ताज़ा खबर
 

Visakhapatnam LG Polymers Gas Leakage: कैंसर देने से लेकर देखने-सुनने की ताकत छीन सकता है, जानें- क्या है स्टीरिन गैस जिसने लील ली 10 जिंदगियां

Visakhapatnam LG Polymers Gas Leakage: स्टायरिन गैस का इस्तेमाल प्लास्टिक, पेंट, टायर जैसी चीजें बनाने के दौरान किया जाता है। इस गैस का इंसान पर बुरा असर पड़ता है। अगर इस गैस का इंसार की शरीर में प्रवेश हो जाए तो आंखों में जलन, सांस लेने में तकलीफ, बेहोशी और उल्टी जैसे परेशानियां होने लगती हैं।

Vizag, Gas Leak , 10 Deaths,आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में स्थित आरआर वेंकटपुरम गांव में गुरुवार सुबह एक केमिकल यूनिट में हुए गैस लीक से कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई।

आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में गुरुवार की सबुह मौत लेकर आई। राज्य के विजाग में गुरुवार तड़के एक केमिकल यूनिट में गैस रिसाव के बाद कम से कम 10 लोगों की जान चली गई और 300 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। एनडीआरएफ के डीजी  के मुताबिक विशाखापत्तनम की घटना स्टायरिन गैस के रिसाव के चलते हुई है। ये एक रंगहीन तरल पदार्थ जैसा होता है। हालांकि कुछ इसके सैंपल पीले रंग के भी होते हैं।

रिपोर्टस के मुताबि फैक्ट्री के 3 किलोमीटर के दायरे में एक हजार से ज्यादा लोगों की तबियत खराब हुई है। चश्मदीदों के मुताबिक, उन्होंने कई लोगों को जमीन पर गिरे हुए देखा। पुलिस का कहना है कि गैस रिसाव को बंद कर दिया गया। एनडीआरएफ की टीम तुरंत स्पॉट पर पहुंची। इस गैस लीक का असर ज्यादा से ज्यायदा 1-1.5 किमी तक ही रहा। लेकिन गैस की गंध 2-2.5 किमी तर महसूस की गई।

कितनी  खतरनाक होती है स्टायरिन गैस: स्टायरिन गैस का इस्तेमाल प्लास्टिक, पेंट, टायर जैसी चीजें बनाने के दौरान किया जाता है। इस गैस का इंसान पर बुरा असर पड़ता है। अगर इस गैस का इंसार की शरीर में प्रवेश हो जाए तो आंखों में जलन, सांस लेने में तकलीफ, बेहोशी और उल्टी जैसे परेशानियां होने लगती हैं। इतना ही नहीं यह गैस घातक साबित हो सकती है, यह इंसान के नर्वस सिस्टम पर भी असर डालती हैं। स्टायरिन को एथेनिलबेनजीन, विनालेनबेन्जिन और फेनिलिथीन के रूप में भी जाना जाता है। यहां तक की यह देखने और सुनने की क्षमता तक छीन सकता है।

इस गैस के इंसान  फेफड़ों में जाने पर फेफड़े सही से काम नहीं करते हैं और सास लेने में  परेशानी के चलते आदमी दम तोड़ देता है। इतना ही नहीं इस गैस के शिकार हुए लोगों की प्रजनन क्षमता और शारीरिक विकास पर बुरा असर डालती है। इतना ही नहीं यह गैस खून और त्वचा के कैंसर का भी कारण बनती है।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: शराब पर टैक्स राज्यों के लिए क्यों है अहम? जानें, क्या है इसका अर्थशास्त्र और यूपी से तमिलनाडु तक किसे कितनी कमाईशराब से रोज 500 करोड़ की कमाई, केजरीवाल सरकार ने 70 फीसदी ‘स्पेशल कोरोना फीस’ लगाईलॉकडाउन के बाद मेट्रो और बसों में सफर पर तैयार हुईं गाइडलाइंस, जानें- किन नियमों का करना होगा पालनभारत में कोरोना मरीजों की संख्या 40 हजार के पार, वायरस से बचना है तो इन 5 बातों को बांध लीजिये गांठ…कोरोना से जंग में आयुर्वेद का सहारा, आयुर्वेदिक दवा के ट्रायल को मिली मंजूरी

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आयुर्वेद से होगा कोरोना का इलाज? स्वास्थ्य मंत्री बोले- खतरे वाली जगहों पर काम कर रहे लोगों पर किया जाएगा अश्वगंधा जैसी चार दवाओं का ट्रायल
2 Covid-19 मुंबई पुलिस पर कोरोना का कहर, 250 पुलिसकर्मी पाए गए पॉजिटिव
3 एयरफोर्स के MI-17 लड़ाकू हेलीकॉप्टर की सिक्किम में इमरजेंसी लैंडिग, 4 जवान थे सवार और एक हुआ घायल
ये पढ़ा क्या?
X