ताज़ा खबर
 

सोनभद्र हिंसा: 99 बिघा की थी लड़ाई, 100 लोगों के साथ पहुंचा प्रधान और हमला कर गिरा दी लाशें

सोनभद्र के जिला मैजिस्ट्रेट अंकित कुमार अग्रवाल ने राजस्व रिकॉर्ड का हवाला देते कहा कि जमीन पहले 'आदर्श कृषि सहकारी समिति' के नाम पर रजिस्टर्ड थी, जिसने स्थानीय लोगों को किराए पर खेती की अनुमति दे रखी थी।

Author Published on: July 19, 2019 9:24 AM
सोनभद्र हिंसा में मरने वालों की संख्या 10 हो गई है। (फोटो सोर्स: PTI)

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र ज़िले के ऊम्भा गांव में गोंड और गुज्जर समुदायों के घर 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। दोनों के बीच 90 बीघा विवादित ज़मीन है, जिसे लेकर बुधवार को गोलीबारी हुई और 9 लोगों की मौत हो गई। एक बाद गोंड समुदाय के ही घायल एक और शख्स की मौत अस्पताल में हो गई। हालात ऐसे हैं कि ओबीसी समुदाय के गुज्जर और शेड्यूल कास्ट (SC) समुदाय के गोंड के बीच अविश्वास की खाई काफी बड़ी हो चुकी है।

पुलिस ने मामले में 26 लोगों को गिरफ्तार किया है। जिनमें गांव के प्रधान यज्ञदत्त भूरिया (गुज्जर समुदाय) भी शामिल है। बताया जा रहा है कि प्रधान भूरिया के इशारे पर ही लोगों ने विवादित जमीन पर खेती करने वाले गोंड जातियों पर धारदार हथियार और बंदूकों से हमला बोल दिया। प्रधान के साथ उसके दो बड़े भाई देव दत्त और निधि दत्त, दो भतीजे गणेश और विमलेश को भी गिरफ्तार किया गया है। द इंडियन एक्सप्रेस को पीड़ित परिवार के एक चश्मदीद ने बताया कि प्रधान की तरफ से जमीन के लिए हमले की यह तीसरी कोशिश थी। प्रधान ने यह जमीन दो साल पहले एक सोसाइटी से खरीदी थी।

हमले में घायल चाचा का इलाज करा रहे 30 साल के विजय गोंड बताते हैं, “बुधवार सुबह को जब हम खेतों में काम कर रहे थे, एक पड़ोसी ने बताया कि 2-25 ट्रैक्टर पर सवार होकर करीब 100 लोग गांव की ओर बढ़ रहे हैं और उनके पास हथियार भी हैं।” 47 साल के बसंत लाल जिनका भतीजा इस महले में घायल है, उन्होंने बताया,”हमने उनके आने की जानकारी लोगों को दी और सभी लोग खेतों की तरफ भागे। जब प्रधान और उसके साथी खेत पहुंचे तब हमारी औरतें वहां धरने पर बैठ गईं। हमने उनसे कहा कि वे अदालत के फैसले का इंतजार करें या फिर मिल-बैठकर मसले पर बातचीत करें।”

बसंत लाल आगे बताते हैं, “लेकिन, उन्होंने अपना ट्रैक्टर खेतों की ओर बढ़ा दिया और जुताई शुरू कर दी। हमने उन्हें पूरी ताकत से रोकने की कोशिश की। हममें से किसी ने पुलिस को फोन भी किया। लेकिन, हम इससे पहले कुछ समझ पाते प्रधान के लोगों ने हम पर फायरिंग शुरू कर दी। हमारे में से कुछ साथियों ने लाठियों से हमला बोला, तब उन्होंने लाठी चला रहे लोगों पर फायरिंग शुरू कर दी।” बसंत लाल के मुताबिक जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती प्रधान और उसके साथी फरार हो गए। अधिकारी बताते हैं कि हिंसक झड़प में 23 लोग घायल हुए हैं, जिनका उपचार सोनभद्र और वाराणसी के अस्पताल में चल रहा है। इनमें से 7 लोग प्रधान के ग्रुप से ताल्लुक रखते हैं। घायल लोगों में से एक शख्स जिसे गोली लगी थी, उसने वाराणसी के अस्पताल में दम तोड़ दिया।

सोनभद्र के एसपी सलमानताज जफरताज पाटिल ने बताया,”इस मामले में प्रधान और उसके परिवार के 6 सदस्य मुख्य आरोपी हैं।” इस दौरान पुलिस ने आरोपियों से 2 लाइसेंस वाली बंदूकें भी सीज़ कर ली है।

इस दौरान गांव के लोगों का कहना है कि यह जमीन का विवाद दो साल से चल रहा था। केस लड़ रहे रामराज बताते हैं, “हमें उस वक़्त काफी आश्चर्य हुआ जब सुना कि प्रधान ने हमारी उस जमीन को खरीद लिया है, जिसमें हम दशकों से खेती करते आ रहे हैं। जमीन एक सोसाइटी से संबंध रखती थी और हमें नहीं मालूम कि यह कैसे बेची जा सकती है। एक महीने बाद हमने अदालत का दरवाजा खटखटाया और इस डील को चुनौती दी।” रामराज का कहना है, “कुछ महीने बाद हम अदालत पहुंचे, प्रधान अपने लोगों के साथ वहां पहुंचा हुआ था। जब हमारे बीच बातचीत हो रही थी, तब किसी ने पुलिस को बुलाया। उन्होंने प्रधान को निर्देश दिया कि वह हमारे ऊपर केस वापस लेने का दबाव नहीं डाल सकता। अक्टूबर के आखिर में प्रधान ने जबरन जमीन लेने की एक और कोशिश की थी। उस वक्त भी पुलिस ने उसे यही निर्देश दिया। हालांकि, हमें पता था कि वह फिर से कोशिश करेगा।”

सोनभद्र के जिला मैजिस्ट्रेट अंकित कुमार अग्रवाल ने राजस्व रिकॉर्ड का हवाला देते कहा कि जमीन पहले ‘आदर्श कृषि सहकारी समिति’ के नाम पर रजिस्टर्ड थी, जिसने स्थानीय लोगों को किराए पर खेती की अनुमति दे रखी थी। अग्रवाल के मुताबिक ” 1990 में जमीन का मालिकाना हक दो लोगों को ट्रांसफर कर दिया गया। जिसे उन्होंने प्रधान समेत तीन लोगों को बेच दिया। जमीन के दो पूर्व पालिक एक IAS अधिकारी के मां और पत्नी थीं। हमें इस मामले में उनसे सवाल करना आवश्यक नहीं लगा।”
वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि वे दो सालों से जमीन का किराया भुगतान कर रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bihar, Mumbai, UP, Punjab, Haryana Rains, Weather Forecast Today Updates: बिहार में 2-3 घंटे बाद बदलेगा मौसम, तेज बारिश का अनुमान
2 National Hindi News, 19 July 2019 Updates: विवेक कुमार बने पीएम मोदी के निजी सचिव, पहले पीएमओ में थे डायरेक्ट
3 शाह होंगे एअर इंडिया के विनिवेश पर पुनर्गठित मंत्री समूह के प्रमुख