ताज़ा खबर
 

आजादी की वर्षगांठ पर पाकिस्तानी PM इमरान खान की गीदड़भभकी- भारत के हर ईंट का जवाब पत्थर से देंगे

बकौल पाकिस्तानी पीएम, "हम और हमारी फौज पूरी तरह से तैयार हैं। ये जंग हुई, तो इसके लिए दुनिया जिम्मेदार होगी।" इमरान के अलावा पाकिस्तानी राष्ट्रपति के राष्ट्र के नाम अभिभाषण में भी कुछ इसी तरह की बौखलाहट देखने को मिली।

Author नई दिल्ली | August 14, 2019 5:39 PM
पाकिस्तान में भारत से एक दिन पहले यानी कि 14 अगस्त को हर साल स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है और बुधवार को पाक पीएम ने इस मौके पर भारत को जंग की धमकी दी है। (फाइल फोटो)

अनुच्छेद 370 पर बौखलाने के बाद अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) को लेकर पाकिस्तान ने गीदड़ भभकी भरी है। बुधवार (14 अगस्त, 2019) को अपनी आजादी (पाक में) की वर्षगांठ पर पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत को खुली धमकी दी है कि वह भारत के हर ईंट का जवाब पत्थर से देने के लिए तैयार हैं। अगर पीओके में कुछ भी हुआ, तब वे भारत को सबक सिखाएंगे।

बकौल पाकिस्तानी पीएम, “हम और हमारी फौज पूरी तरह से तैयार हैं। ये जंग हुई, तो इसके लिए दुनिया जिम्मेदार होगी।” खान आगे बोले, “स्वतंत्रता दिवस खुशी का बड़ा मौका होता है पर आज हम कश्मीरी भाइयों की दुर्दशा पर बेहद दुखी हैं, जो कि भारत के उत्पीड़न का शिकार हैं। उनके बयान के मुताबिक, “मैं कश्मीरी भाइयों से सुनिश्चित करता हूं कि हम उनके साथ खड़े हैं।”

खान ने आरोप लगाया, “उन्होंने (पीएम मोदी) अपना अंतिम पत्ता चला, पर यह भारत को बहुत महंगा पड़ने वाला है। कश्मीर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के रडार पर नहीं था, पर पाकिस्तान के नाते हम सुनिश्चित करते हैं कि अब यह वैश्विक मुद्दा बनेगा। मैं कश्मीर का एंबैस्डर बनने की प्रतिज्ञा लेता हूं और हर संभावित मंच पर उसकी समस्याएं उठाऊंगा।”

पाक पीएम बुधवार को मुजफ्फराबाद जा सकते हैं, जो कि पाक अधिकृत कश्मीर में आजाद कश्मीर की राजधानी मानी जाती है। वह वहां स्थानीय लोगों और जनता को संबोधित कर सकते हैं। इसी बीच, इस्लामाबाद में कई जगह कश्मीरियों के साथ एकजुटता दिखाने की अपील से जुड़े पोस्टर नजर आए।

‘एक हैं कश्मीरी और पाकिस्तानी’: इमरान के अलावा पाकिस्तानी राष्ट्रपति के राष्ट्र के नाम अभिभाषण में भी कुछ इसी तरह की बौखलाहट देखने को मिली। राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने बुधवार को कहा कि ‘कश्मीरी और पाकिस्तानी एक हैं’ और पाकिस्तान और वहां के लोग कश्मीरियों के साथ खड़े रहेंगे। पाक के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर मुख्य समारोह में वह बोले- जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के भारत सरकार के फैसले के खिलाफ पाकिस्तान सरकार का रुख दोहराया। इस्लामाबाद, नई दिल्ली के फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का रुख करेगा।

पाक राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हम एक शांतिप्रिय देश हैं। हम कश्मीर मसला बातचीत से सुलझाना चाहते हैं, पर भारत हमारी शांति की नीति को कमजोरी समझने की भूल न करे।’’ बता दें कि पाकिस्तान ने स्वतंत्रता दिवस को ‘कश्मीर एकता दिवस’ के रूप में मनाने का फैसला किया है।

15 अगस्त पर PAK में ‘काला दिवस’: इससे पहले पाकिस्तानी सरकार ने कहा था कि वह भारत के स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त, 2019) को ‘काला दिवस’ के तौर पर मनाएगी और उस दिन वहां की सभी सरकारी इमारतों पर ध्वज आधा लहरेगा। ऐसा जम्मू और कश्मीर को लेकर लिए गए मोदी सरकार के हालिया फैसले की वजह से होगा।

बता दें कि जम्मू और कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधान खत्म कर उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया है। एक- जम्मू और कश्मीर, जबकि दूसरा- लद्दाख है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App