ताज़ा खबर
 

कांग्रेस बोली-चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के फैसलों से नाराजगी, पार्टी ने गिनाए महाभियोग लाने के कारण

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के कई फैसलों पर नाराजगी जताते हुए मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस उनके खिलाफ महाभियोग लाने में जुटी है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाब नबी आजाद की अगुआई में विपक्ष ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस दिया।

Author नई दिल्ली | April 20, 2018 5:16 PM
चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाने के बारे में जानकारी देते कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा के कई फैसलों पर नाराजगी जताते हुए मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस उनके खिलाफ महाभियोग लाने में जुटी है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाब नबी आजाद की अगुआई में विपक्ष ने उपराष्ट्रपति वैंकैया नायडू को महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस दिया, जिस पर 71 सांसदों के हस्ताक्षर हैं। हालांकि, इनमें से सात सांसदों का कार्यकाल खत्म हो चुका है। इस प्रकार महाभियोग प्रस्ताव पर सिर्फ 64 सांसदों का हस्ताक्षर ही प्रभावी होगा। विपक्षी नेताओं ने उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के चेयरमैन से प्रस्ताव पेश करने को अनुमति प्रदान करने की मांग की।

महाभियोग प्रस्ताव के लिए कांग्रेस ने विपक्षी नेताओं की बैठक बुलाई थी, मगर इसमें समाजवादी पार्टी, राजद, तमिलनाडु की डीएमके और पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने हिस्सा नहीं लिया। हालांकि, इन दलों के नेताओं ने महाभियोग का समर्थन करने की बात कही है।

महाभियोग लाने के लिए विपक्ष ने बताए कारणः गुलाब नबी आजाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि इस समय न्यायपालिका की स्वतंत्रता संकट में है, जिसके कारण चीफ जस्टिस को हटाया जाना जरूरी है। विपक्ष ने महाभियोग के लिए कारण भी गिनाए। उन्होंने कहा कि मुख्य न्यायाधीश के कई प्रशासनिक फैसले विवादों में घिरे हैं। सुप्रीम कोर्ट के कामकाज में पारदर्शिता नहीं होने से जजों को मीडिया में आकर प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए मजबूर होना पड़ा। विपक्ष ने मुख्य न्यायाधीश पर पद के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि लगातार सवाल उठने के बाद भी सर्वोच्च न्यायालय के काम में सुधार नहीं हुआ। जज लोया और मेडिकल कॉलेज घोटाले को लेकर चीफ जस्टिस विवादों में घिरे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App