ताज़ा खबर
 

कांग्रेसियों से बोले प्रशांत किशोर- UP में अगला CM कांग्रेस का होगा, ऐसा प्रचार होगा जैसा किसी ने नहीं देखा

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि राज्‍य में अगला सीएम कांग्रेस का बनेगा।

Author लखनऊ | Updated: June 26, 2016 8:10 AM
उत्‍तर प्रदेश में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर।

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि राज्‍य में अगला सीएम कांग्रेस का बनेगा। उन्‍होंने कहा कि अगले 15 दिन में कांग्रेस इस तरह का प्रचार करेगी जो पिछले 20-25 साल में किसी ने नहीं देखा। राय बरेली, अमेठी, सुल्‍तानपुर और लखनऊ डिवीजन के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस टिकट के लिए 9000 एप्‍लीकेशन आए हैं। 812 ब्‍लॉक में से पार्टी कार्यकर्ताओं ने 400 जगहों पर दफ्तर खोल लिए हैं।

प्रशांत किशोर की मुश्किलें बढ़ीं, यूपी-पंजाब में जीत दिलाने की मुहिम को लग सकता है एक और झटका

किशोर ने कहा कि 2012-2014 में दो साल में यूपी में भाजपा का वोट शेयर जबरदस्‍त रूप से बढ़ा है। ऐसा प्रचार के कारण हुआ है, उन्‍होंने कोई एक्‍स्‍ट्राऑर्डिनेरी काम नहीं किया है। उनके प्रचार के कारण लोगों को लगा कि एक व्‍यक्ति उनकी सारी समस्‍याएं दूर कर देगा और इसके चलते बाकी सारी बातें नजरअंदाज हो गई। उन्‍होंने कहा, ”इसलिए मैं आपसे कहता हूं कि छह महीने काफी समय होता है। राहुल गांधी ने दिल्‍ली में पत्रकारों से कहा कि यूपी में कोई गठबंधन नहीं होगा और अगला सीएम कांग्रेस से बनेगा। आप मुझे पागल कह सकते हैं लेकिन मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि अगली सरकार कांग्रेस की होगी। अगले 15 दिन में आप देखेंगे कि कांग्रेस जमीन पर प्रचार शुरू करने जा रही है। यह ऐसा होगा जो लोगों ने पिछले 20-25 साल में नहीं देखा होगा।”

UP: आजाद ने आते ही खारिज किया प्रशांत किशोर का आइडिया, बोले- राहुल PM पद के लिए चेहरे हैं, CM के नहीं

हालांकि उन्‍होंने कहा कि इस स्‍पेशल प्रचार की तैयारियां उन्‍होंने नहीं बल्कि कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने की है। किशोर ने कहा कि पार्टी को पता है कि पिछले 27 साल से वह सत्‍ता में नहीं है इसके कारण स्रोत की कमी हो सकती है। लेकिन जिला यूनिटों को स्रोत का जिम्‍मा दिया जाएगा। किशोर ने नेताओं को याद दिलाया कि पार्टी टिकट चाहने वाले हरेक‍ नेता को अपने विधानसभा क्षेत्र में हर बूथ से कम से कम एक कार्यकर्ता का नाम देना होगा। ऐसा नहीं करने पर टिकट नहीं मिलेगी।

‘चेहरा’ के नाम पर प्रशांत किशोर ने यूपी में ली पहली बलि, मिस्‍त्री की जगह गुलाम नबी आजाद को बनवाया प्रभारी!

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories