ताज़ा खबर
 

India China Border Tension: भारत-चीन सीमा विवाद पर डॉनल्ड ट्रंप बोले- दोनों देशों के बीच मध्यस्थता को तैयार

India China Border Tension: चीन ने बुधवार को कहा कि भारत के साथ सीमा पर हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य हैं’’ तथा दोनों देशों के पास बातचीत और विचार-विमर्श करके मुद्दों को हल करने के लिए उचित तंत्र और संचार माध्यम हैं।

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर ट्रंप ने मध्यस्थता की पेशकश की है। (फाइल फोटो)

भारत चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर चल रही तनातनी  के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति ने दोनों देश के बीच मध्यस्थता के लिए पेशकश की है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस मुद्दे पर ट्वीट कर मध्यस्थता करने की पेशकश की। ट्रंप ने कहा कि सीमा विवाद हल की दिशा में मध्यस्थता को लेकर दोनों देशों को सूचित कर दिया गया है। ट्रंप ने कहा कि अगल दोनों देश चाहें तो वह इस मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार हैं। अब देखना है कि चीन और भारत अमेरिकी पेशकश पर किस तरह अपनी प्रतिक्रिया देते हैं। मालूम हो कि अमेरिका और चीन में पहले ही ट्रेड वॉर को लेकर तलवारें खिंची हुई हैं।

वहीं, चीन ने बुधवार को कहा कि भारत के साथ सीमा पर हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य हैं’’ तथा दोनों देशों के पास बातचीत और विचार-विमर्श करके मुद्दों को हल करने के लिए उचित तंत्र और संचार माध्यम हैं। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन की सेनाओं के बीच चल रहे गतिरोध की पृष्ठभूमि में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ये टिप्पणियां कीं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजिआन ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सीमा से संबंधित मुद्दों पर चीन का रुख स्पष्ट और सुसंगत है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम दोनों नेताओं के बीच बनी महत्वपूर्ण सहमति और दोनों देशों के बीच हुए समझौते का सख्ती से पालन करते रहे हैं।’’ वह चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो अनौपचारिक बैठकों के बाद उनके उन निर्देशों का जिक्र कर रहे थे जिनमें उन्होंने दोनों देशों की सेनाओं को परस्पर विश्वास पैदा करने के वास्ते और कदम उठाने के लिए कहा था।

वहीं, लद्दाख से लगी सीमा पर चीन के आक्रामक रुख के बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बुधवार को स्पष्ट किया कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता है।

विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में यह टिप्पणी की। उनसे राहुल गांधी के उस बयान को लेकर सवाल पूछा गया था जिसमें कांग्रेस नेता ने कहा था कि चीन के साथ सीमा पर कथित तनातनी और भारत-नेपाल रिश्तों में आई हालिया तल्खी से जुड़े मुद्दों को लेकर पारदर्शिता की जरूरत है और सरकार को देश को इस बारे में स्पष्ट रूप से बताना चाहिए। प्रसाद ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता है ।’’ प्रसाद ने कहा कि उन्होंने एक लाइन में इस प्रश्न का जवाब दे दिया है।

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lockdown 5.0: मंदिरों-मस्जिदों समेत जिम जाने की मिल सकती है इजाजत, 11 शहरों पर केंद्रित होगा लॉकडाउन 5.0, जानें- कहां क्या छूट, क्या बैन?
2 बीजेपी के दो सांसदों पर भड़का चीन, ई-मेल लिखकर ताइवान के कार्यक्रम में वर्चुअल मौजूदगी पर जताई कड़ी आपत्ति
3 Corona Virus: गरीबी, गर्मी, लाचारी और भूख से मां ने रेलवे स्टेशन पर ही तोड़ दिया दम, दो साल की मासूम उठाने की कर रही बार-बार कोशिश, दर्दनाक वीडियो वायरल