई थी। डीएम ने बताया कि टीम को मॉल के बेसमेंट में 1250 केवीए के पांच स्वचालित जनरेटर मिले हैं। उन्होंने बताया कि मॉल प्रबंधन पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया।

    09:00 (IST)21 Nov 2019
    दिल्ली में प्रदूषण स्तर का हाल जानिए

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु की गुणवत्ता बुधवार को बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गयी। हवा की गति कम होने और पराली जलाये जाने की घटनाओं में वृद्धि के कारण वायु गुणवत्ता के अगले दो दिनों में गंभीर श्रेणी में पहुंचने का अनुमान जताया गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी का वायु गुणवत्ता सूचकांक बुधवार शाम चार बजे 301 रहा, जो ‘बेहद खराब’ श्रेणी में आता है। मंगलवार को शाम चार बजे यह 242 रहा था। दिल्ली के पड़ोसी क्षेत्र गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक 366 दर्ज किया गया, जो बुधवार को देश का सबसे प्रदूषित जगह रहा। वहीं ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता सूचकांक 340, जबकि नोएडा में 320 दर्ज किया गया। 201 से लेकर 300 के बीच एक्यूआई को ‘‘खराब’’, 301 से 400 के बीच ‘‘बहुत खराब’’ और 401 से 500 के बीच ‘‘गंभीर’’ श्रेणी का माना जाता है। सरकार की वायु गुणवत्ता निगरानी और पूर्वानुमान सेवा ‘सफर’ ने कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में वायु गुणवत्ता शुक्रवार तक गंभीर श्रेणी में प्रवेश कर सकती है। 

    07:43 (IST)21 Nov 2019
    वीडियो के जरिए जानिए देशभर के मौसम का हाल

    Next Stories
    1 RBI के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल ने अरुण जेटली को तीन-तीन बार चेताया था- इलेक्टोरल बॉन्ड से बढ़ेगा भ्रष्टाचार, नोटबंदी का मकसद भी होगा फेल
    2 शिवसेना- NCP पहुंची सुप्रीम कोर्ट, कहा- महाराष्ट्र के राज्यपाल की कार्रवाई मनमानी, दुर्भावनापूर्ण
    3 एमएलए ने गुपचुप ले रखी थी जर्मन सिटीजनशिप, गृह मंत्रालय ने छीनी भारतीय नागरिकता- BJP सांसद ने दी जानकारी
    जस्‍ट नाउ
    X