ताज़ा खबर
 

‘व्यापमं घोटाले में गंगा के समान पवित्र हैं शिवराज’

मध्यप्रदेश के भाजपा अध्यक्ष सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने व्यापमं घोटाले को लेकर आलोचना का सामना कर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तुलना गंगा की पवित्रता...

Author July 12, 2015 17:14 pm
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान।

मध्यप्रदेश के भाजपा अध्यक्ष सांसद नंदकुमार सिंह चौहान ने व्यापमं घोटाले को लेकर आलोचना का सामना कर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तुलना गंगा की पवित्रता से करते हुए कहा है कि वह ‘गंगा के समान पवित्र’ हैं और सीबीआई जांच में सब ‘दूध का दूध और पानी का पानी’ हो जाएगा।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चौहान ने कहा, ‘‘शिवराज सिंह चौहान ‘गंगा के समान पवित्र’ हैं और सीबीआई जांच में सब ‘दूध का दूध और पानी का पानी’ हो जाएगा’’।

उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री को बदनाम करने और उनकी छवि खराब करने के हर प्रयास से कांग्रेस और नीचे चली जाएगी और चौहान के नेतृत्व में भाजपा लगातार चौथी बार 2018 में इस प्रदेश में अपनी सरकार बनाएगी’’।

चौहान ने कहा कि वह (मुख्यमंत्री) इस प्रदेश के जननायक बने रहेंगे। उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री चौहान ही थे, जिन्होंने 2012-13 में व्यापमं घोटाला सामने आने के बाद इसकी जांच की पहल की। जब इंदौर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक ने इस बारे में सरकार को जानकारी उपलब्ध कराई थी तब चौहान ने ही मामले की गहराई से जांच करने और दोषियों को दण्डित करने का आदेश दिया था।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि व्यापमं बनने के बाद से उसके जरिए अब तक व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश और सरकारी नौकरियों में कुल सात लाख भर्तियां हो चुकी हैं और इसमें से केवल 2500 प्रवेश एवं भर्तियों में अनियमिताएं पाई गई हैं।

कांग्रेस द्वारा इस बारे में हुई मौतों को लेकर कथित राजनीति किए जाने की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ‘राई का पहाड़’ बना रही है, क्योंकि एसटीएफ द्वारा जांच शुरू करने से पहले तक 15 मौतें हुई थीं और सात जुलाई 2013 को एसटीएफ के गठन के बाद 16 और आरोपियों अथवा गवाहों की मौत हुई है। इनमें से कुछ लोग दुर्घटना, कुछ हृदयाघात, तो कुछ अन्य कारणों से मरे हैं।’’

चौहान ने कहा, ‘‘कांग्रेस का ‘खेल झूठ का खेल’ है और सीबीआई जांच से व्यापमं घोटाले का सच सामने आ जाएगा।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने गत 9 जुलाई को इस संबंध में दायर याचिकाओं की सुनवाई करते हुए राज्य सरकार के भी आग्रह पर व्यापमं घोटाला और इस दौरान हुई मौतों की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं, लेकिन उसके बाद भी एक अन्य गवाह की मौत सामने आई है।

दूसरी ओर कांग्रेस का दावा है कि घोटाले से संबंधित 49 आरोपी एवं गवाहों की अब तक मौत हो चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App