ताज़ा खबर
 

वीडियो: सिंघु बॉर्डर पर दीवार का निर्माण, किसानों ने बनाई किचन; अस्थाई हॉस्पिटल भी बन रहा

स्वयंसेवी संगठनों ने आगे आकर दिल्ली के सिंघु बार्डर पर बीच सड़क पर एक कम ऊंचाई की दीवार बना दी है। इसके बगल में बड़ा से टेंट शेड लगवाकर अस्थायी किचन की व्यस्था की है। यहां गड्डा खोदकर चूल्हा बनाया गया है। इसमें दर्जनों महिलाएं दिन रात आंदोलनकारी किसानों के लिए खाना पका रही है।

farmer protestदिल्ली के सिंघु बार्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के लिए बनाया गया अस्थायी किचन (फोटो-टीवी ग्रैब)

कृषि कानूनों को लेकर किसानों और सरकार के बीच गतिरोध को दूर करने के लिए अभी किसी निर्णायक फैसले पर नहीं पहुंचा जा सका है। इसकी वजह से आंदोलनरत किसान संगठन और उनके किसान सिंघु बार्डर समेत दिल्ली की सभी सीमाओं पर डटे हुए हैं। भीषण ठंड और बारिश के चलते किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

इसको देखते हुए कुछ स्वयंसेवी संगठनों ने आगे आकर दिल्ली के सिंघु बार्डर पर बीच सड़क पर एक कम ऊंचाई की दीवार बना दी है। इसके बगल में बड़ा से टेंट शेड लगवाकर अस्थायी किचन की व्यस्था की है। यहां गड्डा खोदकर चूल्हा बनाया गया है। इसमें दर्जनों महिलाएं दिन रात आंदोलनकारी किसानों के लिए खाना पका रही है। दीवार पर बैठकर और सामान रखकर लोग खाना खा रहे हैं। लंगर चल रहा है। इसकी व्यवस्था करने वाले संदीप सिंह ने बताया कि लोगों की दिक्कतों को देखते हुए ऐसा किया गया है।

इसी तरह अमेरिका के न्यूजर्सी में कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. स्वेमान सिंह ने बीमार और गंभीर रूप से पीड़ित मरीजों के लिए इलाज की व्यवस्था की है। वे स्वयं यहां उपस्थित होकर इलाज कर रहे हैं। एक स्वयंसेवी संस्था लाइफ केयर फाउंडेशन की ओर से हाल ही में वहां मेडिकल कैंप का आयोजन किया गया था।

फिलहाल वहां कुछ संस्थाओं के माध्यम से दो बिस्तरों वाले अस्पताल बनवाया जा रहा है। यहां मौजूद फार्मासिस्ट सादिक मोहम्मद ने बताया कि बारिश की वजह से थोड़ी देरी हुई है, लेकिन अब वाटर प्रूफ टेंट लगाकर अस्पताल शुरू किया जा रहा है। इसमें ईसीजी जांच से लेकर सभी तरह के प्राथमिक इलाज की सुविधा होगी। हृदय रोग पीड़ितों के लिए खास तौर पर व्यवस्था की जा रही है।

अस्पताल में फार्मासिस्ट तकनीकी सहायकों सहित आठ स्वयंसेवक हैं। इनमें से पांच टेंट में सोते हैं जबकि तीन स्वयंसेवक पास में ही पीजी में रहते हैं। स्वयंसेवक अवतार सिंह ने बताया कि बुधवार से कैंप में ईसीजी की सुविधा शुरू कर दी गई है। बारिश की वजह से कुछ दिक्कतें आई हैं। दवाइयों के 6 बॉक्स खराब हो गए हैं। दो बिस्तरों वाला अस्पताल 24 घंटे काम करेगा, जहां 2 डॉक्टर मरीजों की निगरानी करेंगे। उधर, कई फिल्मों में काम कर चुकीं अभिनेत्री सोनिया मान ने बहादुरगढ़ में किसान महिलाओं के लिए टेंट लगवाए हैं। इससे महिला आंदोलनकारियों को काफी राहत है।

Next Stories
1 वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के एक समूह की DCGI से मांग, कोरोना वैक्सीनों को दी गई इजाजत वापिस ली जाए
2 संब‍ित पात्रा का तंज- टोटी से वैक्‍सीन ली‍ज‍िए, पत्‍ते पहन कर गुफा में रह‍िए, सपा प्रवक्‍ता का जवाब- गांजा पीकर मत बोलो
3 Kerala Akshaya Lottery AK-479 Today Results: 70 लाख का इनाम लगा इस टिकट नंबर को, ऐसे देख पाएंगे पूरा रिजल्ट
ये पढ़ा क्या?
X