28 साल पुराने केस में भाजपा विधायक को जेल, फेक मार्कशीट के आधार पर एडमिशन लेने का है आरोप

भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी के साथ ही दो अन्य व्यक्तियों फूलचंद यादव व कृपानिधान तिवारी पर भी फर्जी मार्कशीट के जरिए कॉलेज में एडमिशन लेने का आरोप लगा था।

28 साल पुराने मामले में भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी को पांच वर्ष की सजा सुनाई गई है। (फोटो: ट्विटर/ khabbutiwari)

उत्तरप्रदेश के अयोध्या के गोसाईगंज से भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ़ खब्बू तिवारी को 28 साल पुराने मामले में पांच साल की सजा सुनाई गई है। विधायकों के लिए बने स्पेशल कोर्ट ने सजा सुनाने के तुरंत बाद ही अदालत में मौजूद भाजपा विधायक को जेल भेजने का आदेश दे दिया। भाजपा विधायक खब्बू तिवारी पर फर्जी मार्कशीट के जरिए कॉलेज में एडमिशन लेने का आरोप है।

दरअसल यह मामला साल 1992 का है। जब इंद्र प्रताप तिवारी ने कॉलेज में एडमिशन के लिए फर्जी मार्कशीट का सहारा लिया था। इंद्र प्रताप तिवारी ने साल 1990 में बीएससी द्वितीय वर्ष में उत्तीर्ण नहीं होने के बावजूद साकेत स्नातकोत्तर महाविद्यालय में फर्जी मार्कशीट के आधार पर एडमिशन लिया था। जिसके बाद कॉलेज के तत्कालीन प्राचार्य यदुवंश राम त्रिपाठी की शिकायत पर थाना रामजन्मभूमि में मामला दर्ज किया गया था।

भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी के साथ ही दो अन्य व्यक्तियों फूलचंद यादव व कृपानिधान तिवारी पर भी फर्जी मार्कशीट के जरिए कॉलेज में एडमिशन लेने का आरोप लगा था। शिकायत के अनुसार फूलचंद यादव ने बीएससी प्रथम वर्ष की परीक्षा 1986 में अनुत्तीर्ण रहने के बावजूद अंकपत्रों में हेरफेर कर द्वितीय वर्ष में एडमिशन लिया था। वहीं कृपानिधान तिवारी ने 1989 में एलएलबी प्रथम वर्ष में अनुत्तीर्ण होने के बावजूद एलएलबी द्वितीय वर्ष में प्रवेश प्राप्त किया था। 

इसी मामले में सोमवार को एमपी- एमएलए के लिए बने विशेष कोर्ट में सुनवाई की गई। सुनवाई के बाद विशेष कोर्ट की जज पूजा सिंह ने तीनों को फर्जी मार्कशीट के जरिए एडमिशन पाने के मामले में दोषी ठहराया। इसके बाद विधायक सहित तीनों आरोपियों को पांच साल की सजा सुनाई गई और 8 हजार रुपए का जुर्माना भरने का आदेश दिया गया।

भाजपा विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ़ खब्बू तिवारी अयोध्या इलाके के दबंग नेताओं में गिने जाते हैं। उनपर आधा दर्जन से अधिक धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। इंद्र प्रताप तिवारी सपा और बसपा के टिकट पर भी विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट