पत्नी की मौत पर छलका रिटा. जज का दर्द, खत लिख बयां की हकीकत, उधर, एमपी में डीएम, एसपी ठीक करते दिखे खराब वेंटिलेटर

अस्पताल में भर्ती होने को लेकर रिटायर्ड जज ने प्रशासन के अधिकारियों को कई बार फ़ोन किया लेकिन पांच मिनट कहकर तीन दिनों तक कोई भी उनके पास नहीं आया।

lucknow, UP, Coronaलखनऊ के गोमती नगर में रहने वाले कोरोना संक्रमित रिटायर्ड जज रमेश चंद्रा ने अपनी चिट्ठी में लिखा कि उन्होंने प्रशासन के अधिकारियों को कई बार फ़ोन किया लेकिन पांच मिनट कहकर तीन दिनों तक कोई भी उनके पास नहीं आया। (फोटो – पीटीआई)

देशभर में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में स्थिति दिन – प्रतिदिन बदतर होती जा रही है। आम इंसान तो छोड़िए, रिटायर्ड जज को भी लखनऊ में ना तो एम्बुलेंस की सुविधा मिल रही है और ना ही अस्पताल में बेड मिल रहा है। लखनऊ के ताजा स्थिति की हकीकत एक रिटायर्ड जज की चिट्ठी ने बयां कर दी। वहीं मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था का यह आलम है कि एसपी और डीएम को खुद ही ख़राब वेंटिलेटर को ठीक करना पड़ा।

उत्तरप्रदेश के चरमराए स्वास्थ्य व्यवस्था की हकीकत बयां करते हुए रिटायर्ड जज ने एक चिट्ठी लिखी। इस चिट्ठी में लखनऊ के गोमती नगर में रहने वाले रिटायर्ड जज रमेश चंद्रा ने लिखा कि वह और उनकी पत्नी मधु चंद्रा दोनों कोरोना संक्रमित थे। अस्पताल में भर्ती होने को लेकर उन्होंने प्रशासन के अधिकारियों को कई बार फ़ोन किया लेकिन पांच मिनट कहकर तीन दिनों तक कोई भी उनके पास नहीं आया। ना तो दवाई उनके पास पहुंचाई गई और ना ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अंततः उनकी पत्नी ने दम तोड़ दिया। अपने पत्र में उन्होंने यह भी लिखा की उनकी पत्नी की डेड बॉडी घर पर ही पड़ी है और यहां उनके साथ कोई नहीं है जो उनकी मृत पत्नी की डेड बॉडी को उठा सके। उत्तरप्रदेश के लखनऊ में कोरोना काफी बेकाबू हो गया है। लखनऊ के अस्पतालों ने ना तो मरीजों को बेड मिल रहा है और ना ही एम्बुलेंस। इतना ही नहीं कई मरीजों को अपने अपने गाड़ियों में बैठकर ऑक्सीजन सिलिंडर का उपयोग करना पड़ रहा है। यहां तक कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं।

 

वहीं मध्यप्रदेश के राजगढ़ में एसपी और कलेक्टर ने मिलकर अस्पताल में धूल खा रहे एक वेंटिलेटर को ठीक किया। बुधवार सुबह को राजगढ़ के कलेक्टर नीरज कुमार सिंह और एसपी प्रदीप शर्मा जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड का निरीक्षण करने पहुंचे थे। इस दौरान अस्पताल के अधिकारियों ने उन्हें वहां बंद पड़े वेंटिलेटर के बारे में बताया। जिसके बाद कलेक्टर ने अधिकारियों को वेंटिलेटर का यूजर गाइड लाने को कहा और एसपी के साथ मिलकर इसे ठीक करने लग गए। बाद में कलेक्टर और एसपी ने मिलकर एक बंद पड़े वेंटिलेटर को चालू कर दिया।

बता दें कि पिछले 24 घंटे में स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार देशभर से कोरोना के 200,739 नए मामले सामने आए। इस महामारी की वजह से पिछले 24 घंटे में  1038 लोगों की जान चली गई। सरकारी आंकड़ों के अनुसार अभी तक देश में करीब 11 करोड़ 44 लाख 93 हजार 238 कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। वहीं लखनऊ में कोरोना के 5433 नए मामले सामने आए हैं। 13 लोगों की मौत हुई है। वर्तमान में 31 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं।

Next Stories
1 ममता की मुस्लिमों से अपील पर बोले रोहित सरदाना- तृणमूल करे तो रासलीला, बीजेपी करे तो कैरेक्टर ढीला
2 वैक्सीन शॉर्टेज पर सुधांशु ने कांग्रेस को बताया नेगेटिव, एंकर का तंज- कहीं असलियत में भेड़िया आ गया तो…
3 अहमदाबादः अंतिम संस्कार को कम पड़े शमशान तो आगे आए पारसी, कैथोलिक समुदाय, उधर, लखनऊ में भी हालात बिगड़े
ये पढ़ा क्या?
X