ताज़ा खबर
 

BHU के 51 प्रोफेसरों ने CAA व NRC के खिलाफ उठाई आवाज, हस्ताक्षर अभियान चलाकर जताया विरोध

Banaras Hindu University CAA Protest: बीएचयू के समाजशास्त्र प्रो. अजीत पांडे ने मीडिया को बताया है कि हम किसी भी कानून का विरोध नहीं करते है यदि कोई कमियां है तो उसे सरकार को दूर करना चाहिए।

Author वाराणसी | Updated: December 26, 2019 5:10 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

Banaras Hindu University CAA Protest: काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के 51 प्रोफेसरों ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाकर अपना विरोध जताया है। सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे छात्रों की गिरफ्तारी के बाद बीएचयू और उससे संबद्ध 51 प्रोफेसरों ने यह अभियान चला कर अपना विरोध जताया है।

12 छात्रों को पुलिस ने किया गिरफ्तार: गौरतलब है कि पिछले गुरुवार (25 दिसंबर) को वाम संगठनों के आह्वान पर सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे करीब 12 छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। छात्रों का कहना है कि वे शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। उनका आरोप है कि तीन छात्रों को विश्वविद्यालय परिसर के हॉस्टल से पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने छात्रों के गिरफ्तारी से इंकार किया है।

Hindi News Today, 26 December 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सरकार को कानून की कमियों को दूर करना चाहिए:  बीएचयू के समाजशास्त्र प्रो. अजीत पांडे ने मीडिया को बताया है कि हम किसी भी कानून का विरोध नहीं करते है यदि कोई कमियां है तो उसे सरकार को दूर करना चाहिए। लोगों को शांतिपपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करना चाहिए। हम किसी भी हिसंक प्रदर्शन का समर्थन नहीं करते है। लेकिन कोई शांतिपूर्ण ढ़ग से विरोध प्रदर्शन कर रहा है तो उसे गिरफ्तार करना गलत है और यह लोकतात्रिंक अधिकारों के खिलाफ है।

पुलिस ने छात्रों की गिरफ्तारी से इंकार किया है: बता दें कि पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने विश्वविद्यालय परिसर से किसी भी छात्र को गिरफ्तार करने से मना किया है। उन्होंने कहा कि यह पुलिस पर गलत आरोप लगया जा रहा है। जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है वह मुख्य रूप से वाम दलों के नेता हैं, इनमें संभावना है कि कुछ बीएचयू के छात्र भी हो सकते है। इस गिरफ्तारी के बाद शहर एक क्षेत्र में हिंसा फैल गई। भागदौड़ मचने से एक आठ साल के बच्चे की मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘UP में आतंक का राज’, CAA व NRC के प्रदर्शनकरियों के खिलाफ योगी सरकार ने छेड़ा खुला युद्ध; ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट का आरोप
2 UP: बिजनौर गए योगी के मंत्री, CAA हिंसा में मारे गए लोगों को किया नजरअंदाज, बोले- दंगाइयों के घर क्यों जाऊं?
3 ‘जो मुगल, अंग्रेज न कर सके वो राहुल गांधी INC और टुकड़े टुकड़े गैंग के साथ असदुद्दीन ओवैसी करना चाहते हैं’, गिरिराज सिंह का बयान
ये पढ़ा क्या?
X