ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड में प्रधानमंत्री की विशेष कृपा- बोले CM तीरथ सिंह रावत, नरेंद्र मोदी की श्रीराम से करा चुके हैं तुलना

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा "कुंभ का आयोजन सभी एहतियात के साथ किया गया था। नेगेटिव रिपोर्ट वाले लोगों को ही कुंभ में शामिल होने की अनुमति थी। इस मेले का आयोजन विशेष तारीखों पर होता है। महाकुंभ 12 साल में एक बार होता है जिसकी तारीखें पहले से तय होती हैं।"

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने महाकुंभ को लेकर पहली बार खुल कर बात की। (express file photo)

कोरोना संकट के बीच कुंभ आयोजित किए जाने पर उत्तराखंड की रावत सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर कई सवाल उठे। इसको लेकर पहली बार उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने खुल कर बात की। ‘आज तक’ के कार्यक्रम ‘सीधी बात’ में पत्रकार प्रभु चावला से बात करते हुए महाकुंभ को लेकर कई सवालों पर जवाब दिया।

रावत ने कहा कि कोरोना के मामले मुंबई, दिल्ली और केरल में सबसे पहले तेजी से बढ़े थे। तो क्या यहां भी कुम्भ आयोजित किया गया था? उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने कहा “कुंभ का आयोजन सभी एहतियात के साथ किया गया था। नेगेटिव रिपोर्ट वाले लोगों को ही कुंभ में शामिल होने की अनुमति थी। इस मेले का आयोजन विशेष तारीखों पर होता है। महाकुंभ 12 साल में एक बार होता है जिसकी तारीखें पहले से तय होती हैं।”

रावत ने कहा “भारत सरकार की गाइडलाइंस का पालन किया गया. मास्क लगाना, सेनेटाइज का उपयोग करना हम बार-बार इस बात को दोहराते रहे.हमने नियमों का पालन किया। सीएम रावत ने कहा कि जब स्थिति बिगड़ने लगी तो हमने इसको प्रतीकात्मक किया गया।”

उत्तराखंड में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इससे पहले तीरथ सिंह रावत को भी मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए चुनाव लड़ना होगा। इसको लेकर जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होने कहा कि हमपर जनता का विश्वास है और मोदीजी पर विशेष विश्वास है। हम चुनाव जीतेंगे।

इसपर पत्रकार ने कहा कि आप मोदीजी के नाम पर चुनाव लड़ेंगे। असम में तो आपको मोदी के नाम पर वोट मिल गए लेकिन बंगाल में मामला उल्टा हो गया। इसपर रावत ने कहा “उत्तराखंड के लोगों का प्रधानमंत्री मोदी पर विशेष विश्वास है, हम विकास और मोदी जी को अलग-अलग नहीं कर सकते।”

तीरथ सिंह रावत अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। ऐसा ही कुछ शनिवार को भी हुआ। आक्सीजन और वैक्सीन को लेकर सीएम तीरथ रावत का एक बयान सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया। शनिवार को गोपेश्वर में मीडिया कर्मियों से आक्सीजन की उपलब्धता की जानकारी देते सीएम कह गए कि 18 से 44 साल आयु वाले नौजवानों को भी आक्सीजन लगनी शुरू हो गई है।

हालांकि तत्काल ही उन्होंने गलती सुधारते हुए वैक्सीन कह दिया। लेकिन, दोपहर कुछ सोशल मीडिया यूजर ने मीडिया से बातचीत के वीडियो में सीएम के ऑक्सीजन तक के बयान को लेते हुए छह सेकेंड का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया।

Next Stories
1 जब कागज दिखाने लगे BJP के नेता तो बोले कांग्रेसी प्रवक्ता- भाजपा है निकम्मी सरकार
2 DRDO की एंटी-कोविड दवा 2 डीजी सोमवार से मरीजों को मिलनी होगी शुरू, रक्षा मंत्री करेंगे लॉन्च
3 मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने पर 15 गिरफ्तार
आज का राशिफल
X