ताज़ा खबर
 

वीडियोः बंदर ने दिखाई मेट्रो में कलाबाजी, डीएमआरसी स्टाफ के आने से पहले खुद हुआ चंपत

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को कहा, ''कल ब्लू लाइन पर यमुना बैंक से आई पी स्टेशन की ओर जारी रही ट्रेन में शाम करीब 4 बजकर 45 मिनट पर बंदर को देखा गया।

Edited By सचिन शेखर नई दिल्ली | June 20, 2021 8:00 PM
ब्लू लाइन मेट्रो की एक ट्रेन के डिब्बे में शनिवार को एक बंदर को देखकर यात्री चौक गए। (फोटो- वीडियो स्क्रीनशॉट्स)

दिल्ली मेट्रो के एक कोच में बंदर के इधर-उधर घूमने और फिर सीट पर बैठकर सफर करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। घटना शनिवार शाम हुई जब बंदर ब्लू लाइन मेट्रो की एक ट्रेन के डिब्बे में घुसकर इधर-उधर घूमने लगा, जिसे देखकर यात्री चौंक गए। शनिवार को यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें बंदर हैंडरेल बार पकड़कर लटकता दिख रहा है।

डीएमआरसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को कहा, ”कल ब्लू लाइन पर यमुना बैंक से आई पी स्टेशन की ओर जारी रही ट्रेन में शाम करीब 4 बजकर 45 मिनट पर बंदर को देखा गया। वह इधर-उधर घूमता रहा, जिसके बाद यात्रियों ने डीएमआरसी के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी। किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है और उसके बाद बंदर मेट्रो परिसर में दिखाई नहीं दिया।’’

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के नोएडा के सेक्टर 20 थाना क्षेत्र के सेक्टर 29 के गंगा शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में स्थित नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन (एनएमआरसी) के दफ्तर में शुक्रवार दोपहर में आग लग गयी थी जिसे शाम चार बजे तक बुझा दी गई थी। विभाग के एक अधिकारी ने बताया था कि करीब डेढ़ बजे लगी आग पर काबू पाने के लिये दमकल विभाग की 13 गाड़ियों को करीब ढाई घंटे तक मशक्कत करना पड़ा ।

उन्होंने बताया था कि जिस समय आग लगने की घटना हुयी थी उस वक्त कार्यालय में 50 से अधिक लोग काम कर रहे थे, जिन्हें सकुशल बाहर निकाल लिया गया है।

मुख्य दमकल अधिकारी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि थाना सेक्टर 20 क्षेत्र के सेक्टर 29 में स्थित एनएमआरसी के दफ्तर में शुक्रवार दोपहर को अज्ञात कारणों से आग लग गयी । उन्होंने बताया कि आग की वजह से तेज धुंआ निकल रहा था, जिससे आग बुझाने में दमकल विभाग के कर्मचारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Next Stories
1 त्रिपुराः पशु चोरी के आरोप में भीड़ ने की तीन लोगों की हत्या, केस दर्ज पर गिरफ्तारी नहीं
2 लक्षद्वीपः पटेल प्रशासन का प्रस्ताव-केरल के बजाए कर्नाटक HC करे कानूनी हितों की देखरेख
3 गाजियाबाद पर बोले आचार्य प्रमोद- 2022 के यूपी चुनाव को हिंदू-मुस्लिम करने के लिए ये बीजेपी का चक्रव्यूह, जो फंसेगा मारा जाएगा
ये पढ़ा क्या?
X