ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप ने मोदी की बात, आतंकवाद से लड़ने-रक्षा-आर्थिक संबंध को मजबूत करने का संकल्प

मोदी ऐसे पांचवें नेता हैं, जिनसे ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में 20 जनवरी को शपथ लेने के बाद बात की है।

Author नई दिल्ली/वॉशिंगटन | Published on: January 25, 2017 9:43 PM
अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (बाएं) और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

अमेरिका के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के चार दिन बाद डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फोन पर हुई अपनी बातचीत में भारत को एक ‘सच्चा दोस्त और साझेदार’ बताया। बातचीत में दोनों नेताओं ने आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में ‘कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने’ और रक्षा एवं आर्थिक संबंध को मजबूत करने का संकल्प लिया। मंगलवार (24 जनवरी) रात टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत में दोनों नेताओं ने एक दूसरे को अपने-अपने देश आने का न्यौता भी दिया। व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत में राष्ट्रपति ट्रंप ने इस बात पर जोर दिया कि भारत को अमेरिका एक सच्चा दोस्त और दुनियाभर की चुनौतियों से निपटने में एक सहयोगी मानता है।’

बयान में कहा गया, ‘राष्ट्रपति ट्रंप इस साल के अंत में प्रधानमंत्री मोदी की मेजबानी करने की आशा करते हैं।’ दोनों नेताओं ने अर्थव्यवस्था और रक्षा जैसे व्यापक क्षेत्रों में अमेरिका और भारत के बीच साझेदारी मजबूत करने के अवसरों पर चर्चा की। बयान में कहा गया कि इसके अलावा उन्होंने दक्षिण और मध्य एशिया क्षेत्र में सुरक्षा के मुद्दे पर चर्चा की। राष्ट्रपति ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी ने संकल्प लिया कि आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अमेरिका और भारत कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहेंगे। मोदी ऐसे पांचवें नेता हैं, जिनसे ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में 20 जनवरी को शपथ लेने के बाद बात की है। मोदी ने कहा कि वे ‘हमारे द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत करने की खातिर एक साथ मिलकर काम करने के लिए सहमत हुए।’

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ कल (मंगलवार) देर शाम गर्मजोशी भरी बातचीत हुई।’ मोदी ने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप को भारत आने का न्यौता भी दिया है।’ ट्रंप ने आठ नवंबर को हुए आम चुनाव में जब ऐतिहासिक जीत के साथ दुनिया को हैरत में डाला था, तब मोदी उन्हें मुबारकबाद देने वाले कुछ शुरूआती वैश्विक नेताओं में शामिल थे। ट्रंप ने अपने धुंआधार चुनाव प्रचार के दौरान जिन देशों के साथ संबंध मजबूत करने की बात कही थी, उनमें इस्राइल के अलावा भारत का नाम भी शामिल था। गत 21 जनवरी को ट्रंप ने ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीजा मे, कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और मेक्सिको के राष्ट्रपति एनरीक पेना नीतो से बात की थी। रविवार को ट्रंप ने इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से और मंगलवार को मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी से फोन पर बात की थी।

पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भारत आने का दिया न्योता; ट्रंप ने भारत को ‘सच्चा दोस्त’ बताया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पद्म पुरस्कारों के लिए 89 हस्तियों को चुना गया, शरद पवार-मुरली मनोहर जोशी भी शामिल
2 राष्ट्रपति ने किया नोटबंदी का समर्थन, लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ कराने की वकालत भी की
3 25 जनवरी, 9 बजे तक की न्‍यूज अपडेट्स: राष्‍ट्रपति के संदेश से लेकर बीजेपी बनाम आरएसएस की लड़ाई तक