ताज़ा खबर
 

वकील ने कहा- बैंकॉक और ह‍िल स्‍टेशंस में व‍िश्‍वास के साथ जाने के बावजूद राम रहीम के कमरे में रहती थी हनीप्रीत

बलात्कारी बाबा राम रहीम और उसकी गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत मामले में कुछ नई बातें सामने आई हैं।

Author Updated: August 30, 2017 9:55 AM
बलात्कारी बाबा राम रहीम सिंह के साथ उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत।

बलात्कारी बाबा राम रहीम और उसकी गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत मामले में कुछ नई बातें सामने आई हैं। चंडीगढ़ के वकील एमएस जोशी ने बताया कि वो साल 1999 में वेलेंटाइन का दिन जब डेरा प्रमुख ने अपनी बेटी प्रियंका तनेजा की शादी विश्वास गुप्ता से सिरसा में कराई थी। ये शादी बहुत सामान्य ढंग से हुई थी। दोनों ने महज फूलों के हार एक दूसरे के गले में डालकर शादी की औपचारिकता को पूरा किया। बाद में राम रहीम ने प्रियंका तनेजा को बेटी के रूप में गोद ले लिया और उसका नाम बदलकर हनीप्रीत रख दिया। शुक्रवार को हनीप्रीत ही राम रहीम के परिवार की ऐसी अकेली सदस्य थीं जो राम रहीम के साथ सीबीआई कोर्ट गई थीं। यहां राम रहीम को रेप का दोषी ठहराया गया। इसके बाद हनीप्रीत बाबा की सहायक बनकर उसके साथ हेलीकॉप्टर में बैठकर जेल भी गईं थीं।

बता दें कि एमएस जोशी वही वकील हैं जिन्होंने सिरसा दहेज मामले में विश्वास गुप्ता को जमानत दिलवाई थी। वकील एमएस जोशी ने आगे बताया कि बाद में विश्वास को पत्नी हनीप्रीत के साथ बैंकॉक और भारत के हिल स्टेशनों में ले जाया गया। लेकिन इस दौरान हनीप्रीत बाबा के कमरे में ही ठहरती थीं। साल 2011 में भी हनीप्रीत कोडैकनल होटल में राम रहीम के साथ रुकी थीं। जून में विश्वास गुप्ता ने हनीप्रीत को राम रहीम के साथ आपत्तिजनक हालत में देखा। ये जगह सिरसा में थी। बाद में राम रहीम ने विश्वास को बुरी तरह पीटा था। और मुंह बंद रखने की धमकी थी।

जोशी के अनुसार शादी के 11 साल बाद विश्वास जून में डेरा से निकलकर अपने परिवार के साथ पंचकूला के सेक्टर-15 में चले गए। इसके बाद राम रहीम के कुछ लोगों ने विश्वास पर कड़ी नजर रखना शुरू कर दिया। विश्वास अक्टूबर में अपनी सुरक्षा के लिए पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट पहुंचे, जहां पर उन्होंने डेरा प्रमुख और हनीप्रीत के बीच अवैध संबंध होने का आरोप लगाया। इसके बाद डेरा ने अपनी चाल चली। हनीप्रीत ने शादी के 11 साल बाद विश्वास पर 2 लाख रुपए का दहेज मांगने का आरोप लगाया। जोशी बोलो कि विश्वास गुप्ता के पास काफी सारी प्रॉपर्टी है और उनके पिता को बहुत से रिटायरमेंट बेनेफिट भी मिलते हैं, फिर वो दो लाख रुपए क्यों मांगेंगे?

कुछ समय बाद विश्वास के ऊपर गुजरात और राजस्थान में चेक बाउंस होने के मामले में एफआईआर भी दर्ज की गई। कोर्ट में दी गई विश्वास की याचिका के अनुसार उनकी 11 कनाल की पुस्तैनी जमीन को भी जबरदस्ती डेरा के नाम करवा लिया गया। आखिरकार गुप्ता परिवार डेरा से लड़ते-लड़ते थक गया। इसके बाद विश्वास गुप्ता ने डेरा प्रमुख से माफी मांगी और फिर सभी कोर्ट केस आपसी सहमति से खारिज किए गए। इस समय विश्वास दूसरी शादी कर चुके हैं और हरियाणा के पानीपत में अपने परिवार के साथ एक सुखी जीवन बिता रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 PAN Card से आधार कार्ड लिंक करने की आखिरी तारीख बढ़ी, ऐसे करें लिंक
2 2002 के दंगों में क्षतिग्रस्त धार्मिक स्थलों को फिर से ना बनाए गुजरात सरकार, सुप्रीम कोर्ट का आदेश
3 राम रहीम को जेल पहुंचाने वाली महिला सामने आई, बोली- ना उस दिन डरी थी, ना अब डर रही हूं
जस्‍ट नाउ
X