ताज़ा खबर
 

जामिया में इस तरह से हुई थी हिंसा की शुरुआत, यूनिवर्सिटी की वीसी नगमा अख्तर ने बताई पूरी कहानी

Citizenship Amendment Bill/Act (CAB/CAA) Protest Today LIVE Latest News Hindi, Delhi Jamia Nagar, Aligarh AMU University Latest News, CAB Protest Today Latest News, Delhi Police Latest News: जामिया के वीसी ने बताया है कि यूनिवर्सिटी के कई छात्रों को चोट लगी है और यूनिवर्सिटी के स्टाफ को भी चोट लगी है जिनका इलाज कराया जा रहा है।

Author Edited By Nishant Nandan Updated: December 16, 2019 12:25 PM
वीसी ने बताया कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी में दाखिल होने से पहले अनुमति नहीं ली थी। फोटो सोर्स – ANI

Citizenship Amendment Bill/Act (CAB, CAA) Protest Today in Delhi, Aligarh, Assam News: दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर नगमा अख्तर ने बताया है कि बीते रविवार (15-12-2019) को यूनिवर्सिटी में हंगामे की शुरुआत कैसे हुई? मीडिया से बातचीत करते हुए नगमा अख्तर ने कहा कि ‘ जामिया के चारों तरफ जो कॉलोनी है वहां से कॉल आया था मार्च करने के लिए, जब कुछ लोग यूनिवर्सिटी के सामने वाली सड़क से गुजरते हुए वहां गए तो वहां जाकर उनकी पुलिस से झड़प हुई। उस झड़प के बाद जब पुलिस ने उन्हें दौड़ाया तो वो दौड़ते हुए उसी सड़क से वापस आए और फिर वो विश्वविद्यालय का गेट तोड़ते हुए अंदर दाखिल हो गए और उन्होंने वहां तैनात गार्ड को भी धक्का दिया।

इसके बाद इनमें से कुछ लोग जामिया की लाइब्रेरी (पुस्तकालय) में घुस गए… पुलिस भी इनके पीछे दौड़ती हुई लाइब्रेरी के अंदर घुस गई…लाइब्रेरी में हमारे (यूनिवर्सिटी के) छात्र पहले से बैठे हुए थे लेकिन पुलिस यह नहीं समझ पाई कि इनमें से वो कौन से छात्र हैं जिनका वो पीछा कर रही थी? और वो कौन से छात्र हैं जो पहले से यहां पढ़ रहे थे?…इसलिए वैसे छात्र जो सही थे और पहले से अंदर बैठे हुए थे उनके साथ भी मारपीट हुई है…और उन सब का इलाज जामिया कर रहा है इन सब के इलाज की जिम्मेदारी हमारी है।

नगमा अख्तर ने बताया कि उस वक्त इतना अफरातफरी और भाग-दौड़ का माहौल था कि पुलिस को इतना भी वक्त नहीं मिला की वो यूनिवर्सिटी प्रशासन से अनुमति लेकर अंदर दाखिल हो…अगर पुलिस के पास इतना वक्त होता तो हम अपने प्रॉक्टर को साथ भेजते जिससे की उन छात्रों की पहचान हो पाती जो बाहर से लाइब्रेरी में आए थे…लेकिन पुलिस ने अंदर दाखिल होने से पहले विश्वविद्यालय प्रशासन से अनुमति नहीं ली थी।

जामिया के वीसी ने बताया है कि यूनिवर्सिटी के कई छात्रों को चोट लगी है और यूनिवर्सिटी के स्टाफ को भी चोट लगी है जिनका इलाज कराया जा रहा है।

नगमा अख्तर ने कहा कि इस हंगामे में यूनिवर्सिटी के प्रॉपर्टी को काफी नुकसान पहुंचा है।

कहीं खून से लथपथ छात्र तो कहीं लाठियों से जूझती लड़कियां, ये तस्वीरें पुलिस पर उठा रहीं सवाल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 श्री राम पर रिसर्च के लिए 30 लाख रुपए दे रही आदित्य नाथ सरकार; इटली, इराक और होंडुरास जाकर होगा अध्ययन
2 ‘पहले हिंसा रुके, उसके बाद करेंगे सुनवाई’, जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने की टिप्पणी
3 CAA विवादः लखनऊ तक पहुंची JMI हिंसा की आंच, छात्रों ने खाली किए हॉस्टल! 5 जनवरी तक नदवा बंद
ये पढ़ा क्या?
X