ताज़ा खबर
 

सोनिया, ममता और अखिलेश से लेने जाएंगे राम मंदिर का चंदा, VHP नेता बोले- ओवैसी को करेंगे सलाम-नमस्ते

उन्होंने कहा कि 'राम के तो राज्याभिषेक में भी बाधाएं आई थीं, इसलिए बाधाएं आती रहेंगी, लेकिन मंदिर करीब 36 से 39 माह में बनकर तैयार हो जाएगा। मंदिर निर्माण में देश के सभी लोगों का सहयोग मिल रहा है और उनसे और सहयोग की मांग भी की जाएगी।'

VHP, RAM MANDIRवीएचपी नेता चंपत राय ने कहा कि सोनिया गांधी से भी चंदा लिया जाएगा। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट

विश्व हिंदू परिषद के नेता चंपत राय ने कहा कि सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, सभी के यहां राम मंदिर का चंदा लेने जाएंगे। चंपत राय रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव भी हैं। चंपत राय ने कहा है कि मंदिर निर्माण के लिए विपक्षी दलों से भी चंदा लिया जाएगा। उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चंपत राय से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या वो अय़ोध्या में मंदिर निर्माण के लिए विपक्षी दलों से भी चंदा लेंगे? इसपर चंपत राय ने कहा कि वह सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव और शरद पवार से भी चंदा लेने जाएंगे।

इस बातचीत के दौरान चंपत राय ने AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर भी निशाना साधा। असदुद्दीन ओवैसी से चंदा लेने जाने के सवाल पर चंपय राय ने कहा कि उनसे मेरा ‘सलाम’ बोलना। वह (ओवैसी) अपनी जड़ें खोदें। उन्होंने मजाकिया लहजे में कहा कि वह जड़ें खोजने के लिए नहीं, खोदने के लिए कह रहे हैं।चंपत राय ने यह जानकारी दी है कि ‘अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए विश्व हिंदू परिषद के दान संग्रह के अभियान की शुरुआत 15 जनवरी से शुरू होकर 42 दिन तक चलेगा। इस दौरान हम व हमारे लोग घर-घर, गांव-गांव तक जाएंगे। इस अभियान के तहत हम देश की आधी आबादी लगभग 55 से 60 करोड़ लोगों तक पहुचेंगे और सहयोग प्राप्त करेंगे।’

चंपत राय ने लोगों से ज्यादा से ज्यादा दान देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि ‘राम के तो राज्याभिषेक में भी बाधाएं आई थीं, इसलिए बाधाएं आती रहेंगी, लेकिन मंदिर करीब 36 से 39 माह में बनकर तैयार हो जाएगा। मंदिर निर्माण में देश के सभी लोगों का सहयोग मिल रहा है और उनसे और सहयोग की मांग भी की जाएगी।’

चंपत राय ने बताया कि मंदिर में 2400 सुरक्षा जवान तैनात हैं। आरएएफ, सीआरपीएफ कमांडो चाहते हैं कि कोई भी अभी वहां नहीं जाए। बाकी इंजीनियर्स भी यही चाहते हैं कि पूरा कंस्ट्रक्शन बड़ी-बड़ी मशीनों से हो रहा है। कंस्ट्रक्शन कोई न देखे। बड़ी- बड़ी टीनों से वहां ढक दिया गया है। वे नहीं चाहते हैं कि जहां मंदिर निर्माण चल रहा है, वहां अभी कोई जाए जबकि हम भक्तों को दर्शन कराना चाहते थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गाजियाबाद: श्मशान की छत गिरने से 25 लोगों की मौत, कई अफसरों के खिलाफ मामला दर्ज
2 कोवैक्सीन को मंजूरी पर पीएम मोदी की बधाई, इधर शशि थरूर का दावा- तीनों ट्रायल से नहीं गुजरा टीका, खतरनाक है ऐसा करना
3 सीएम शिवराज चौहान की कैबिनेट का विस्तार, सिंधिया के वफादार तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत बने मंत्री