ताज़ा खबर
 

हत्या मामले में वांटेड कश्मीर का भाजपा नेता दिखा केंद्रीय मंत्री के घर

साल 2013 के किश्तवाड़ दंगों में हत्या मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के वांटेड पद्दार से भाजपा नेता को प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के दिल्ली स्थित निवास स्थान पर देखा गया।

Author नई दिल्ली | March 14, 2016 8:16 AM
कसूरु के साथ किसी भी तरह के कनेक्शन होने से इंकार करते हुए राज्यमंत्री सिंह ने कहा कि वह पद्दार से आए प्रतिनिधि मंडल का हिस्सा था

साल 2013 के किश्तवाड़ दंगों में हत्या मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस के वांटेड पद्दार से भाजपा नेता को प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के दिल्ली स्थित निवास स्थान पर देखा गया। हरि कृष्ण उर्फ कसूरु को कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर रखा है। बैठक में ली गई तस्वीर में कसूरु, डॉ. जितेंद्र सिहं, किश्तवाड़, डोडा और भद्रवाह के विधायकों के साथ दिखाई दिया। साल 2013 में किश्तवाड़ में ईद के दिन दंगे हुए थे। दंगों के दौरान 52 वर्षी लस्सा खांडे की हत्या का आरोप कसूरु सहित नौ लोगों पर है। आरोप है कि इन्होंने एम्बुलेंस पर हमला कर खांडे का अपहरण कर लिया था और उसके अगले दिन पुलिस को उनका शव मिला था।

कसूरु के साथ किसी भी तरह के कनेक्शन होने से इंकार करते हुए राज्यमंत्री सिंह ने कहा कि वह पद्दार से आए प्रतिनिधि मंडल का हिस्सा था। प्रतिनिधि मंडल किश्तवाड़ विधायक सुनील शर्मा लेकर आए थे। प्रतिनिधि मंडल किश्तवाड़ के पद्दार इलाके के कुछ लोगों को एसटी का दर्जा की मांग लेकर आया था। साथ ही सिंह ने कहा कि हम लोगों से मिलने रोजाना कई प्रतिनिधि मंडल आते हैं और उनमें से ऐसे बहुत लोग होते हैं जिन्हें हम जानते ही नहीं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 19959 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback

पीडीपी-भाजपा गठबंधन की सरकार में मंत्री रहे शर्मा ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कसूरु का डेलिगेशन में शामिल होने की खबर न प्रकाशित करने की बात कही। गौरतलब है कि कसूरु ने शर्मा के लिए विधानसभा चुनाव और सिंह के लिए लोकसभा चुनाव में प्रचार किया था। डोडा भाजपा विधायक शक्ति परिहार ने भी कसूरु को जानने से मना कर दिया। तस्वीर में दो अन्य लोग तारीक हुसैन कीन और शौकत डांग भी हैं। दोनों ने ही भाजपा के टिकट पर इंद्रवाल और बनिहाल से विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन दोनों ही चुनाव हार गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App