ताज़ा खबर
 

“कपिल सिब्बल भाई दम हो तो रोक लो, 4 महीने में आसमान को छूता हुआ राम मंदिर बनने वाला है”, अमित शाह का ऐलान

Amit Shah On Ram Mandir Nirman: कहा कि "जेएनयू में कुछ लड़कों ने नारे लगाए 'भारत तेरे टुकड़े हो एक हजार, इंशा अल्लाह इंशा अल्लाह', उनको जेल में डालना चाहिए या नहीं डालना चाहिए? जो देश विरोधी नारे लगाएंगा उसका स्थान जेल की सलाखों के पीछे होगा।"

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फोटो सोर्स- एएनआई)

Amit Shah On Ram Mandir Nirman: मध्यप्रदेश के जबलपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर निशाना साधा। कहा कि वह कहते है कि मंदिर नहीं बने। उन्होंने कपिल सिब्बल को चुनौती देते हुए कहा कि मंदिर जरूर बनेगा और वह भी अगले चार महीने में बन जाएगा।

बोले कुछ भी कर लो मंदिर बनेगा : सभा में अमित शाह ने कहा कि “कपिल सिब्बल, कांग्रेस के वकील, कहते हैं राम मंदिर नहीं बनना चाहिए, अरे सिब्बल भाई जितना दम हो रोक लो, चार महीने में आसमान को छूता हुआ राम मंदिर का निर्माण होने वाला है।” कहा कि मंदिर देश का सबसे सुंदर स्थान होगा। वहां लाखों लोग आएंगे। इससे क्षेत्र का विकास भी होगा और पर्यटन भी बढ़ेगा।

देश विरोधी नारे लगाने वाले जेल जाएंगे : उन्होंने जेएनयू की हिंसा की चर्चा करते हुए कहा कि “जेएनयू में कुछ लड़कों ने भारत विरोधी नारे लगाए, उन्होंने नारे लगाए ‘भारत तेरे टुकड़े हो एक हजार, इंशा अल्लाह इंशा अल्लाह’, उनको जेल में डालना चाहिए या नहीं डालना चाहिए? जो देश विरोधी नारे लगाएंगा उसका स्थान जेल की सलाखों के पीछे होगा।”

कहा राहुल, ममता, केजरीवाल और इमरान खान की भाषा एक है : गृहमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि “मुझे ये मालूम नहीं पड़ता कि राहुल गांधी, ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल और इमरान खान सबकी भाषा एक समान क्यों हो गई हैं। जबलपुर की जनता को सोचना है कि क्यों एक समान है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Delhi Election: कांग्रेस, BJP-AAP में चुनावी घमासान, Social Media पर इन एड्स और मीम्स के जरिए हो रही एक दूसरे की ट्रोलिंग
2 CAA पर केंद्रीय मंत्री बोले- बंगाल भी देश का हिस्सा, ममता पढ़ें इतिहास-सविधान; वहां भी लागू होगा कानून
3 आंध्र प्रदेशः सरकारी अस्पताल में नहीं मिला डॉक्टर, तो सड़क पर हुई डिलीवरी, साड़ियों का घेरा बना राहगीरों ने की महिला की मदद
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit