यूपी चुनाव से पहले हरकत में BJP: 2017 में गंवाई 78 सीटों पर ध्यान, कम से कम 55 जीतने का रखा लक्ष्य

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजरें उन 78 सीटों पर हैं जहां 2017 के चुनाव में पार्टी और उनके सहयोगी दलों को हार का सामना करना पड़ा था। इन विधानसभा क्षेत्रों में योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण के जरिए सीएम योगी ये बताने की कोशिश कर रहे हैं कि इन क्षेत्रों में भाजपा को 2017 में जीत मिली होती तो कितना ‘फायदा’ होता।

Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath attending BJP organized lodhi sammelan in Lucknow on Tuesday. Express Photo 26102021

उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी तैयारियों में जुटी हुई है। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर एक बार फिर सत्ता में लौटने की कोशिश में जुटे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नजरें उन 78 सीटों पर हैं जहां 2017 के चुनाव में पार्टी और उनके सहयोगी दलों को हार का सामना करना पड़ा था। इन विधानसभा क्षेत्रों में योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण के जरिए सीएम योगी ये बताने की कोशिश कर रहे हैं कि इन क्षेत्रों में भाजपा को 2017 में जीत मिली होती तो कितना ‘फायदा’ होता।

भाजपा के सूत्रों के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने अब तक 19 ऐसे विधानसभा क्षेत्रों में नए इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स शुरू किए हैं और उनका उद्घाटन किया है, इन इलाकों में जनसभाओं को संबोधित किया है और मुख्यमंत्री आने वाले दिनों में बाकी विधानसभा सीटों का भी दौरा करेंगे। एक भाजपा नेता ने कहा, ”2022 में उन सीटों में से कम से कम 55 पर जीत हासिल करने का पार्टी का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री के साथ-साथ दोनों उप-मुख्यमंत्री भी इन क्षेत्रों में जल्द ऐसे कार्यक्रम शुरू करेंगे।” भाजपा नेता ने आगे कहा कि अगर भाजपा अन्य निर्वाचन क्षेत्रों में “स्थानीय विधायकों के खिलाफ” सत्ता विरोधी लहर के कारण हारती है, तो ऐसे इलाकों में जीत से इसकी भरपाई हो सकती है। 

बदायूं जिले के सहसवान विधानसभा क्षेत्र में जहां समाजवादी पार्टी ने 2017 चुनावों में जीत हासिल की थी और भाजपा चौथे स्थान पर रही थी, सीएम योगी ने 9 नवंबर को विभिन्न परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इस दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा, “यदि सहसवान विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के विधायक होते, तो सहसवान तेजी से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ता। लेकिन जो भी विकास हुआ है वह, संगठन (भाजपा) और सांसद  (बदायूं भाजपा सांसद संघमित्रा मौर्य) के प्रयासों से संभव हो सका है।” सीएम योगी ने जनसभा के दौरान लोगों से भाजपा को सहसवान में जीत दिलाने की अपील की। 2017 चुनाव में भाजपा ने यहां 6 में से 5 सीटों पर जीत हासिल की थी।

उसी दिन शाहजहांपुर के जलालाबाद विधानसभा क्षेत्र में ऐसे ही एक कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने 269 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शुभारंभ किया। इस दौरान सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस के विधायकों की ‘विकास में कोई दिलचस्पी नहीं है।’ यहां पिछले चुनाव में भाजपा को समाजवादी पार्टी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ 13 नवंबर को आजमगढ़ में एक राज्य विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी थी। एक स्थानीय भाजपा नेता ने बताया कि जिस इलाके में शिलान्यास समारोह आयोजित किया गया था, वह क्षेत्र यादव बहुल आजमगढ़ सदर में आता है। इस सीट से सपा के दुर्गा प्रसाद यादव आठवीं बार विधायक हैं। भाजपा को यहां भी जीत नहीं हासिल हुई।

कैबिनेट मंत्री और यूपी सरकार के प्रवक्ता महेंद्र सिंह ने कहा, “उन विधानसभा क्षेत्रों पर फोकस किया जा है जहां हम (2017 में) नहीं जीत पाए थे। वहां बहुत सारे विकास कार्य किए गए हैं और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन परियोजनाओं का अनावरण कर रहे हैं। ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के साथ बढ़ते हुए सभी इलाकों में विकास किया गया है।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
रोमिंग पर फोन कॉल 23 फीसदी और एसएमएस 75 फीसदी तक सस्‍ता होगाTRAI, Mobile Call, Mobile SMS, Mobile Phone Call, Call Rate, SMS Charge, Roaming Call Charge, SMS Roaming, Business News
अपडेट