ताज़ा खबर
 

भारत में टीका लगवाने वालों की संख्या एक करोड़ पार, अमेरिका के बाद दुनिया में दूसरी सबसे तेज गति से टीकाकरण

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इस संख्या तक पहुंचने में भारत को 34 दिन लगे, जबकि अमेरिका को 31 दिन और ब्रिटेन को 56 दिन लगे।

Author नई दिल्ली | Updated: February 20, 2021 4:03 AM
Vaccination in indiaनई दिल्ली में AIIMS में COVID-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया (PTI Photo)

भारत में कोरोना विषाणु रोधी टीका लगवाने वालों की संख्या एक करोड़ पार कर गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि भारत को कोविड 19 रोधी टीकाकरण के एक करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने में 34 दिन लगे। यह दुनिया में दूसरी सबसे तेज गति है। अमेरिका को इसमें 31 दिन लगे, जबकि ब्रिटेन को एक करोड़ टीकाकरण के आंकड़े को पार करने में 56 दिन लगे।

शुक्रवार सुबह आठ बजे तक देश में स्वास्थ्य कर्मियों और कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर लगे कर्मियों को दिए गए कोविड-19 रोधी टीके की खुराक की कुल संख्या 1,01,88,007 थी। मंत्रालय ने कहा, ‘सुबह आठ बजे तक की अंतरिम रिपोर्ट के अनुसार टीके की कुल 1,01,88,007 खुराक दी गई हैं। इनमें 62,60,242 स्वास्थ्य कर्मी (पहली खुराक), 6,10,899 स्वास्थ्यकर्मी (दूसरी खुराक) और कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर लगे 33,16,866 कर्मी (पहली खुराक) शामिल हैं।’

कोविड-19 रोधी टीकाकरण की दूसरी खुराक 13 फरवरी से उन लोगों को दी जाने लगी हैं, जिन्होंने पहली खुराक प्राप्त करने के 28 दिन पूरे कर लिए हैं। कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर लगे कर्मियों का टीकाकरण दो फरवरी से शुरू हुआ। दो फरवरी से पहले सिर्फ स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए गए थे। टीकाकरण अभियान के 34वें दिन शुक्रवार को टीके की कुल 6,58,674 खुराक दी गई। इसमें से 4,16,942 लोगों को पहली खुराक दी गई। 2,41,732 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई।

देश में दिए गए टीकों की खुराक का 57.47 फीसद आठ राज्यों में दिया गया। अकेले उत्तर प्रदेश में 10.5 फीसद (10,70,895) टीके दिए गए हैं। सात राज्यों में टीके की दूसरी खुराक का 60.85 फीसद हिस्सा है। देश में दी गई दूसरी खुराक का 12 फीसद (73,281) हिस्सा तेलंगाना में है।

सोलह राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने 24 घंटे में कोविड-19 से किसी भी मौत की सूचना नहीं दी है। ये हैं, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, गोवा, झारखंड, मेघालय, पुदुचेरी, चंडीगढ़, मणिपुर, मिजोरम, लक्षद्वीप, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, लद्दाख, त्रिपुरा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और दमन व दीव और दादरा व नागर हवेली। 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक से पांच के बीच मरीजों की मौत की सूचना है, जबकि तीन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में यह संख्या छह से 10 के बीच है।

भारत में उपचाराधीन कोविड-19 मामलों की संख्या वर्तमान में 1,39,542 है, जो कि कुल संख्या का केवल 1.27 फीसद है। 24 घंटे की अवधि में 10,896 और मरीजों के ठीक होने से इस बीमारी से ठीक होने वाले रोगियों की संख्या बढ़कर 1.06 करोड़ से अधिक (1,06,67,741) हो गई है।

मंत्रालय ने कहा कि ठीक हुए मरीजों में से 83.15 फीसद मरीज छह राज्यों से हैं। केरल में एक दिन में सबसे अधिक 5,193 मरीज ठीक हुए जबकि इसके बाद महाराष्ट्र (2,543) और तमिलनाडु (470) हैं।

हर्षवर्धन ने अफवाहों से बचने, टीका लगवाने की अपील की
केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने सभी स्वास्थ्यर्किमयों और अग्रिम मोर्चा पर तैनात लोगों से कहा है कि तय योजना के मुताबिक कोविड-19 रोधी टीका लगवाएं। उन्होंने यह भी कहा कि टीका सुरक्षित है और प्रतिरोधक क्षमता के सभी मानकों को पूरा करता है। उन्होंने कहा, ‘मैं सभी स्वास्थ्यर्किमयों और अग्रिम मोर्चा पर तैनात कर्मचारियों से अपील करता हूं कि योजना के मुताबिक कोविड-19 रोधी टीका लगवाएं।

टीका सुरक्षित है। किसी अफवाह या गलत सूचना पर विश्वास नहीं करें।’ उन्होंने कहा कि देश में टीका लगवाने के बाद कोई गंभीर प्रतिकूल प्रभाव नहीं देखा गया है और ऐसे मामले महज 0.0004 फीसद ही हैं।

उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 टीकाकरण के कारण किसी की मौत नहीं हुई है। सभी राज्य सरकारों से कहा गया है कि सभी स्वास्थ्यकर्मी और अग्रिम मोर्चे के कर्मियों को टीका लगवाएं।’

Next Stories
1 रिपोर्टर के सवाल पर अखिलेश ने कहा- ‘कोई सलाह नहीं दे सकता अब सरकार बनाऊंगा’, साथ बैठे लोग बजाने लगे ताली
2 चीन ने जारी किया गलवान में झड़प का Video, जब भारत-चीन सैनिकों का हुआ था आमना-सामना…
3 Republic Bharat पर उमर अब्दुल्ला के पिता पर BJP नेता ने साधा निशाना तो बीच में बोलने लगे पैनलिस्ट, एंकर बोले- बीच में मत बोलो
आज का राशिफल
X