ताज़ा खबर
 

आधार की तरह अब आप पीडीएफ़ वोटर आईडी कार्ड भी कर सकते हैं डाउनलोड, ये है आसान तरीका

e-EPIC सुविधा का इस्तेमाल कर अब आप घर बैठे अपने वोटर आईडी की पीडीएफ कॉपी या सॉफ्ट कॉपी आप अपने मोबाइल फोन या पर्सनल कंप्यूटर पर डाउनलोड कर सकते हैं।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: January 25, 2021 11:07 AM
voter id card pdf, download voter id card online, Digital voter ID card download, digital voter id, Digital voter card download,वोटर आईडी। (file)

अपने आधार कार्ड की तरह अब आप अपना मतदाता पहचान पत्र (Voter ID Card) भी ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। इसकी शुरुआत निर्वाचन आयोग सोमवार शुरू करने जा रहा है। e-EPIC सुविधा का इस्तेमाल कर अब आप घर बैठे अपने वोटर आईडी की पीडीएफ कॉपी या सॉफ्ट कॉपी आप अपने मोबाइल फोन या पर्सनल कंप्यूटर पर डाउनलोड कर सकते हैं।

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों के मुताबिक ई-वोटर आईडी कार्ड को डिजिटल लॉकर में भी सुरक्षित रख पाना मुमकिन होगा। साथ ही डिजिटल फॉर्मेट में इसे प्रिंट भी किया जा सकेगा। इसको डाउनलोड करने का तरीका बेहद आसान है। जैसे आप UIDAI की वेबसाइट से आधार कार्ड डाउनलोड कर लेते हैं, वैसे ही चुनाव आयोग की साइट से अपना डिजिटल वोटर आईडी डाउनलोड कर सकेंगे।

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा है कि मौजूदा वक्त में वोटर आईडी की प्रिंटिंग और लोगों तक उसके पहुंचने में समय लगता है। वहीं, इस नई सुविधा की शुरुआत के बाद लोग आसानी से अपना मतदाता पहचान पत्र डाउनलोड कर पाएंगे। आज के समय में आधार कार्ड, पैन कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़ी अधिकतर सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध हैं।

चुनाव आयोग दो चरणों में यह सुविधा लॉन्‍च कर रहा है। पहले चरण यानी 25 जनवरी से 31 जनवरी के बीच, केवल नए वोटर्स जिन्‍होंने वोटर कार्ड्स के लिए अप्‍लाई किया है और जिनका मोबाइल नंबर चुनाव आयोग के पास रजिस्‍टर्ड है, वही डिजिटल वोटर आईडी डाउनलोड कर पाएंगे।

1 फरवरी से सभी वोटर्स अपनी आईडी की डिजिटल कॉपी डाउनलोड कर सकेंगे बशर्ते उनका मोबाइल नंबर चुनाव आयोग से लिंक हो। जिनका मोबाइल नंबर कमिशन के साथ लिंक नहीं है, उन्‍हें EC को अपनी डीटेल्‍स री-वेरिफाई करानी होंगी और मोबाइल नंबर लिंक कराना होगा। तभी वह वोटर आईडी डाउनलोड कर पाएंगे।

डिजिटल वोटर आईडी कार्ड्स भी आधार की तरह PDF फॉर्मेट में होंगे। इन्‍हें डिजिटल लॉकर में भी सुरक्षित रख पाना मुमकिन होगा। साथ ही डिजिटल फॉर्मेट में इसे प्रिंट भी किया जा सकेगा। डिजिटल वोटर आईडी कार्ड्स पर एक सिक्‍योर्ड QR कोड होगा जिसमें तस्‍वीरें और डिमॉग्रैफिक्‍स होंगी ताकि उन्‍हें डुप्‍लीकेट न किया जा सके।

Next Stories
1 राकेश टिकैत ने कहा, यूपी और अन्य राज्यों में पुलिस-प्रशासन बरत रहा किसानों पर सख्ती, नोटिस और दबिश से दबाव की कोशिश
2 भारत-चीन के बीच नौंवे दौर की वार्ता भी विफल, पर नई दिल्ली की दो टूक- पीछे तो हर हाल में हटना होगा
3 कोरोना-काल में 11 धनकुबेरों की कमाई दस साल तक स्वास्थ्य मंत्रालय चलाने के लिए काफ़ी, अप्रिल में हर घंटे 1.70 लाख लोगों की रोजी गई: ऑक्सफैम
ये पढ़ा क्या?
X