ताज़ा खबर
 

गंगा में उफान जारी, कई इलाके डूबे

गंगा घाटों की सीढ़ियां बाढ़ के पानी में डूबी हुई है। इस कारण इस बार महिलाएं सड़क पर, कुए पर, मंदिर में यहां वहां एकत्र होकर पूजन अर्चन करती देखी गई। गाजीपुर जिले के सैदपुर, मोहम्मदाबाद, जमानिया, सेवराई और गाजीपुर सदर के पांच सौ से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं।

Author गाजीपुर | September 23, 2019 1:27 AM
खतरे के निशान से ऊपर गंगा नदी का जल स्तर

जिले में गंगा के पानी में बढ़ोतरी जारी है, जिससे नगर के कई मुहल्ले में पानी भर गया है। शाम चार बजे तक गंगा का जलस्तर 64.510 मीटर मापा गया। जिलाधिकारी के बाला जी चक्रमणकर बाढ़ राहत कार्यों का खुद संचालन कर रहे हैं। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक चार बजे शाम तक जलस्तर 64.510 मीटर रहा। पानी की बढ़ोतरी जारी है। इस संवाददाता ने आज सर्वे कर देखा कि गाजीपुर नगर के बंधवा, जिलाधिकारी निवास, तुलसी का पुल, नवाबगंज, नखास, श्मशान घाट और ददरी घाट आदि मोहल्लों में गंगा का पानी सड़कों पर भरने लगा है। जिससे लोगों का आना-जाना बाधित हो रहा है। जीवित्पुत्रिका व्रत की महिलाएं गंगा घाटों की सीढ़ियों पर बैठकर शाम सुबह पूजन अर्चन करती थी।

गंगा घाटों की सीढ़ियां बाढ़ के पानी में डूबी हुई है। इस कारण इस बार महिलाएं सड़क पर, कुए पर, मंदिर में यहां वहां एकत्र होकर पूजन अर्चन करती देखी गई। गाजीपुर जिले के सैदपुर, मोहम्मदाबाद, जमानिया, सेवराई और गाजीपुर सदर के पांच सौ से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं। कुछ गांव तो पानी से घिर भी गए हैं। फसलों के डूब जाने के कारण सब्जियों का उत्पादन कम हो गया है। इस कारण सब्जियां मांगी हो गई है। जिलाधिकारी के बालाजी बाढ़ राहत के कार्यों का संचालन की देखरेख खुद घूम-घूम कर रहे हैं। वह क्षेत्र के किसानों से अपील कर रहे हैं कि वह बाढ़ से बचाव के लिए सुरक्षित जगहों पर चले जाएं। उन्होंने सभी बाढ़ नियंत्रण कक्षों को 24 घंटे काम करने को कहा है। अधिकारियों को निर्देश दिया है कि बाढ़ प्रभावित परिवारों को राहत सामग्री शासन की मंशा अनुसार तत्काल उपलब्ध कराएं। यह सूचना प्राप्त हुई है कि गंगा वाराणसी में स्थिर हो गई हैं। उम्मीद की जा रही है कि दो दिनों तक पानी बढ़ने के बाद घटना आरंभ होगा।

सांसद और विधायक ने बाढ़ पीड़ितों को बाटी राहत सामग्री
उरई, (जनसत्ता)। थाना सिरसा कलार क्षेत्र के तहत ग्राम टिकरी मुस्तकिल में रविवार को सांसद भानुप्रताप वर्मा व कालपी विधायक नरेंद्र पाल सिंह जादौन ने बाढ़ पीड़ितों को खाद्य सामग्री बांटी। इस मौके पर कालपी एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला, थानाध्यक्ष सिरसा कलार सौरभ सिंह ने खाद्य सामग्री में आटा, दाल, बिस्कुट के पैकेट, फल आदि वितरित किए। वहीं बाढ़ पीड़ितों के लिए नि:शुल्क चिकित्सक की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है।
इसमें डॉ. मुकेश राजपूत व समस्त टीम उपस्थित रही। इस मौके पर सांसद व विधायक ने कहा कि जिस किसी को राहत सामग्री अभी तक नहीं मिली है उनको जल्द ही राहत सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही और जिन लोगों के मकान डूब चुके हैं उन्हें सरकार की तरफ से मुआवजा दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि बाढ़ के बाद संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका से डाक्टरों को उस गांव में भेजा जा रहा है। वहीं जिला प्रशासन ने लोगों से आह्वान किया कि बाढ़ से जिन लोगों के मकान गिर गए हैं उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास बनाकर दिए जाएंगे और जिनके मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं उनके मकानों की मरम्मत का कार्य भी योजना के तहत किया जाएगा।

सरयू का जलस्तर बढ़ा, गांवों में संक्रामक बीमारियां फैलीं
बस्ती,(जनसत्ता)। सरयू नदी के जलस्तर के खतरे के निशान से ऊपर चले जाने से जिले के हर्रैया तहसील के नदी और तटबंध के बीच बसें दो दर्जन से ज्यादा गांव बाढ़ के पानी में डूब गए हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में संक्रामक बीमारियां फैल गई हैं। सरयू नदी कटरिया और खजांची पुर गांव के बीच तेजी से कटान कर रही है जबकि गौरा सैफाबाद बांध के करीब बसे मझियार बिलासपुर और भीरा समेत आधा दर्जन गांव में खेती की जमीन काट रही है। रिंग बांध पर पानी का दबाव तो कम हो गया है, पर सुविका बाबू गांव के रास्तों पर बाढ़ का पानी बह रहा है। अपर जिलाधिकारी रमेश चंद्र ने विक्रमजोत के बाढ़ प्रभावित कल्याणपुर और भरथापुर गांव का दौरा कर कटान रोकने के उपाय तुरंत शुरू करने का फरमान सुनाया। बाढ़ प्रभावित गांवों में संक्रामक बीमारियां भी तेजी से फैल रही हैं, पर स्वास्थ्य महकमा इन बीमारियों से निपटने में पूरी तरह लापरवाह बना हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जनवरी में मिलेगा भाजपा को नया अध्यक्ष
2 कश्मीरी पंडितों से नया कश्मीर बनाने का वादा
3 ‘बिन खर्ची, बिन पर्ची’ सरकारी नौकरी के दावे की युवा विपक्षी नेता ने खोली पोल तो बाप-दादा पर उतर आए भाजपाई मंत्री
IPL 2020: LIVE
X