ताज़ा खबर
 

विकास दुबे पर था पांच लाख का इनाम, जानिए कोई अपराधी कैसे बनता है इनामी? कौन तय करता है रकम?

अचानक सुर्खियां बंटोरने वाले विकास दुबे की मौत के बाद लोगों के मन में यह सवाल आ रहा है कि आखिर कोई अपराधी इनामी अपराधी कैसे बनता है। अपराधी पर इनाम की राशि कौन तय करता है। अपराधियों पर इनाम की राशि कैसे तय होती है?

Vikas Dubey, Kanpur, UP Police,विकास दुबे पर पुलिस ने इनामी रकम बढ़ाकर पांच लाख कर दी थी।

कानपुर एनकाउंटर के मुख्य अभियुक्त विकास दुबे पर पुलिस ने पांच लाख का इनाम रखा था। शुक्रवार को यूपी पुलिस ने विकास को एनकाउंटर में मार गिराया। 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद पुलिस विकास को तलाश रही थी। उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार किया गया। विकास दुबे को पुलिस वाहन के जरिए कानपुर लाया जा रहा था। इस दौरान उसकी गाड़ी पलट गई और वह पुलिस का हथियार छीनकर भागने लगा। उसने पुलिस पर फायरिंग भी इस दौरान पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में उसे मार गिराया।

अचानक सुर्खियां बंटोरने वाले विकास दुबे की मौत के बाद लोगों के मन में यह सवाल आ रहा है कि आखिर कोई अपराधी इनामी अपराधी कैसे बनता है। अपराधी पर इनाम की राशि कौन तय करता है। अपराधियों पर इनाम की राशि कैसे तय होती है? पैसा कहां से आता है और पकड़वाने पर इनाम कैसे मिलता है? इन सवालों के जवाब हम आपको इस खबर में बता रहे हैं…

दरअसल, कानून में किसी अपराधी पर इनाम घोषित करने का कोई प्रावधान नहीं है। प्रशासनिक प्रक्रिया को ध्यान में रखते हुए किसी भी बदमाश पर इनाम घोषित किया जाता है। कोई भी पुलिस अधिकारी इनाम की घोषणा कर सकता है। लेकिन सवाल ये है कि स्तर का अधिकारी इसकी घोषणा कर सकता है। एक तय सीमा तक थानाध्यक्ष, एसपी, डीआईजी, डीजीपी, इनाम की रकम की घोषणा कर सकते हैं। इनके पास एक वित्तीय एलॉटमेंट होता है जिसके तहत यह घोषणा की जाती है। लेकिन पुलिस राज्य सरकार के तहत आती है तो राज्य ही यह रकम तय करते हैं कि किसी भी अपराधी पर कितनी रकम की इनामी राशि घोषित की जाएगी।


ऐसा करने के पीछे का तर्क यह है कि कई बार इनामी अपराधी का साथी ही मुखबिर बन जाता है और पेसौं के लालच में अपराधी का पता बता देता है। कई मामलों में इनामी राशि का एलान भी पुलिस के मददगार साबित नहीं होता है।

इनामी अपराधी का पता बताने वाले को इनाम की रकम गुपचुप तरीके से दी जाती है। इस दौरान इसका ध्यान रखा जाता है कि जानकारी देने वाले की निजी जानकारी सार्वजनिक ना हो जिससे के अपराधी उसे नुकसान ना पुहंचा सके। पता बताने वाली की पहचान गुप्त रखी जाती है।

भारत में अपराधियों पर सबसे ज्यादा इनामी रकम की बात करें तो  सबसे ज्यादा लगभग ढाई करोड़ रुपये का इनाम मुफाला लक्षमण राव उर्फ गणपति पर रखा गया है। वहीं, दूसरे नंबर पर अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम है जिसपर 25 लाख रुपये का इनाम है।तीसरे नंबर पर वीरप्पन था जिसपर 20 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Vikas Dubey Encounter: काली पन्नी में रखी गई दुर्दांत गैंगस्टर की लाश, मां बोलीं- बेटे से नहीं कोई लेना-देना; बिकरू गांव हुआ ‘आजाद
2 मध्य प्रदेश के मंत्री की फिसली जुबान, प्रेस कॉन्फ्रेंस में PM, शिवराज और योगी आदित्यनाथ को बताया देश के लिए कलंक
ये पढ़ा क्या?
X