ताज़ा खबर
 

स्वच्छ भारत अभियान से दुखी हैं सरकारी बाबू

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से सरकारी कर्मचारी दुखी हैं। कर्मचारियों का कहना है कि नवरात्र का व्रत रखने वाले प्रधानमंत्री ने उनकी नवमी खराब कर दी है। जिन लोगों ने लगातार आ रहीं पांच सरकारी छुट्टियों का अपने परिवार के साथ लुत्फ उठाने के लिए दिल्ली से बाहर जाने का […]

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान से सरकारी कर्मचारी दुखी हैं। कर्मचारियों का कहना है कि नवरात्र का व्रत रखने वाले प्रधानमंत्री ने उनकी नवमी खराब कर दी है। जिन लोगों ने लगातार आ रहीं पांच सरकारी छुट्टियों का अपने परिवार के साथ लुत्फ उठाने के लिए दिल्ली से बाहर जाने का कार्यक्रम बनाया था, उन्हें उसे रद्द करना पड़ा है। इससे पूरा परिवार दुखी है। मालूम हो दो अक्तूबर को नरेंद्र मोदी यह शपथ दिलाएंगे,‘मैं स्वच्छता के प्रति कटिबद्ध रहूंगा और इसके लिए समय दूंगा। मैं न तो गंदगी फैलाउंगा और न दूसरों को फैलाने दूंगा।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी जयंती के दिन देशवासियों को स्वच्छता अभियान को लेकर जो शपथ दिलाने का फैसला किया है, उससे केंद्र सरकार के कर्मचारी बेहद दुखी हैं। उस दिन नवमी है। कर्मचारियों को सुबह साढ़े 10 बजे दफ्तर पहुंचने का फरमान आ चुका है। इससे नवमी का व्रत पूरा होने पर कन्याओं को भोजन करवाने का काम नहीं हो पाएगा। एक सरकारी अफसर ने कहा कि यह कैसा न्याय है कि प्रधानमंत्री खुद अमेरिका में भी व्रत रख रहे हैं और हमें अपने देश में भी उसे पूरा नहीं करने दे रहे हैं। कर्मचारियों की नाराजगी की दूसरी वजह यह कि तमाम लोगों की छुट्टियां खराब हो गई हैं। मालूम हो कि दो अक्तूबर को गांधी जयंती, 3 को दशहरा, 4 को शनिवार और 5 को रविवार और 6 को बकरीद है। मौसम खुशनमा होन के कारण बड़ी संख्या में इन लोगों ने दिल्ली से बाहर जाने के लिए होटलों, रेल-हवाई यात्रा की बुकिंग करवा ली थी। अब सिर्फ वे ही लोग बाहर जा सकेंगे जिन्होंने 25 सितंबर तक अपनी छुट्टी स्वीकृत करवा ली थी। बाकी सबको दो अक्तूबर को दफ्तर आना पड़ेगा।

प्रधानमंत्री एक सार्वजनिक कार्यक्रम में यह शपथ दिलाएंगे। सरकार ने सभी सरकारी कर्मचारियों और लोगों से इसी तरह शपथ लेने की अपील की है। ‘स्वच्छ भारत’ अभियान के शुभारंभ के अवसर पर वे कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले हैं। वह यहां एक वाल्मीकि कालोनी जाएंगे जहां वे एक मंदिर में पूजा कर सफाई अभियान में हिस्सा लेंगे। वह वहां एक सार्वजनिक शौचालय जनता को समर्पित करेंगे। इसके बाद इंडिया गेट पर एक कार्यक्रम में पेयजल और स्वच्छता मंत्री नितिन गडकरी और शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू भी हिस्सा लेंगे।

राजधानी के साउथ ब्लाक, नार्थ ब्लाक और शास्त्री भवन स्थित केंद्र सरकार के सभी कार्यालय बुधवार दोपहर बाद दो बजे दिन ही बंद हो जाएंगे। इनके अलावा रेल भवन, श्रम शक्ति भवन, उद्योग भवन, निर्माण भवन और विज्ञान भवन में स्थित कार्यालय भी जल्दी बंद हो जाएंगे। कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग की ओर से जारी एक आदेश में यह जानकारी दी गई है। आदेश के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से गुरुवार को देशव्यापी स्तर पर शुरू किए जाने वाले ‘स्वच्छ भारत’ अभियान के इंतजाम के सिलसिले में उक्त कार्यालय बंद रहेंगे। ये कार्यालय दोपहर दो बजे से लेकर दो अक्तूबर को सुबह साढ़े दस बजे तक बंद रहेंगे। सीएसआइआर भवन, भारतीय रिजर्व बैंक, योजना भवन, राष्ट्रीय अभिलेखागार, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र, नेशनल मीडिया सेंटर, जवाहर भवन, वायु सेना भवन, सेना भवन, राष्ट्रीय संग्रहालय, विज्ञान भवन एनेक्सी, कृषि मंत्रालय डीआरडीओ, रक्षा भवन, नेशनल स्टेडियम, हैदराबाद हाउस और तट रक्षक मुख्यालय में स्थित कार्यालय भी बुधवार को जल्दी बंद हो जाएंगे।

आदेश में कहा गया है कि राष्ट्रपति भवन और संसद भवन स्थित सरकारी कार्यालय रात दस बजे से लेकर दो अक्तूबर की सुबह साढ़े दस बजे तक बंद रहेंगे। सरकार ‘स्वच्छ भारत’अभियान में व्यापारिक घरानों, गैर सरकारी संगठनों को शामिल करेगी कैबिनेट सचिव अजित सेठ ने सभी मंत्रालयों को भेजे एक परिपत्र में कहा है कि इस स्तर के अभियान की सफलता के लिए यह जरूरी है कि घर, दफ्तर, स्कूल, कालेज, अस्पताल, सड़कें, गली-मोहल्ला, बाजार, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, नदी, तालाब, पार्क और अन्य सार्वजनिक स्थलों की साफ-सफाई के लिए व्यापक जागरूकता पैदा की जाए और भागीदारी सुनिश्चित की जाए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App