ताज़ा खबर
 

VVIP हेलिकॉप्टर घोटाला: पूर्व एयरफोर्स चीफ त्यागी को हाईकोर्ट ने नहीं जाने दिया इंडोनेशिया, कहा- आरोपी हमेशा विदेश क्यों जाना चाहता है

Agusta Westland VVIP chopper scam case: त्यागी और मामले में आरोपी दो अन्य शख्स की जमानत अर्जी के खिलाफ सीबीआई की याचिका पर सुनवाई कर रहे कोर्ट ने कहा, "आप (त्यागी) इस मामले में ट्रायल का सामना कर रहे हैं और स्पेशल ट्रीटमेंट में ले रहे हैं।

Author नई दिल्ली। | May 30, 2017 8:26 PM
पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्‍यागी के विदेश जाने पर लगाई रोक। (फाइल फोटो)

दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार को अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले मामले में मुख्य आरोपी इंडियन एयरफोर्स के पूर्व चीफ एसपी त्यागी के विदेश जाने संबंधी आदेश पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के उस आदेश पर रोक लगाई, जिसमें त्यागी को इंडोनेशिया जाने की इजाजत दी गई थी। हाईकोर्ट के जस्टिस आईएस मेहता ने त्यागी को दिए ‘स्पेशल ट्रीटमेंट’ (विशेष उपचार) की निंदा की। उन्होंने कहा, “मुझे समझ नहीं आता है कि क्यों आरोपी हमेशा विदेश जाना चाहता है। क्यों त्यागी को विशेष उपचार दिया जाना चाहिए।” कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले पर 12 जुलाई तक के लिए रोक लगा दी है। कोर्ट सीबीआई की इस दलील से सहमत हो गई कि पूर्व वायुसेना प्रमुख जमानत पर है और मामले में चल रही जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

त्यागी और मामले में आरोपी दो अन्य शख्स की जमानत अर्जी के खिलाफ सीबीआई की याचिका पर सुनवाई कर रहे कोर्ट ने कहा, “आप (त्यागी) इस मामले में ट्रायल का सामना कर रहे हैं और स्पेशल ट्रीटमेंट ले रहे हैं। ये क्या है? 12 जुलाई तक आप यात्रा नहीं करेंगे। इस समय तक ट्रायल कोर्ट का फैसले पर रोक लगाई जाती है।” हाई कोर्ट की ओर से यह अंतरिम आदेश ट्रायल कोर्ट के उस आदेश पर आया है, जिसमें 24 मई को त्यागी को विदेश जाने की अनुमति दी गई थी। सीबीआई ने इसके खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में आरोपी पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्‍यागी को पिछले साल दिंसबर में पटियाला हाउस कोर्ट ने जमानत दे दी थी। त्‍यागी को अगस्‍ता वेस्‍टलैंड वीवीआईपी चॉपर डील में घूस मामले में गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने त्‍यागी को दो लाख रुपये के मुचलके पर जमानत दी थी। त्‍यागी को सीबीआई ने नौ दिसंबर को गिरफ्तार किया था। उनके साथ ही गौतम खेतान और संजीव त्‍यागी उर्फ जूली त्‍यागी को भी गिरफ्तार किया गया था। सीबीआई ने बताया था कि तीनों को अवैध व भ्रष्‍ट तरीकों के जरिए दबाव डालकर अवैध फायदा लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। संजीव त्‍यागी पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्‍यागी के चचेरे भार्इ हैं। वहीं गौतम खेतान त्‍यागी के भाई हैं। छह साल पुराने अगस्‍ता वेस्‍टलैंड केस में इस कंपनी को ठेका दिलाने के लिए घूस लेने का मामला सामने आया था।

 

चर्चा: 3600 करोड़ रुपए की अगस्ता वेस्टलैंड डील में एसपी त्यागी की गिरफ्तारी के मायने

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App