कांवड़ यात्रा में अगर एक भी शख्स की कोरोना से मौत हुई तो भगवान भी नहीं करेंगे माफ- बोले सीएम धामी

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोगों की जिंदगियों को बचाना हमारी पहली प्राथमिकता है। अगर कांवड़ यात्रा के कारण कोरोना से एक भी लोग की मौत होती है तो भगवान भी माफ़ नहीं करेंगे।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कांवड़ यात्रा लोगों की आस्था का विषय जरूर है लेकिन कई लोगों की जिंदगी दांव पर है। (एक्सप्रेस फोटो: प्रवीण खन्ना)

उत्तराखंड सरकार इस साल होने वाले कांवड़ यात्रा को अनुमति देने पर विचार कर रही है। इसी बीच उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि अगर कांवड़ यात्रा के कारण कोरोना से एक भी लोग की मौत होती है भगवान भी माफ़ नहीं करेंगे।

रविवार को दिल्ली में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हम कांवड़ यात्रा को आयोजित करने वाले राज्य हैं। 15 दिनों तक चलने वाले कांवड़ यात्रा में करीब 3 करोड़ से ज्यादा भक्त उत्तराखंड आते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह लोगों की आस्था का विषय जरूर है लेकिन कई लोगों की जिंदगी दांव पर है। लोगों की जिंदगियों को बचाना हमारी पहली प्राथमिकता है। अगर कांवड़ यात्रा के कारण कोरोना से एक भी लोग की मौत होती है तो भगवान भी माफ़ नहीं करेंगे।

इसके अलावा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि 30 जून की कैबिनेट बैठक में फैसला किया गया था कि इस साल कांवड़ यात्रा नहीं होगी। फिर भी हम सोच रहे हैं कि अगर कोई गुंजाइश है तो उस संदर्भ में हम उच्च स्तरीय मीटिंग करेंगे। लोगों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है।

साथ ही उन्होंने राज्य में कोरोना प्रोटोकॉल के पालन को लेकर कहा कि जो लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं उनके चालान किए जा रहे हैं। उत्तराखंड में प्रवेश के लिए RT-PCR रिपोर्ट जरूरी है अन्यथा राज्य में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। अगले साढ़े तीन महीनों में हम राज्य में पूर्ण वैक्सीनेशन करना चाहते हैं।

 

कांवड़ यात्रा में पडोसी राज्य उत्तरप्रदेश और हरियाणा से कई लोग उत्तराखंड आते हैं। भले ही उत्तराखंड सरकार कांवड़ यात्रा को अनुमति देने पर विचार कर रही हो लेकिन उत्तरप्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कांवड़ यात्रा को मंजूरी दे दी है। कांवड़ यात्रा की तैयारियों को लेकर सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। साथ ही यात्रियों की सुरक्षा भी सुनिश्चित करने को कहा गया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट