एमपीः विश्व हिंदू परिषद ने दुर्गा पूजा पंडालों में गैर हिंदुओं के प्रवेश पर लगाई रोक, गाजियाबाद के मंदिर में घुसा 10 साल का मुस्लिम लड़का तो पुजारी बोले- ये बड़ी साजिश

पूजा पंडाल में गैर हिंदुओं को प्रवेश न करने का फरमान देने को लेकर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने कहा कि गैर हिंदू धार्मिक मान्यताओं और हिंदुओं के पूजा पाठ के तरीके को नहीं मानते हैं इसलिए उन्हें पंडाल में नहीं आना चाहिए।

विश्व हिंदू परिषद ने मध्यप्रदेश के रतलाम के पूजा पंडाल में गैर हिंदुओं के न आने का फरमान जारी किया है। (फोटो: एक्सप्रेस फोटो)

मध्यप्रदेश के रतलाम में विश्व हिंदू परिषद ने दुर्गा पूजा पंडाल सहित कई धार्मिक कार्यक्रम में गैर हिन्दुओं के प्रवेश पर रोक का फरमान जारी किया है। इसके लिए विश्व हिन्दू परिषद के तरफ से शहर भर में पोस्टर लगाए गए हैं। पोस्टर पर साफ़ साफ़ लिखा गया कि पूजा पंडालों में गैर हिंदुओं का प्रवेश वर्जित है. विश्व हिंदू परिषद के इस फरमान पर पुलिस भी सतर्क हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पूजा पंडाल में गैर हिंदुओं को प्रवेश न करने का फरमान देने को लेकर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने कहा है कि गैर हिंदू धार्मिक मान्यताओं और हिंदुओं के पूजा पाठ के तरीके को नहीं मानते हैं इसलिए उन्हें पंडाल में नहीं आना चाहिए। साथ ही विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने यह भी कहा कि पिछले कुछ साल से पंडाल में गैर हिंदू युवकों के द्वारा असामाजिक हरकत किए जाने के मामले सामने आए हैं। इसलिए ऐसे पोस्टर लगाकर गैर हिंदू लोगों को नहीं आने की हिदायत दी जा रही है।  

विश्व हिंदू परिषद के ऐलान के बाद पुलिस भी सतर्क हो गई है और ख़ुफ़िया विभाग भी इस मामले में जानकारी जुटाने में लग गई है। पुलिस द्वारा पूजा पंडालों में सुरक्षा संबंधी इंतजाम भी किए जा रहे हैं। वहीं रतलाम प्रशासन ने कहा है कि अभी तक इसकी कोई शिकायत नहीं आई है। अगर हमारे पास शिकायत आती है तो हम कार्रवाई करेंगे।

इसी बीच गाजियाबाद का डासना मंदिर फिर से चर्चा में है। डासना मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने गलती से मंदिर में घुसने वाले एक 10 वर्षीय लड़के को गाजियाबाद पुलिस को सौंप दिया। महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने इस संबंध में सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी जारी किया। जिसमें उन्होंने बच्चे पर मंदिर की रेकी और जासूसी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हमने लड़के को पुलिस को सौंप दिया है। उसे छुआ तक नहीं गया है और न ही किसी ने उस पर हमला किया है। वह यहां एक साजिश को अंजाम देने के लिए मंदिर की रेकी करने के लिए आया था।

हालांकि गाजियाबाद पुलिस ने महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती के आरोपों का खंडन किया है। पुलिस ने कहा कि ट्विटर पर एक 10 वर्षीय नाबालिग के बारे में एक वीडियो अपलोड किया गया था। जांच में यह पाया गया कि वह पास के एक अस्पताल में भर्ती अपने एक रिश्तेदार से मिलने आया था और गलती से मंदिर में प्रवेश कर गया। उसके पास से कोई आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई है। बच्चे को उसके परिवार को सौंप दिया गया।

प्रियंका गांधी ने की काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा तो तेलंगाना बीजेपी के नेता बता दिया गिरगिट

रविवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने वाराणसी में किसान न्याय रैली को रैली संबोधित किया। रैली को संबोधित करने से पहले प्रियंका गांधी ने विश्वनाथ मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की। इसके अलावा वे मां अन्नपूर्णा के मंदिर और दुर्गाकुंड इलाके में मां दुर्गा का दर्शन करने भी पहुंची। काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा करने पर तेलंगाना भाजपा के नेता एनवी सुभाष ने उन्हें गिरगिट बता दिया।

तेलांगना भाजपा के नेता एनवी सुभाष ने समाचार एजेंसी से बात करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी ने हिंदू धर्म का गुणगान करना शुरू कर दिया है। गांधी परिवार ने हिंदू परिवारों के बारे में कभी नहीं सोचा। प्रियंका गांधी ने एक ईसाई से शादी की, उनकी मां एक ईसाई हैं, उनके दादा एक मुस्लिम हैं। इसलिए उनके पास हिंदू धर्म का दावा करने का कोई आधार नहीं है। भाजपा प्रचंड बहुमत से जीतने जा रही है। इसलिए उन्हें डर है कि उनकी पार्टी का वोट बैंक खो जाएगा क्योंकि कांग्रेस का कोई गठबंधन नहीं है।

साथ ही उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना के बाद से राजनीतिक लाभ हासिल करने के लिए प्रियंका गांधी को एक भक्त हिंदू महिला के रूप में एक नए अवतार में देखा गया। उन्होंने 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए यह सब किया। इससे पता चलता है कि कैसे कांग्रेस पार्टी अपने राजनीतिक लाभ के लिए किसानों के आंदोलन का इस्तेमाल कर रही थी। अब अचानक राहुल गांधी और प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के मंदिरों में जाकर हिंदू बनने लगे हैं। 

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट