ताज़ा खबर
 

खुद को BSF जवान बताने वाले शख्स का दावा: मेस के पैसे से अधिकारी करते हैं प्रॉपर्टी का धंधा

इस शख्स ने पहले भी एक वीडियो बनाकर बीएसएफ के अधिकारियों पर अत्याचार के आरोप लगाए थे।

Author October 16, 2017 3:48 PM
इसी युवक ने वह वीडियो बनाया है। (Photo Source: Facebook)

खुद को बीएसएफ का जवान बताने वाले एक शख्स ने दावा किया है कि बीएसएफ के अधिकारी जवानों के राशन के पैसों से प्रॉपर्टी का धंधा कर रहे हैं। इस शख्स ने फेसबुक पर वीडियो अपलोड करके यह आरोप लगाया है। शख्स ने कई बटालियन का उदाहरण देकर बीएसएफ अधिकारियों पर ये आरोप लगाए हैं। वीडियो में शख्स का दावा है कि शिकायत होने के बाद भी अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती। साथ ही कहा कि सभी को सब कुछ पता होने के बाद भी एंक्वायरी एकतरफा ही होती है।

वीडियो में शख्स ने कहा है, ‘बीएसएफ जवानों के मेस के पैसों का इस्तेमाल बतौर एटीएम करती है। चाहें निरीक्षण हो, ऑडिट तो या फिर किसी अधिकारी का दौरा हो उनकी खातिरदारी के लिए जवानों के मेस से ही पैसे निकाले जाते हैं। बीएसएफ की 150वीं बटालियन के बारे में आपको एक घटना बताता हूं। जवानों के राशन के लिए 45-50 लाख रुपए जमा होते हैं। यह सारा पैसा कैश के रूप में जमा होता है। लेकिन ये लोग उस पैसे को निकालकर दिल्ली में प्रॉपर्टी डीलर बने हुए थे। राशन के लिए बटालियन में पैसे नहीं है और ये लोग अपना बिजनेस चला रहे हैं। यह घटना मई-जून 2016 की है। जब यह बटालियन दिल्ली में थी तो जवानों का राशन उधारी में लाया जाता था और राशन का पैसा अपने बिजनेस में लगा लेते थे।’

शख्स ने वीडियो के साथ शिकायत की कॉपी फेसबुक पर अपलोड करते हुए कहा है, ‘जब यह बटालियन गांधीनगर गई तो वहां व्यापारियों ने थोड़ी बहुत तो उधार सामान दिया, लेकिन रकम बढ़ने पर उन्होंने उधार सामान देने से मना कर दिया। इसका असर हुआ जवानों के खाने पर। चाय में चीनी नहीं, खीर में दूध नहीं। जब इसके बारे में पूछा गया तो कोई जवाब नहीं दिया जाता। इस बारे में सबको पता था, लेकिन आवाज किसी ने नहीं उठाई। मैंने इसकी लिखित में शिकायत की। मेरी शिकायत के बाद जांच के आदेश हुए, लेकिन इतना वक्त गुजर गया अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।’

वहीं 176 वीं बटालियन का उदाहरण देते हुए वीडियों में कहा गया है, ‘इस बटालियन में जवानों के राशन का पैसा एक कंपनी कमांडर ने अपने पर्सनल अकाउंट में डाल लिया और उसने उसका इस्तेमाल अपने निजी कामों के लिए किया। इस बारे में भी पिछले साल शिकायत हुई थी, लेकिन इस पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई।’ शख्स ने इस शिकायत की कॉपी भी वीडियो के साथ फेसबुक पर अपलोड की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App