ताज़ा खबर
 

नीतीश कुमार से अलग होकर नई पार्टी बनाएंगे शरद यादव, नये कलेवर में सामने आएगा महागठबंधन

वर्मा ने दावा किया कि शरद जी ने जोर देकर कहा है कि वे धर्मनिरपेक्ष शक्ति वाले महागठबंधन में बने रहेंगे।

sharad yadav, sharad yadav bihar visit, शरद यादव का जनता से सीधा संवाद, nitish kumar, bihar cm nitish kumar, jdu, bjp, lalu yadav, rjd, congress, gujarat rajya sabha elections, ahmed patel, sonia gandhi, congress, disciplinary action against Sharad Yadav, Bihar news, Bihar politics, Patna news, Hindi news, India news, Latest news, Janattaशरद यादव ने अपने गुट के नेताओं से तीन दिन के भीतर नए दल का नाम सुझाने के लिए कहा है। (File Photo)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव के बीच ”मतभेद” की अटकलों के बीच समाजवादी नेता और पूर्व विधान पार्षद विजय वर्मा ने शरद के महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं। शरद यादव के विश्वस्त माने जाने वाले और दो बार बिहार विधान परिषद सदस्य रहे विजय वर्मा ने शरद के महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं, पर जदयू के प्रधान महासचिव के सी त्यागी ने इसे अफवाह बताया है। जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अजय आलोक ने शरद की ”नाराजगी” को आज खारिज कर दिया। वर्मा ने भाषा को मधेपुरा से फोन पर कहा कि शरद जी पुराने साथियों के संपर्क में हैं और राजनीतिक हालात पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि नए दल का गठन एक विकल्प है और उस पर संजीदगी से विचार किया जा रहा है। वर्मा ने दावा किया कि शरद जी ने जोर देकर कहा है कि वे धर्मनिरपेक्ष शक्ति वाले महागठबंधन में बने रहेंगे और इसी को जेहन रखते हुए वे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और माकपा नेता सीताराम येचुरी से मिले थे।उन्होंने कहा कि शरद जी ने राजग सरकार में मंत्री के तौर पर शामिल होने से इंकार किया है। यह पूछे जाने पर कि अन्य किन किन लोगों से शरद यादव की बातचीत हुई है वर्मा ने नाम का खुलासा करने से इंकार करते हुए कहा कि उनका सोशल नेटवर्क बहुत बडा है।

होटल के बदले भूखंड मामले में सीबीआई की प्राथमिकी पर राजद प्रमुख लालू प्रसाद के पुत्र और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के जनता के बीच स्पष्टीकरण नहीं देने पर नीतीश के महागठबंधन से अलग होकर राजग में शामिल भाजपा और उसके अन्य सहयोगी दलों के साथ प्रदेश में नई सरकार बनाने लेने पर चुप्पी साधे रहने के बाद जदयू के राज्यसभा सदस्य शरद ने इसको लेकर सार्वजनिक तौर पर नाराजगी जतायी है। गत 31 जुलाई को संसद के बाहर शरद ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि जनादेश इसके लिए नहीं था और महागठबंधन के बिखरने को अप्रिय और दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। शरद के करीबी माने जाने के सी त्यागी ने फोन पर पीटीआई—भाषा से बातचीत करते हुए इसे अफवाह बताते हुए कहा कि उन्हें आश्चर्य :भाजपा के साथ हाथ मिलाने पर: व्यक्त किया है पर कभी नहीं कहा कि मेरा विरोध है। त्यागी ने कहा कि उन्होंने शरद जी को पिछले 40 सालों से बहुत करीब से देखा है और जानते हैं कि भ्रष्टाचार को लेकर वे लालू प्रसाद से अलग हुए थे, ऐसे में वे कैसे लालू के साथ जा सकते हैं।

जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अजय आलोक ने शरद के पार्टी से नाराज होने की मीडिया रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि सावन का महीना है, इसके बाद भादो और शरद आता है… कोई नाराजगी नहीं।जदयू के दो सांसदों अली अनवर और विरेंद्र कुमार ने शरद से मुलाकात की थी। दोनों ने भाजपा के साथ जाने के निर्णय का विरोध किया था। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से उनकी पार्टी के भाजपा के साथ मिला लेने से शरद के अशांत होने के बारे में पूछे जाने पर गत सोमवार को कहा था कि यह जरूरी नहीं सभी मुद्दे पर हर कोई राजी हो। किसी की अलग राय हो सकती है। महागठबंधन से अलग होने का निर्णय जदयू की प्रदेश इकाई ने लिया है जिसका उन्हें पालन करना था। उन्होंने कहा था कि जदयू केवल बिहार में एक क्षेत्रीय दल के तौर पर निबंधित है और उनके लिए पार्टी की प्रदेश इकाई के निर्णय के खिलाफ जाना उनके लिए संभव नहीं था। नीतीश ने कहा था कि आगामी 19 अगस्त को जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पटना में बुलायी गयी है और उसमें इसको रखा जाएगा। राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने महागठबंधन बिखराव के लिए नीतीश पर प्रहार करते हुए शरद से अपनी पार्टी की आगामी 27 अगस्त को पटना में आयोजित ”भाजपा हटाओ, देश बचाओ” रैली में शामिल होने का न्योता दिया है और सांप्रदायिक शक्तियों को परास्त करने के लिए देश भ्रमण करने की अपील की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम मोदी को तोहफे में मिली विदेशी घड़ी, ढाई हजार का पैन, जानिए 2017 में मिले कौन-से गिफ्ट
2 पत्‍नी की प्रेरणा से आजादी की लड़ाई में कूदे थे पं. नेहरू, अंग्रेजों ने पकड़ा तो खुद सामने आई थीं कमला नेहरू
3 IRCTC से तत्काल टिकट बुक करने पर भी अब मिलेगी ‘पे ऑन डिलिवरी’ की सुविधा
ये पढ़ा क्या?
X