Uttar Pradesh: Man hurls shoe at BSP MLA Gaya Dinkar for criticising note ban-नोटबंदी का विरोध करने पर बसपा विधायक पर भाषण के दौरान फेंका गया जूता, पार्टी कार्यकर्ताओं की पिटाई से पहुंचा अस्पताल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नोटबंदी का विरोध करने पर बसपा विधायक पर भाषण के दौरान फेंका जूता, पार्टी कार्यकर्ताओं की पिटाई से अस्पताल पहुंचा शख्स

एमएलए मंगलवार शाम को बांदा जिले गवर्नमेंट इंटरमीडिएट कॉलेज ग्राउंड में पार्टी के भाईचारा सम्मेलन में बोल रहे थे। हालांकि यह जूता उन्हें नहीं लगा।

गया चरण दिनकर (बीच में)

नोटबंदी का विरोध करने पर बहुजन समाज पार्टी के एक विधायक गया चरण दिनकर पर एक आदमी ने जूता फेंक दिया। वह मंगलवार शाम को बांदा जिले गवर्नमेंट इंटरमीडिएट कॉलेज ग्राउंड में पार्टी के भाईचारा सम्मेलन में बोल रहे थे। हालांकि यह जूता उन्हें नहीं लगा। जूता फेंकने वाले की पहचान महेश्नवरी प्रजापति (52) के तौर पर हुई, जिसे बीएसपी के कार्यकर्ताओं द्वारा पीटे जाने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं उसके परिवार का कहना है कि प्रजापति एक बीएसपी कार्यकर्ता है, जबकि पार्टी के स्थानीय अध्यक्ष प्रदीप वर्मा ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी का सपोर्टर है। दिनकर बांदा के नरैनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।

जैसे ही उन्होंने अपना भाषण खत्म किया, प्रजापति ने उन पर जूता फेंक दिया। अपना भाषण खत्म करते हुए दिनकर ने कहा, आम आदमी नोटबंदी के बाद संघर्ष कर रहा है। किसान तहसील कार्यालयों के बाहर लाइनें लगाकर खड़े हैं। मजदूर अपने रोजगार खो रहे हैं। इसके बाद बांदा शहर के मर्दानाका के रहने वाले प्रजापति ने उन पर जूता फेंक दिया। उन्होंने बीएसपी कार्यकर्ताओं को नोटबंदी पर झूठे बयान न देने की भी धमकी दी।

बांदा के एसएसपी श्रीपति मिश्रा ने बताया कि इससे पहले कि पुलिस प्रजापति तक पहुंच पाती, बीएसपी कार्यकर्ताओं ने उसे पकड़ लिया और उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी। उसे काफी चोटें आईं और उसे अस्पताल ले जाना पड़ा। मिश्रा ने बताया कि उसके परिवार वालों का दावा है कि वह एक बीएसपी कार्यकर्ता है।वह इस बात से परेशान था कि उसे केवल दो मिनट के लिए स्टेज पर बोलने नहीं दिया जा रहा था। मिश्रा ने कहा कि वह प्रजापति की तरफ से एफआईआर दर्ज होने का इंतजार कर रहे हैं।

वहीं बीएसपी के जिला अध्यक्ष प्रदीप वर्मा ने पुलिस को बताया कि वह समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है। उनका दावा है कि कुछ आरएसएस और बीजेपी के लोग भी कार्यक्रम में देखे गए। जब दिनकर से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि कुछ दूरी से मुझपर जूता फेंका गया था, फेंकने वाला कौन था मुझे नहीं पता। जूता मुझे नहीं लगा।

नोटबंदी पर एक बार फिर बोले राहुल गांधी; कहा- “भ्रष्टाचार के खिलाफ यज्ञ में चढ़ रही है आम आदमी की बलि”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App