ताज़ा खबर
 

उत्तराखंडः उर्दू की जगह अब संस्कृत में लिखे जाएंगे रेलवे स्टेशनों के नाम, सरकार बोली- नियम के तहत हो रहा बदलाव

रेलवे नियमावली में कहा गया है कि प्लेटफॉर्म के साइनबोर्ड पर रेलवे स्टेशनों का नाम हिंदी और अंग्रेजी के बाद संबंधित राज्य की दूसरी आधिकारिक भाषा में लिखा होना चाहिए।

Author देहरादून | Published on: January 19, 2020 4:45 PM
देहरादून रेलवे स्टेशन प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

पहाड़ी राज्य उत्तराखंड स्थित रेलवे स्टेशनों पर लगे बोर्डों पर उर्दू भाषा में लिखे नामों को अब बदल कर संस्कृत में किया जाएगा। संस्कृत राज्य की दूसरी आधिकारिक भाषा है। 2010 में राज्य की दूसरी आधिकारिक भाषा संस्कृत घोषित की गई थी। उस समय उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक थे। वह अब केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री हैं।

जनसंपर्क अधिकारी ने दिया नियम का हवाला: उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार के मुताबिक रेलवे नियमावली में कहा गया है कि प्लेटफॉर्म के साइनबोर्ड पर रेलवे स्टेशनों का नाम हिंदी और अंग्रेजी के बाद संबंधित राज्य की दूसरी आधिकारिक भाषा में लिखा होना चाहिए। संस्कृत यहां की दूसरी भाषा है। इसलिए इसी नियमावली के तहत यह परिवर्तन किया जा रहा है।

Hindi News Live Hindi Samachar 19 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

उत्तराखंड की दूसरी आधिकारिक भाषा है संस्कृत: उन्होंने कहा,”अब पूरे उत्तराखंड में रेलवे स्टेशनों के साइन बोर्ड में नाम हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू की बजाए हिंदी, अंग्रेजी और संस्कृत में लिखे जाएंगे।” अधिकारी ने कहा, “चूंकि उत्तराखंड की दूसरी आधिकारिक भाषा संस्कृत है, इसलिए रेलवे स्टेशनों में उर्दू में लिखे नामों को बदल कर संस्कृत में किया जाएगा।”

राज्य बनने के पहले से उर्दू में लिखे हैं नाम: उनके मुताबिक ये नाम अब भी उर्दू में इसलिए लिखे हैं क्योंकि इसमें से अधिकतर नाम तब के हैं जब उत्तराखंड उत्तर प्रदेश का ही हिस्सा था। उत्तर प्रदेश की दूसरी आधिकारिक भाषा उर्दू है। उत्तराखंड का गठन 9 नवम्बर 2000 को किया गया था। उस समय स्टेशनों पर हिंदी, अंग्रेजी और उर्दू में नाम लिखे थे। वह अभी तक उसी तरह लिखे हुए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी पुलिस ने खारिज किया CAA का विरोध कर रहीं महिलाओं से कंबल छीनने का आरोप, कहा- कानूनी रूप से जब्त किए
2 कर्मचारी के रिटायरमेंट पर आनंद महिंद्रा ने किया दिल जीतने वाला इमोशनल ट्वीट, इंटरनेट पर हो रही वाहवाही
3 UP के डिप्टी सीएम केशव मौर्य बोले- मानसिक रूप से बीमार हैं CAA का विरोध करने वाले, अच्छे डॉक्टर से कराएं इलाज