ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल में बीजेपी अपना रही ‘असम फार्मूला’, सात महीने पहले ही बना लिया था प्लान, TMC को एक और झटका

मुकुल रॉय अपने प्रभाव के चलते कई नेताओं को भाजपा में शामिल करा चुके हैं। मुकुल रॉय इस साल मार्च में सब्यसाची दत्ता से भी मिले थे और इसके बाद चर्चाएं होने लगी थीं कि दत्ता जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

Author कोलकाता | Updated: September 30, 2019 9:41 PM
टीएमसी विधायक मंगलवार को अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा में होंगे शामिल।

पश्चिम बंगाल में टीएमसी में भगदड़ जारी है। पार्टी के एक और विधायक ने भाजपा में शामिल होने का ऐलान कर दिया है। बता दें कि पश्चिम बंगाल के बिधाननगर के पूर्व मेयर और टीएमसी विधायक सब्यसाची दत्ता कल यानि कि मंगलवार को भाजपा में शामिल होंगे। सब्यसाची दत्ता का कहना है कि ‘वह कल कोलकाता के नेताजी इंडोर स्टेडियम में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा में शामिल होंगे।’

7 माह पहले बन गई थी योजनाः गौरतलब है कि बीते दिनों हुए लोकसभा चुनावों से पहले से ही कई टीएमसी नेताओं का भाजपा में शामिल होना जारी है। इस कड़ी की शुरुआत मुकुल रॉय के साथ हुई थी। कभी ममता बनर्जी के करीबी रहे मुकुल रॉय ने नवंबर 2017 में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। इसके बाद से ही मुकुल रॉय अपने प्रभाव के चलते कई नेताओं को भाजपा में शामिल करा चुके हैं। मुकुल रॉय इस साल मार्च में सब्यसाची दत्ता से भी मिले थे और इसके बाद चर्चाएं होने लगी थीं कि दत्ता जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

ममता बनर्जी ने की थी मुलाकातः दत्ता एक प्रभावशाली नेता हैं और यही वजह है कि उन्हें भाजपा में जाने से रोकने के लिए खुद ममता बनर्जी ने दत्ता से मुलाकात की थी। इसके बाद सब्यसाची दत्ता ने भी भाजपा में शामिल होने का विचार त्याग दिया था। हालांकि अब यह बात साफ हो गई है कि सब्यसाची दत्ता आखिरकार भाजपा में शामिल हो रहे हैं।

असम फॉर्मूला पश्चिम बंगाल में लागू कर रही भाजपाः जिस तरह से पश्चिम बंगाल में टीएमसी नेता भाजपा में शामिल हो रहे हैं। उसे देखकर लगता है कि भाजपा ने पश्चिम बंगाल में भी असम फॉर्मूला लागू किया है। बता दें कि असम में कांग्रेस का दबदबा था, इस दबदबे को तोड़ने के लिए भाजपा ने दिग्गज कांग्रेस नेता हेमंत बिस्वा सरमा को तोड़कर अपनी पार्टी में शामिल कर लिया था। बाद में हेमंत बिस्वा सरमा ने कई नाराज कांग्रेसी नेताओं को भाजपा में शामिल कराया था। इन नेताओं का पार्टी में आने से भाजपा को काफी फायदा मिला और पार्टी ने राज्य की सत्ता पर कब्जा कर लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एक और पूर्व कांग्रेसी CM की बढ़ी मुश्किल, हाईकोर्ट ने CBI को दी FIR की इजाजत, पर नहीं कर सकेगी गिरफ्तार
2 गुजरातः बनासकांठा में हादसा, अंबाजी मंदिर से लौट रहे भक्तों से भरी बस पलटी; 21 मरे
3 देशभर में भारी बारिश का कहर, 4 दिन में 110 से ज्यादा लोगों ने गंवाई जान, बिहार का सबसे बुरा हाल
जस्‍ट नाउ
X