ताज़ा खबर
 

वायरलः उत्तराखंड के मंत्री ने पैर के अंगूठे में लटकाया मास्क तो कांग्रेस ने कसा तंज, कहा-गरीबों पर ही चलता है जोर

उत्तराखंड के एक मंत्री अपने पैर के अंगूठे में मास्क लटकाए मीटिंग में बैठे हुए नजर आए।

उत्तराखंड सरकार में मंत्री अपने पांव के अंगूठे में मास्क लटकाए दिखे। (फोटो-ट्विटर)।

ऐसे वक्त में जब विशेषज्ञ कोविड की तीसरी लहर की चेतावनी के बीच सख्त सावधानी बरतने की गुजारिश कर रहे हैं, उत्तराखंड के एक मंत्री अपने पैर के अंगूठे में मास्क लटकाए मीटिंग में बैठे हुए नजर आए। मंत्री की यह तस्वीर अब वायरल हो गई है।

उत्तराखंड की भाजपा सरकार में राज्य मंत्री यतीश्वरानंद बिना मास्क के फोटो में अकेले नहीं हैं। बैठक में चार अन्य हैं जिन्होंने कि मास्क नहीं पहना है। मास्क न पहनने वालों में मंत्री बिशन सिंह चुफल और सुबोध उनियाल शामिल हैं। कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने मामले पर ट्वीट किया, “यह सत्ताधारी पार्टी के मंत्रियों की गंभीरता है। और फिर वे गरीब लोगों को मास्क न पहनने की सजा देते हैं।” उन्होंने सवाल किया कि अप्रैल-मई में कोविड की दूसरी लहर में लाखों लोगों को नुकसान हुआ या उनकी जान चली गई, जब मंत्री जनता को क्या संदेश दे रहे थे।

एक अन्य कांग्रेस नेता, पंकज पुनिया ने मंत्री का मजाक उड़ाते हुए कहा: “यह मास्क का उपयोग करने का सही तरीका है।” आम आदमी पार्टी (आप) के एक नेता दीप प्रकाश पंत ने लिखा: “इस कैबिनेट मंत्री से सीखें उत्तराखंड में मास्क के लिए सही जगह कौन सी है।”

आप के प्रवक्ता अमरजीत सिंह रावत के हवाले से कहा गया कि स्वामी यतीश्वरानंद को माफी मांगनी चाहिए। बता दें कि दो महीने पहले उत्तराखंड सरकार की आलोचना कोविड से निपटने के लिए की गई थी। इस सप्ताह की शुरुआत में, राज्य ने कोविड के कारण कांवड़ तीर्थयात्रा रद्द कर दी।

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि अगर कोई कांवड़िया उत्तराखंड में प्रवेश करता है तो उसे 14 दिन के लिए पृथक-वास में भेजा जाएगा। कुमार ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा, ‘‘अगर कोई कांवड़िया हरिद्वार में प्रवेश करता है तो उसे 14 दिनों के लिए पृथक-वास में भेजने के लिए जिलाधिकारी हरिद्वार से निर्देश निकलवाकर स्थान चिन्हित कर लिए जाएं ।’’

उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कांवड़ मेले को स्थगित किए जाने के मद्देनजर संबंधित जिलाधिकारियों के साथ एसओपी तैयार करने के भी निर्देश दिए। कुमार ने कहा कि यदि कोई कांवड़िया सड़क पर दिखाई दे तो उसे बस या अन्य माध्यम से वापस भिजवाया जाए।

Next Stories
1 रायबरेली में साथ काम करेंगी स्‍मृत‍ि और सोन‍िया, गांधी को उपाध्‍यक्ष बना ईरानी को द‍िया गया अध्‍यक्ष का पद, जान‍िए मामला
2 सब्जी विक्रेता के जरिए आर्मी अफसर पाकिस्तान को भेज रहा था खुफिया दस्तावेज, हुई धरपकड़
3 अपने आर्डर को इंप्लीमेंट होने में लगे 4 दिन तो बिफरा SC,अब खुद देखेगा कि बेल मिलने पर भी क्यों नहीं छूटते कैदी
ये पढ़ा क्या?
X