ताज़ा खबर
 

NIT छात्रों से मिलने जा रहे अनुपम खेर को J&K पुलिस ने श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोका

31 मार्च को टी20 वर्ल्‍ड कप फाइनल में भारत की हार के बाद कथित तौर पर हिंदुस्‍तान मुर्दाबाद और पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने को लेकर विवाद खड़ा हो गया था, तभी से एनआईटी श्रीनगर में तनाव बना हुआ है।

Author श्रीनगर | April 10, 2016 10:10 PM
अनुपम खेर को लेकर जाते जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलिस अधिकारी।

एनआईटी श्रीनगर जा रहे बॉलीवुड एक्‍टर अनुपम खेर को रविवार को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक दिया गया। जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के अधिकारियों ने उनसे कहा कि वह NITSrinagar का दौरा न करें। अनुपम खेर ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘अगर वे कहते हैं कि यह लॉ एंड ऑर्डर सिचुएशन है तो मैं कहना चाहूंगा कि लाखों लोग यूनिवर्सिटी जाते हैं, यह सार्वजनिक स्‍थल है, वे मुझे क्‍यों रोक रहे हैं।” उन्‍होंने कहा, ‘मैं वहां समस्‍या पैदा करने नहीं जा रहा था, बल्कि NITSrinagar छात्रों को सपोर्ट करने जा रहा था। आपको बता दें कि अनुपम खेर भी कश्‍मीरी मूल के हैं और कई बार कश्‍मीरी पंडितों का मुद्दा उठाते रहे हैं।

Read Also: NIT Srinagar छावनी में तब्‍दील, 1500 छात्रों की सुरक्षा के लिए 600 जवान तैनात

31 मार्च को टी20 वर्ल्‍ड कप फाइनल में भारत की हार के बाद कथित तौर पर हिंदुस्‍तान मुर्दाबाद और पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने को लेकर विवाद खड़ा हो गया था। एनआईटी में पढ़ रहे गैर कश्‍मीरी छात्रों ने सुरक्षा के चिंता जाहिर करते हुए उन्‍हें शिफ्ट करने की मांग की थी, जिसके बाद जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया था। गैर कश्‍मीरी छात्रों ने आरोप लगाया था कि पुलिस ने हॉस्‍टल में घुसकर छात्रों को बुरी तरह पीटा। फिलहाल कैंपस से पुलिस को हटा दिया गया है और सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किए गए हैं।

NITSrinagar में तिरंगा फहराने गए लोगों को वापस भेजा: एनआईटी विवाद के विरोध में श्रीनगर में झंडा फहराने की जिद पर अड़े भगत सिंह क्रांति सेना के अध्यक्ष तेजिंदर पाल सिंह बग्गा और उनके समर्थकों को जम्मू कश्मीर पुलिस ने वापस दिल्ली भेज दिया है। दिल्ली से तिरंगा लेकर शनिवार को श्रीनगर के लिए रवाना हुए करीब डेढ़ सौ छात्रों को पुलिस ने जम्मू-कश्मीर की सरहद में घुसने से रोक दिया था। तेजिंदर पाल और उनके साथी कार्यकर्ताओं को लखनपुर-माधोपुर बॉर्डर पर रोका गया और पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। ये लोग रातभर लखनपुर में रहे और रविवार सुबह पुलिस ने इन्हें वापस दिल्ली भेज दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App