ताज़ा खबर
 

विजय माल्या भारत लाए जाने को लेकर आया वी. के. सिंह का बयान, कहा- आसान नहीं है भगोड़े व्यवसायी को पकड़ना

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी.के. सिंह ने मंगलवार को यहां कहा कि विजय माल्या का भारत लाना आसान मुद्दा नहीं है, फिर भी उन्होंने आश्वासन दिया कि भगोड़े शराब व्यवसायी को भारत लाया जाएगा।

Author नई दिल्ली | June 13, 2017 5:32 PM
केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी.के. सिंह

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी.के. सिंह ने मंगलवार को यहां कहा कि विजय माल्या का भारत लाना आसान मुद्दा नहीं है, फिर भी उन्होंने आश्वासन दिया कि भगोड़े शराब व्यवसायी को भारत लाया जाएगा। उन्होंने हालांकि, किंगफिसर के पूर्व मालिक को इंग्लैंड से भारत लाने की समय सीमा बताने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मंगलवार को ब्रिटेन में माल्या की प्रत्यर्पण प्रक्रिया की सुनवाई शुरू होगी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए प्रक्रिया की रूपरेखा तैयार कर रही है। प्रक्रिया पहले ही शुरू हो चुकी है। सिंह ने कहा, “भारत और ब्रिटेन के बीच एक संधि है। ब्रिटेन हमारे द्वारा प्रत्यर्पण संधि के तहत जमा किए गए दस्तावेजों की जांच कर रहा है।

मंत्री ने कहा कि माल्या को भारत लाने के लिए समय सीमा तय नहीं की जा सकती, क्योंकि विदेशी सरजमीं से किसी व्यक्ति की प्रत्यर्पण प्रक्रिया कहीं अधिक जटिल है। माल्या पर भारतीय बैंको का 9,000 करोड़ रुपये ऋण है। पिछले साल मार्च में वह भारत से फरार हो गया था, तब से ब्रिटेन में ही रह रहा है।

बीते माह ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शराब कारोबारी विजय माल्या के महाराष्ट्र के 100 करोड़ रुपये के मांडवा फार्महाउस को अपने कब्जे में ले लिया। ईडी के एक अधिकारी ने कहा कि रायगढ़ जिले के मांडवा में 17 एकड़ के फार्महाउस को ईडी ने 22 फरवरी को धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत कुर्क कर लिया था।

अधिकारी ने कहा, “फार्महाउस को खाली करने के लिए 25 अप्रैल को एक बेदखली नोटिस 25 करोड़ रुपये के रजिस्ट्री मूल्य के साथ जारी की गई थी। इस संपत्ति का मौजूदा बाजार मूल्य अनुमानित तौर पर 100 करोड़ रुपये है।”

माल्या की कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस पर 8,191 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है। यह कर्ज भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले 13 बैंकों के समूह ने दिया था। इसकी वसूली का दबाव पड़ने पर माल्या मार्च 2016 में लंदन भाग गए। उन्हें बीते महीने लंदन में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन बाद में जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App