ताज़ा खबर
 

VIDEO: डिबेट में BJP प्रवक्ता से भिड़े असदुद्दीन ओवैसी, ‘नामकरण’ को लेकर पूछा- शाह तो फारसी नाम है, क्या बदलेंगे?

नाम बदलने की फैसलों पर ओवैसी ने एक न्यूज चैनल के लाइव डिबेट शो में गृह मंत्री अमित शाह के नाम को लेकर तंज कसा।

Asuddin Owaisi, BJP spokesperson, Amit Shah, Persian, congress, modi, CAA, Supreme Court, Pm modiहैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी और गृह मंत्री अमित शाह। फोटो: Indian Express

बजट पूर्व आयोजित होने वाली ‘हलवा सेरेमनी’ के बहाने मोदी सरकार के जगहों के नाम बदलने के फैसलों पर हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि हलवा उर्दू या हिंदी का शब्द नहीं है, हलवा अरबी शब्द है। ओवैसी ने सवाल किया कि मोदी सरकार इस नाम को भी बदलेगा या नहीं? दरअसल स्टेशन का नाम बदले जाने के दो साल बाद मुगलसराय रेलमंडल का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय रखे जाने की रेलवे बोर्ड ने अधिसूचना जारी कर दी है।

इस क्रम में मुगलसराय कोतवाली का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय कर दिया गया है। वहीं उत्तराखंड के सभी रेलवे स्टेशनों का नाम उर्दू की जगह संस्कृत में होगा। रेलवे ने राज्य के सभी स्टेशनों पर उर्दू की जगह संस्कृत में स्टेशन का नाम लिखने का फैसला लिया है।

नाम बदलने की इस फैसले पर ओवैसी ने एक न्यूज चैनल के लाइव डिबेट शो में गृह मंत्री अमित शाह के नाम को लेकर तंज कसा। उन्होंने कहा है कि ‘शाह’ एक फारसी शब्द है क्या वह इसे बदलेंगे। दरअसल डिबेट के दौरान एंकर ओवैसी से पूछती हैं कि आप हलवे के नाम को लेकर भी सियासी रंग दे रहे हैं। तो क्या अब हलवे का भी मजहब हो गया?

एंकर के इस सवाल पर सांसद असदुद्दीन ओवैसी कहते हैं ‘बीजेपी हर नाम बदलना चाहती है। हलवा कहां से आया…हलवा तो अरबी नाम है और हमारे गृह मंत्री का नाम शाह वह तो फारसी नाम है तो ऐसे में आप कितनों के नाम बदलेंगे? यही तो हम उनको बता रहे हैं कि ये सब चीजों से मिलकर ही भारत बनता है और यही भारत की खूबसूरती है। यहां पर बहुत सारे कल्चर है और ये खूबसूरती किसी और देश में नहीं। लेकिन बीजेपी इसी खुशी को खराब करना चाहती है।’

ओवैसी के इस तर्क पर डिबेट में शामिल बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहनवाज हुसैन कहते हैं ‘मैं पूछना चाहता हूं कि एजेंडा क्या है। यही कि हलवे पर भी हिंदू और मुसलमान कर देना? कुतुब मीनार और लाल किला को भी हिंदू और मुसलमान में बांट देना। ये लोग बंटवारा कहां तक करेंगे।’ देखिए डिबेट में आगे क्या हुआ:

Next Stories
1 यूपी की दो मस्‍ज‍िदों में लाउडस्‍पीकर पर बैन बरकरार, हाईकोर्ट ने कहा- कोई मजहब इसकी जरूरत नहीं बताता
2 सीनियर Congress नेता ने कहा- 13 बैठकों में नहीं बुलाई गईं निर्मला सीतारमण, PM को आत्मविश्वास की कमी लगती है तो हटाते क्यों नहीं?
3 ग्लोबल डेमोक्रेसी इंडेक्स में भारत को तगड़ा झटका, 165 देशों की लिस्ट में 10 स्थान फिसलकर 51वें नंबर पर पहुंचा
आज का राशिफल
X