ताज़ा खबर
 

यूपी कांग्रेस चीफ के खिलाफ उन्हीं की पार्टी के नेता ने खोला मोर्चा, बताया सवर्ण-विरोधी

प्रदेश सचिव सुनील राय ने सोनिया गांधी को लिखे अपने पत्र में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व उनके कार्यकर्ताओं से अपनी जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की भी मांग की है।

उत्तरप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुनील राय ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को सवर्ण विरोधी बताते हुए उनको पद से हटाने की मांग की है। (एक्सप्रेस फोटो: विशाल श्रीवास्तव )

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले उत्तरप्रदेश की कांग्रेस कमेटी में बगावत हो गई है। उत्तरप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश सचिव ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को सवर्ण विरोधी बताते हुए मोर्चा खोल दिया है और उनको हटाने की मांग की है। प्रदेश सचिव सुनील राय ने इसके लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी पत्र लिखा है।  

कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुनील राय ने सोनिया गांधी को लिखे पत्र में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को सवर्ण विरोधी बताते हुए कहा है कि फ़िलहाल उत्तरप्रदेश में पार्टी की बागडोर ऐसे हाथों में है जो सवर्ण विरोधी है। साथ ही उन्होंने अजय कुमार लल्लू के ऊपर आरोप लगाते हुए लिखा है कि उनमें सबको साथ लेकर चलने की क्षमता नहीं है। वे सिर्फ दिखावे और फोटो खिंचवाने के लिए ही प्रदर्शन करते हैं।

अपने पत्र में सुनील राय ने यह भी कहा है कि पार्टी में पुराने लोगों को दरकिनार कर बाहर से आए लोगों को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। प्रदेश सचिव सुनील राय ने सोनिया गांधी को लिखे अपने पत्र में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू व उनके कार्यकर्ताओं से अपनी जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है। साथ ही उन्होंने सोनिया गांधी से अजय कुमार लल्लू के खिलाफ अनुशासनहीनता की कार्रवाई करने और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाने की मांग की है। 

इसके अलावा सुनील राय ने प्रेस कांफ्रेंस में भी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ जमकर हमला बोला। सुनील राय ने कहा कि अजय कुमार लल्लू सबको साथ लेकर चलने में सक्षम नहीं है। वे लगातार पार्टी के जनाधार को गिरा रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि पहले यह पार्टी सर्व समाज की थी लेकिन मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष के व्यवहार से नाराज से कई कार्यकर्ता कांग्रेस से कट गए हैं।

हालांकि प्रदेश सचिव सुनील राय और प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के बीच उपजा यह विवाद थोड़े दिनों पुराना है। सुनील राय के अनुसार नव वर्ष के दौरान उनके द्वारा प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर एक पोस्टर लगाया गया था। पोस्टर में सभी नेताओं की फोटो थी लेकिन प्रिंटिंग प्रेस की गलती के कारण अजय कुमार लल्लू की फोटो मौजूद नहीं थी। जिसकी वजह से अजय कुमार लल्लू ने उस पोस्टर को उतरवा दिया था।

सुनील राय के अनुसार जब उन्होंने पोस्टर उतारने का विरोध किया तो अजय कुमार लल्लू और उनके कार्यकर्ता ने उनके साथ बदसलूकी की। जिसके बाद उन्होंने अजय कुमार लल्लू के खिलाफ  हुसैनगंज थाने में 323, 427 और 352 की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और उनके कार्यकर्ताओं के दबाव में पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की।

Next Stories
1 जब अपनी राशि पर बोले लालू प्रसाद यादव, कहा- दिल्ली बहुत ख़तरनाक जगह है
2 बंगाल में BJP की हार के बाद विजयवर्गीय के खिलाफ विरोध, लगे ‘गो बैक’ के पोस्टर
3 नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी ताकत और सबसे बड़ी कमजोरी क्‍या? जब करण थापर ने प्रशांत क‍िशोर से पूछा तो द‍िया था ये जवाब
ये पढ़ा क्या?
X