ताज़ा खबर
 

दुष्‍कर्म से पहले दाती महाराज ने लड़की से कहा था- मैं तुम्‍हारा प्रभु हूं, सब वासना खत्‍म कर दूंगा

पीड़ित लड़की ने कहा है कि दुष्कर्म से पहले दाती महाराज ने उससे कहा था कि मैं तुम्हारा प्रभु हूं, क्यों इधर-उधर भटकना...?सब वासना खत्म कर दूंगा। इसके बाद दाती और उसके सहयोगियों ने बारी-बारी से कई बार उसके साथ रेप किया।

दुष्‍कर्म का आरोपी दाती मदनलाल राजस्‍थानी। फोटो- फेसबुक

दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद शनि देव की कृपा का उपाय बताने वाले दाती मदन महाराज राजस्थानी को लेकर एक से बढ़कर एक खुलासे हो रहे हैं। पीड़ित युवती ने कहा है कि दुष्कर्म से पहले दाती महाराज ने उससे कहा था कि ‘मैं तुम्हारा प्रभु हूं, क्यों इधर-उधर भटकना? सब वासना खत्म कर दूंगा’। इसके बाद दाती और उसके सहयोगियों ने बारी-बारी से कई बार उसके साथ रेप किया। पीड़ित लड़की ने अदालत में दाती महाराज के खिलाफ अपनी शिकायत दर्ज करा दी है। लड़की ने कोर्ट में कहा है कि मैं दाती के खिलाफ शिकायत कर रही हूं, पता नहीं इसके बाद मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे जैसी दूसरी लड़कियों की जिंदगी बर्बाद होने से जरूर बच जाएगी।

लड़की ने कहा है कि वो काफी दिनों तक डरी-सहमी रही। लेकिन जब हिम्मत हार गई तो उसने शिकायत दर्ज करवाने की ठान ली। लड़की ने कहा है कि 9 फरवरी 2016 को दाती की सेवादार श्रद्धा उसे असोला स्थित शनि धाम आश्रम में चरण सेवा के लिए दाती के पास ले गई थी। मुझे अंधेरे गुफानुमा कमरे में सफेद रंग के कपड़े पहनाकर भेजा गया था। जहां दाती ने उसे दबोच लिया और अपनी वासना की आग मिटाई।

आपको बता दें कि दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद दाती मदन भूमिगत हैं। पुलिस अब तक इस मामले में दाती महाराज को पकड़ पाने में नाकाम है। इस हाईप्रोफाइल मामले की तफ्तीश क्राइम ब्रांच कर रही है। इससे पहले पीड़िता को शिकायत दर्ज करवाने में भी काफी परेशानियां आईं। पीड़ित युवती रिपोर्ट दर्ज कराने सबसे पहले कालका जी थाने गई थी, लेकिन काफी देर तक वहां बैठाए रखने के बाद पुलिस ने लड़की को यह कह कर फतेहपुर बेरी भेज दिया कि यहां मामला वहीं का है आप वहीं जाएं। बहरहाल इस मामले में दिल्ली के फतेहपुर बेरी स्थित मशहूर शनिधाम मंदिर के संस्थापक दाती महाराज पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 377, 354 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App