ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड सरकार को गिराने केे आरोप से रामदेव का इंकार,कहा- बागी विधायकों से कभी नहीं मिले

योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार को गिराने की उन्होंने कभी साजिश नहीं रची। और न ही वे आज तक किसी सरकार को गिराने की किसी साजिश में शामिल हुए

Author नई दिल्ली | Updated: March 26, 2016 7:49 AM
योग गुरू रामदेव

योगगुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि उत्तराखंड की हरीश रावत सरकार को गिराने की उन्होंने कभी साजिश नहीं रची। और न ही वे आज तक किसी सरकार को गिराने की किसी साजिश में शामिल हुए। बागी कांग्रेस के विधायकों से उनका कोई लेना-देना नहीं है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी को स्वामी रामदेव ने नसीहत देते हुए कहा कि वे अपने कांग्रेसी परिवार को संभालने का खुद ध्यान रखें।

रामदेव शुक्रवार को कर्नाटक के बंगलुरु से लौटने के बाद पतंजलि योगपीठ में पत्रकारों से बात कर रहे थे। स्वामी रामदेव ने कहा कि आज तक वे उत्तराखंड के किसी भी कांग्रेसी विधायक से नहीं मिले हैं। उन्हें केवल बदनाम करने के लिए कुछ कांग्रेसी नेता गलत बयानबाजी कर रहे हैं। स्वामी रामदेव ने कहा कि वे आज तक कोई भी काम पर्दे के पीछे नहीं करते हैं। वे केवल योग और आयुर्वेद के बारे में काम कर रहे हैं और देश की सेवा कर रहे हैं।

रामदेव ने कहा कि विजय बहुगुणा ने मुख्यमंत्री रहते हुए पतंजलि योगपीठ के खिलाफ 100 से ज्यादा मुकदमे हरिद्वार जिले की विभिन्न अदालतों में दर्ज करवाए थे और उन्हें उत्तराखंड के राजस्व से लेकर खाद्य विभाग तक ने नोटिस भेजे थे। उन्होंने कहा कि संयोग देखिए कि हमारे संस्थान पतंजलि योगपीठ पर मुकदमों की झड़ी लगाने वाले विजय बहुगुणा बागी कांग्रेसियों के साथ आज भाजपा खेमे में हैं।
रामदेव ने कहा कि वे पूरी तरह से गैर राजनीतिक व्यक्ति हैं। उनका काम राष्टÑ निर्माण करना है न कि राष्टÑ को तोड़ना। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का पतंजलि योगपीठ ने राज्य का यश बढ़ाया है लेकिन इसके बदले में उन्हें उत्तराखंड की सरकारों के रवैए से निराशा मिली है। पहले वे उत्तराखंड के क्षेत्रों में कई प्लांट लगाना चाहते थे लेकिन अब यहां खराब और कटु वातावरण के कारण महाराष्टÑ, कर्नाटक और मध्य प्रदेश में पतंजलि योगपीठ की शाखाओं का विस्तार करने जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories